वैलनेस
स्टोर

FREEDOM : यहां हैं पीरियड्स के बारे में 5 मिथ्स, जिनसे मुक्त होना है बेहतर

Published on:10 August 2021, 09:35am IST
हम अब भी मासिक धर्म पर खुलकर बात करने से कतराते हैं। यौन शिक्षा अब भी एक नैतिक अपराध जैसी लगती है। यही वजह है कि हर महीने आने वाले पीरियड्स के बारे में भी हमें जानकारी कम और अफवाहें ज्यादा हैं।
मोनिका अग्रवाल
  • 100 Likes
Periods myths ko todane ka saamay hai
पीरियड्स आना लड़की की जिंदगी का एक अहम पड़ाव है। चित्र : शटरस्टॉक

अभी तक हमारे आसपास के बहुत सारे लोग खुलकर पीरियड्स (Menstruation) के बारे में बात नहीं करते। यही वजह है कि लड़कियों को पीरियड्स (Periods) के बारे में सही जानकारी बहुत कम, जबकि अफवाहों (Myths) पर भरोसा बहुत ज्यादा होता है। ये हालत तब है जब अपनी प्रजनन आयु में हर महीने वे इस चक्र (Period cycle) से गुजरती हैं। तो सोचिए हमारे पुरुष साथियों का इस बारे में सामान्य ज्ञान कैसा होगा? इसलिए इस स्वतंत्रता दिवस (Independence day 2021) उन सभी अफवाहों, भ्रामक अवधारणाओं और लड़कियों को आगे बढ़ने से रोकने वाली तमाम बातों से आजादी पा लेना जरूरी है।

तो आइए जानते हैं पीरियड्स से जुड़ी कुछ अफवाह और उनकी सच्चाई 

1 सभी के पीरियड्स एक ही उम्र में आते हैं

अगर आपके पीरियड 13 वर्ष में शुरू हुए, तो आपकी छोटी बहन या बेटी के भी इसी उम्र में  शुरू होंगे। ये पूरी तरह भ्रम है। दो सगी बहनों के पीरियड्स की उम्र भी अलग-अलग हो सकती है।  कुछ लड़कियों के पीरियड्स 9 साल की उम्र में ही शुरू हो जाते हैं। जबकि कुछ लड़कियों के 15 साल की उम्र में शुरू होते हैं।

zaruri nahi ki sabhi ladkiyon ko ek hi umra me periods aaye
सबका शरीर अलग-अलग होता है और इसी तरह पीरियड शुरू होने की उम्र भी अलग हो सकती है। चित्र: शटरस्टॉक।

अगर 15 साल से ऊपर हो जाने के बाद भी पीरियड्स शुरू नहीं होते, तो डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए। इसलिए हर लड़की के पीरियड्स आने का समय अलग अलग होता है। 

यह भी पढ़ें-FREEDOM: ये 6 अच्छी आदतें देंगी आपको बढ़ी हुई चर्बी से आजादी

2 पीरियड्स का चार दिन होना ही सही है : 

हर महिला का शरीर एक जैसा नहीं होता है। उनके पीरियड्स साइकिल भी एक जैसी नहीं होती। कुछ महिलाओं की साइकिल पूरे 28 दिन की होती है, तो कुछ की इससे अधिक समय की। इसलिए अगर पीरियड्स एक सप्ताह से अधिक या कम समय के लिए होते हैं तो सामान्य है।

3 अगर आप पीरियड्स के दौरान सेक्स करती हैं, तो प्रेगनेंट नहीं होंगी : 

हालांकि यह चीज बहुत अन कॉमन होती है। लेकिन फिर भी हमारी ओवुलेशन के दिन का अनुमान नहीं लगाया जा सकता। यह किसी भी दिन हो सकता है। ओवुलेशन पीरियड्स से पहले, उस दौरान या बाद में भी हो सकता है। इसलिए आप पीरियड्स के समय सेक्स करती हैं, तो भी प्रेगनेंट हो सकती हैं।

4 खट्टी चीजें खाने से आपके पीरियड्स क्रैंप और अधिक बढ़ जाते हैं : 

पीरियड्स और खट्टी चीजों में किसी तरह का कोई भी संबंध नहीं है। लेकिन फिर भी पीरियड्स के दौरान महिलाओं के लिए एक हेल्दी और संतुलित डाइट लेना आवश्यक है। इसलिए इस समय आपको रोटी, फलियां, दाल, ब्रेड, दही अपनी डाइट में शामिल करनी चाहिए। बाहर के खाने से बचना चाहिए।

पीरियड्स वाले मिथ्स से आजादी।चित्र -शटरस्टॉक
मिथ:खट्टी चीजें खाने से आपके पीरियड्स क्रैंप और अधिक बढ़ जाते हैं।चित्र -शटरस्टॉक

3 आपको पीरियड्स के दौरान सिर नहीं धोना चाहिए : 

आपने यह बात भी काफी सुनी होगी कि आपको अपने बाल नहीं धोने चाहिए। लेकिन बता दें कि यह बात एकदम झूठ है। नहाने, सिर धोने या पर्सनल ग्रूमिंग का मेंस्ट्रुएशन से कोई नाता या संबंध नहीं है। अगर आप दिन में एक की बजाए दो बार नहाती हैं, तो इससे आपके क्रैंप्स से भी आपको राहत मिलेगी।

तो ये थीं पीरियड्स से जुड़ी कुछ झूठी बातें, जिन पर आपको भरोसा नहीं करना चाहिए। इनके बारे में आपको दूसरी महिलाओं को जागरूक करना चाहिए। ताकि कोई भी इन अफवाहों पर विश्वास न कर सके।

लेडीज इस स्वतंत्रता दिवस पर पाएं पीरियड्स से जुड़ी अफवाहों से आजादी।

यह भी पढ़ें- श्रोणि में दर्द से हैं परेशान तो ये 5 एक्सरसाइज करेंगी पेल्विक फ्लोर को मजबूत बनाने में मदद

मोनिका अग्रवाल मोनिका अग्रवाल

स्वतंत्र लेखिका-पत्रकार मोनिका अग्रवाल ब्यूटी, फिटनेस और स्वास्थ्य संबंधी विषयों पर लगातार काम कर रहीं हैं। अपने खाली समय में बैडमिंटन खेलना और साहित्य पढ़ना पसंद करती हैं।