अनसेफ सेक्स के अलावा इन 5 कारणों से भी मिस हो सकते हैं आपके पीरियड्स

अनसेफ सेक्स के बाद टेंशन होना स्वभाविक है। पर यहां कुछ और भी कारण हैं, जिनकी वजह से आपके पीरियड्स मिस हो सकते हैं। इसलिए लापरवाही नहीं करें और अपनी सेहत पर ध्यान दें।

kuch kaarnon se period miss ho sakta hai
लंबे समय तक गर्भनिरोधक गोलियां लेते रहने से आपका पीरियड अनियमित हो सकता है। चित्र : शटरस्टॉक
स्मिता सिंह Published on: 12 December 2022, 21:30 pm IST
  • 126

मेंस्ट्रुअल साइकिल का समय हर महिला के लिए अलग-अलग हो सकता है। यह साइकिल 24 से 28 दिनों के आसपास खत्म हो जाता है। जब कोई महिला प्रेगनेंट हो जाती है, तो मेन्स्ट्रुअल साइकिल बंद हो जाती है। क्योंकि यह भ्रूण में डेवलप होने लगता है। प्रेगनेंसी के अलावा, कई और कारणों से यह साइकिल मिस (causes of missed periods) हो सकती है।

पीरियड्स न आने पर हो सकती हैं कई परेशानियां

मासिक धर्म के पहले कुछ वर्षों तक अनियमित मासिक धर्म होना सामान्य बात है। हार्मोन के स्तर में बदलाव सहित कई चीजें अनियमित पीरियड्स का कारण बन सकती हैं। लेकिन निश्चित समय के बाद पीरियड मिस होना शरीर के लिए सही संकेत नहीं है। हॉर्मोन में गड़बड़ी की वजह से भी मेनस्ट्रूअल साइकिल अनियमित हो सकती है। स्ट्रेस के कारण भी पीरियड मिस हो सकती है। मेन्स्ट्रुअल साइकिल अनियमित होने से पीरियड और रीप्रोडक्टिव सिस्टम में कई तरह की दिक्कतें आ सकती हैं।

यहां हैं पीरियड मिस होने के 5 कारण(causes for missed periods)

1 गर्भनिरोधक गोलियां ( Oral contraceptive pills)

इंटरनेशनल जर्नल ऑफ़ वीमेन डर्मेटोलोजी के अनुसार, लंबे समय तक गर्भनिरोधक गोलियां लेते रहने से आपका पीरियड अनियमित हो सकता है। गोली रिप्रोडक्टिव सिस्टम में विभिन्न हार्मोनों को प्रभावित करती है। इससे आपका पीरियड भी प्रभावित हो जाता है। इसके कारण फ्लो कम हो सकता है या बिल्कुल नहीं हो सकता है।

हालांकि कुछ डॉक्टर माहवारी को नियमित करने के लिए कॉनट्रासेप्टिव देते हैं। इससे हार्मोन लेवल को नियंत्रित करने में मदद मिल सकती है। हालांकि डॉक्टर के प्रेस्क्रिपशन के आधार पर ही गोली ली जा सकती है।

2 स्ट्रेस (stress)

साइकोलॉजी ऑफ़ वीमेन क्वाटरली जर्नल के अनुसार, यदि वर्क लोड बढ़ गया है और आप अधिक तनाव ले रही हैं, तो इसके कारण पीरियड मिस होना आम बात है। अत्यधिक तनाव दिमाग और शरीर दोनों को प्रभावित कर सकता है। बहुत अधिक तनाव से ब्रेन का हाइपोथैलेमस प्रभावित हो सकता है और इसके कार्य में गड़बड़ी हो सकती है।

aatm jaagrookta ko manage kren
आप अधिक तनाव ले रही हैं, तो इसके कारण पीरियड मिस होना आम बात है। चित्र : शटरस्टॉक

इससे हॉर्मोन सीक्रेशन भी प्रभावित हो जाता है। यदि आप अपने पीरियड को नियमित करना चाहती हैं, तो सबसे पहले तनाव को नियंत्रित करना होगा।

3 तेजी से वजन घटाना और तेजी से वजन बढाना दोनों हैं जिम्मेदार (weight loss and weight gain)

एंडोक्रिनोलोजी एंड मेटाबोलिज्म जर्नल में प्रकाशित शोध आलेख के अनुसार, तेजी से वजन घटाना और तेजी से वजन घटाना दोनों पीरियड मिस करने के कारण हो सकते हैं। इससे एंडोक्रिनो ग्लैंड्स और रिप्रोडक्टिव सिस्टम दोनों प्रभावित हो जाते हैं। इसके लिए 1000 से अधिक कोरियाई महिलाओं में शरीर के वजन में बदलाव और मासिक धर्म की अनियमितता के बीच संबंध का आकलन किया गया। जिन महिलाओं ने तेजी से वजन घटाया और बढाया, उनके पीरियड अनियमित हुए।

4पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (polycystic ovary syndrome -PCOS)

pcos ke kaarn
पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम का सबसे पहला लक्षण है- पीरियड का अनियमित होना। चित्र : शटरस्टॉक

द जर्नल ऑफ़ क्लिनिकल एंडोक्रिनोलोजी एंड मेटाबोलिज्म के अनुसार, पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम का सबसे पहला लक्षण है- पीरियड का अनियमित होना। इसमें एन्ड्रोजेन हॉर्मोन लेवल बढ़ने के कारण हर महीने होने वाला ओव्यूलेशन नहीं पाता है। इसे हाइपरएंड्रोजेनिज्म भी कहा जाता है।

5 गर्भाशय पॉलीप्स और फाइब्रॉएड (Uterine polyps or fibroids)

गर्भाशय में फाइब्रॉएड या एंडोमेट्रियल पॉलीप्स होने के कारण भी पीरियड आना बंद हो जाता है। पोलिप्स अधिक जटिल समस्या है। यह कैंसर कारक भी हो सकता है। लेकिन जब गर्भाशय में फाइब्रॉएड या एंडोमेट्रियल पॉलीप्स बन जाते हैं, तो पीरियड अनियमित हो जाता है। कई केसेज में यह पूरी तरह से बंद भी हो जाता है। अक्सर दोनों के कारण शरीर में कोई लक्षण नहीं दिखाई देता है।

यह भी पढ़ें :- नॉर्मल नहीं हैं पीरियड्स से संंबंधित ये 5 स्थितियां, तुरंत करना चाहिए डॉक्टर से संपर्क

  • 126
लेखक के बारे में
स्मिता सिंह स्मिता सिंह

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory

हेल्थशॉट्स पीरियड ट्रैकर का उपयोग करके अपने
मासिक धर्म के स्वास्थ्य को ट्रैक करें

ट्रैक करें