उम्र बढ़ने का अर्थ सेक्स पर चुप्पी नहीं है, इन टिप्स के साथ बढ़ती उम्र में भी लिया जा सकता है यौन आनंद

Published on: 17 November 2021, 17:24 pm IST

जब भी हम सेक्स के बारे में सोचते हैं, हमारे मन में अक्सर एक युवा जोड़े की छवि बनती है। एक ऐसा जोड़ा जो देखने में आकर्षक और यौवन के चरम पर है। परंतु यदि असल ज़िंदगी की बात करें तो, यह छवि थोड़ी धुंधली पड़ने लगती है।

Kisi bhi umra mein sex karna sambhav hai
किसी भी उम्र में सेक्स करना संभव है। चित्र : शटरस्टॉक

विश्व प्रसिद्ध फिल्म है ‘लव इन द टाइम ऑफ कॉलेरा’। यह नोबेल प्राइज विजेता लेखक गेब्रियल गार्सिया मार्खेज के इसी नाम से लिखे गए प्रसिद्ध उपन्यास पर आधारित है। एक उम्रदराज जोड़ा क्रूज पर अकेला है और प्रेम में हैं। मगर नायिका को बॉडी शेमिंग है। क्या अब उसके सिकुड़े हुए स्तन नायक को आकर्षित कर पाएंगे। पर प्रेम इस सबसे कही बढ़कर है, यह फिल्म साबित कर देती है। प्रेम और सेक्स दोनों एक-दूसरे के पूरक हैं। इसके बावजूद हमारे समाज में यह अवधारणा प्रचलित है कि बढ़ती उम्र के साथ सेक्स की जरूरत नहीं रह जाती। जबकि यह बार-बार बोला जा रहा झूठ है।

ऐसा इसलिए, क्योंकि समाज में सेक्स के बारे में बात करना भी अब भी अपको असहज कर सकता है। खासतौर से महिलाओं के बारे में अब भी इसे स्वभाविक इच्छा की बजाए किसी जिम्मेदारी या समर्पण की तरह बयां किया जाता है। ये पुराने टैबू हैं, नई पीढ़ी जिन्हें तोड़ रही है।

इन सब रूढ़ियों (Stereotypes) के बावजूद यह हमारा समाज ही है, जो विवाहित जीवन (Married Life) के बाद परिवार जल्दी आगे बढ़ाने (Family Planning) के लिए महिलाओं पर दबाव बनाता है।

उम्र बढ़ने का अर्थ सेक्स पर चुप्पी नहीं है। चित्र: शटरस्‍टॉक

महिलाओं के लिए विवाहित जीवन में अपने 30 के दशक तक शारीरिक इच्छाओं (Sexual Desires) या यौन सुख की बात करना फिर भी स्वीकार्य है। मगर तब क्या जब आपके बच्चे बड़े हो गए हों, और आपकी उम्र 40 पार करने लगी हो? क्या तब सेक्स करना वर्जित हो जाता है? और बढ़ती उम्र की अविवाहित महिलाओं का क्या?

उम्र बढ़ने का अर्थ सेक्स पर चुप्पी नहीं है

आप यौन रूप से सक्रिय रहना चाहती है या नहीं, यह आप पर निर्भर करता है। मगर आपकी सेक्स लाइफ का बढ़ती उम्र से कोई संबंध नहीं है। हां उम्र, बढ़ने के साथ और मेनोपॉज (Menopause) के बाद कई शारीरिक-मानसिक बदलाव आते हैं। मगर यह सब नॉर्मल है और आप तब भी एक हेल्दी सेक्स लाइफ एंजॉय कर सकती हैं।

क्या कहता है अध्ययन

2014 के अध्ययन के अनुसार, 40 से 65 वर्ष की आयु की महिलाओं के लिए भी सेक्स महत्वपूर्ण होता है। ऐसा कहा जाता है कि बढ़ती उम्र के दौरान यौन सक्रिय (Sexually Active) रहने की संभावना अधिक होती है। आमतौर पर इस आयु की महिलाओं की सेक्स लाइफ में कमी इसलिए आती है, क्योंकि ओवरी एस्ट्रोजन (Estrogen) का उत्पादन कम करती हैं। इसके परिणामस्वरूप

योनि का अस्तर पतला हो जाता है
लुब्रिकेशन कम होने लगता है
योनि की लोच कमजोर पड़ सकती है
उत्तेजित होने में समय लग सकता है

मगर यह सभी के साथ नहीं होता। हर महिला का अपना शरीर, और अपने बदलाव होते हैं। जिस पर फिटनेस, आहार और मानसिक स्वास्थ्य का सबसे ज्यादा असर पड़ता है। इसलिए अगर आप बढ़ती उम्र में यौन संभोग का आनंद लेना चाहती हैं, तो यहां कुछ टिप्स दिए गए हैं, जो आपकी मदद कर सकते हैं।

बढ़ती उम्र की महिलाओं के यौन आनंद में मददगार हो सकते हैं ये टिप्स । चित्र: शटरस्‍टॉक

बढ़ती उम्र की महिलाओं के यौन आनंद में मददगार हो सकते हैं ये टिप्स

यदि आपकी मां अपनी लेट 50’s में हैं और आप उनकी झिझक के बावजूद भी उनकी अनकही इच्छाओं को समझती हैं, तो ये टिप्स आपकी मदद करेंगे। ये टिप्स उनके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को मद्देनजर रखते हुये उनके काम आ सकते हैं। साथ ही, आपको उन्हें एक नए नज़रिये से देखने में मदद करेंगे।

1. स्पेस देना भी है ज़रूरी

स्पेस हर रिश्ते की ज़रूरत होता है, फिर चाहे वो पति – पत्नी का रिश्ता हो या मां – बेटी का। आपको यह समझना होगा कि आपकी तरह उनकी भी एक अपनी जिंदगी है। जिसमें कम्फर्टेबल होने के लिए उन्हें खुद को वक़्त देना होगा। बहुत बार व्यक्ति अपनी इच्छाओं को कह नहीं पाता है, क्योंकि उसे खुद समझने में भी समय लगता है। इसलिए, उन्हें अपनी सेक्स लाइफ को दोबारा शुरू करने के लिए कुछ समय खुद को देना होगा।

2. कम्फर्टेबल पोजीशन ट्राइ करें

अगर आप एक अंतराल के बाद अपनी सेक्स लाइफ दोबारा शुरू करने जा रही हैं, तो शारीरिक रूप से सहज होना बहुत ज़रूरी है। आपको यह बात समझनी होगी कि आपका शरीर अब कमजोर हो चुका है। इसलिए सेक्स करने के लिए ऐसी पोजीशन का चुनाव करें जिसमें आप और आपका साथी कम्फर्टेबल हों। लुब्रिकेशन का इस्तेमाल करना न भूलें, क्योंकि इस उम्र में योनि का सूखापन बढ़ जाता है।

sex karne ke liye comfortable position try karein
बढ़ती उम्र मरीन सेक्स लाइफ एंजॉय करने के लिए सहज सेक्स पोजीशन चुनें। चित्र: शटरस्‍टॉक

3 बॉडी शेमिंग न हो

हां, अब आप पहले की तरह आकर्षक नहीं हैं, यह सच है। पर यह भी सच है कि हर उम्र का अपना एक अलग आकर्षण होता है। और यह उम्र भी उसका अपवाद नहीं है। इसलिए अपने और अपने पार्टनर के शरीर के प्रति सहज रहें। वह जैसा है उसे उसी तरह स्वीकारें।

4. अपनी सेक्सुअल हेल्थ का ख्याल रखें

40 – 50 की उम्र में यदि आप यौन रूप से सक्रिय हैं, तो आपको अपनी सेक्सुअल हेल्थ का ज़्यादा ख्याल रखना होगा। ऐसे में यौन संचारित रोग या संक्रमण का खतरा अधिक रहता है। इसलिए कंडोम का इस्तेमाल करना न भूलें। सेक्स के बाद खुद को अच्छे से साफ करें और अंडरवियर हर रोज़ बदलती रहें।

5. आहार और फिटनेस का ख्याल रखें

बढ़ती उम्र में यौन रूप से सक्रिय रहने के लिए अपनी सेहत का ध्यान रखना बहुत ज़रूरी है। इसलिए अपने खानपान पर विशेष ध्यान दें और एक्सरसाइज करना न भूलें। इन सब का आपकी सेक्स लाइफ पर बहुत प्रभाव पड़ता है और हॉर्मोन में ज़्यादा उतार-चढ़ाव नहीं होता है।

तो लेडीज, बढ़ती उम्र के साथ अपनी सेक्स लाइफ को एंजॉय करना न भूलें। यह भी जीवन का हिस्सा है और पूरी तरह नॉर्मल है!

यह भी पढ़ें : आदर्श रूप से कितनी देर तक हो सकता है एक हेल्दी सेक्स सेशन? चलिये जानते हैं क्या है नॉर्मल

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स
पीरियड ट्रैकर के साथ।

ट्रैक करें