अनियमित माहवारी हर बार बढ़ा देती है टेंशन, तो इन 7 होम रेमेडीज से करें पीरियड्स को रेगुलर

मासिक धर्म या पीरियड्स किसी भी महिला के जीवन का सबसे जरूरी हिस्सा है। प्रजनन आयु में सभी स्त्रियां मासिक धर्म से गुजरती हैं। इनका नियमित और हेल्दी होना जरूरी है। यहां हम उन चीजों के बारे में बता रहे हैं, जो पीरियड को रेगुलर कर सकती हैं।
Jaanein til kaise irregular period problem ko suljhaata hai
तिल के सेवन से अनियमित पीरियड्स और हार्मोन इंबैलेंस की समस्या को भी सुलझाया जा सकता है। । चित्र : अडोबी स्टॉक
स्मिता सिंह Published: 8 Dec 2023, 20:00 pm IST
  • 125
मेडिकली रिव्यूड

पीरियड्स एक बायोलॉजिकल प्रक्रिया है, जिसमें योनि से ब्लड फ्लो होता है। इसमें गर्भाशय की परत, जिसे एंडोमेट्रियम कहा जाता है, खुद को हटा देती है। पीरियड 28 दिनों का होता है, लेकिन यह हर किसी के लिए अलग भी हो सकता है। पेट में ऐंठन, उल्टी, दस्त, पैरों में दर्द और कमजोरी के साथ कई महिलाओं के लिए पीरियड्स दर्दनाक हो सकते हैं। कुछ महिलाओं में अनियमित पीरियड होते हैं। इन्हें घरेलु उपायों से ठीक (Home remedies for irregular period) करने में मदद मिल सकती है।

क्या है अनियमित पीरियड्स (What is Irregular Periods)?

नियमित पीरियड 28 दिनों से 35 दिनों तक हो सकता है और लगभग 4-6 दिनों तक रहता है। आप किसी अवधि को अनियमित मान सकती हैं, यदि वह 35 दिनों के बाद भी शुरू नहीं होती है या हर बार अलग-अलग दिनों के अंतराल के साथ होती है।

हो सकती हैं गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं(Irregular periods may cause Chronic Health disease)

अनियमित पीरियड वाली महिलाओं में हृदय रोग का खतरा 19% अधिक होता है।14% से 25% महिलाओं को अनियमित पीरियड का अनुभव होता है। कुछ महिलाओं को 2 दिन से भी कम समय तक पीरियड रह सकता है।

कारण क्या हैं? (Irregular Periods causes)

हार्मोनल असंतुलन
गर्भनिरोधक गोलियों का उपयोग करना
मोटापा
इन एक्टिव जीवनशैली और अन हेल्दी भोजन की आदतें
स्ट्रेस
थायराइड डिसऑर्डर जैसे दवा, सर्जरी और रेडियोएक्टिव थेरेपी के कारण
पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम

यहां हैं 5 होम रेमेडी जिनकी मदद से इर रेगुलर पीरियड को ठीक किया जा सकता है (Home remedies can cure Irregular Periods)

1 कच्चा पपीता (Raw Papaya)

कच्चा पपीता अनियमित पीरियड को ठीक करने के लिए जाना जाता है। यह गर्भाशय संकुचन को बढ़ाता है, जो मासिक धर्म होने में मदद करता है। कुछ महीनों तक नियमित रूप से कच्चे पपीते का जूस पियें, लेकिन पीरियड्स के दौरान इसे न पियें।

2 गुड़ (Gud for irregular Period)

गुड़ मीठा होता है। इसमें बहुत सारे औषधीय गुण होते हैं। गुड़ के नियमित सेवन से अनियमित पीरियड्स को नियंत्रित करने में मदद मिल सकती है। यह गर्भाशय की ऐंठन को कम करने में भी मदद करता है।

gud-khas-khas-panjeeri
गुड़ के नियमित सेवन से अनियमित पीरियड्स को नियंत्रित करने में मदद मिल सकती है। चित्र :शटरस्टॉक

3 हल्दी(Turmeric for irregular periods)

हल्दी को हम किसी भी बीमारी को ठीक करने में उपयोग कर सकते हैं। हल्दी के नियमित सेवन से अनियमित पीरियड्स को नियंत्रित करने में मदद मिल सकती है। इसमें सूजनरोधी और कॉन्ट्रैक्सन बढ़ाने वाले गुण भी होते हैं। ये गर्भाशय की ऐंठन को कम करने में मदद करते हैं। यदि आप स्वाभाविक रूप से अपने पीरियड को समय से पहले करना चाहती हैं, तो गर्म दूध और शहद के साथ हल्दी का सेवन करें। जब तक आपको पीरियड न आ जाए तब तक इसे रोजाना लें।

4 एलोवेरा (Aloe Vera for irregular periods)

एलोवेरा जूस मासिक धर्म या पीरियड को नियमित करने और अतिरिक्त वजन कम करने के लिए सबसे बढ़िया उपाय है। यह मेटाबॉलिज्म को भी बढ़ाता है। आपके आंत को भी स्वस्थ रखता है। एलोवेरा हार्मोनल असंतुलन को ठीक करने और पीरियड की अनियमितताओं का इलाज करने में मदद करता है। पीरियड्स के दौरान कभी भी एलोवेरा का इस्तेमाल न करें। इससे गर्भाशय संकुचन बढ़ सकता है।

5 एप्पल साइडर विनेगर (Apple Cider Vinegar for irregular periods)

सेब के सिरके का सेवन पॉलीसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम वाली महिलाओं के लिए कारगर है। यह पीरियड और हार्मोन को नियमित करने में मदद कर सकता है। वजन भी कम हो सकता है। ब्लड शुगर और इंसुलिन का स्तर भी कम हो सकता है।
एप्पल साइडर विनेगर कड़वा होता है। इसलिए कड़वे स्वाद को बेअसर करने के लिए इसे शहद के साथ मिलाकर सेवन किया जा सकता है।

6 दालचीनी (cinnamon for irregular periods)

दालचीनी हमारी रसोई के साथ-साथ हमारे स्वास्थ्य के लिए भी जरूरी है। यह गर्भाशय में ब्लड फ्लो को नियंत्रित करने में मदद करता है। अनियमित पीरियड का इलाज कर सकता है। यह पीरियड्स के दौरान पेट दर्द, दस्त और उल्टी को कम कर सकता है। एक गिलास दूध में एक चम्मच दालचीनी पाउडर मिलाएं और इसका सेवन करें।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
daalchini period ko regular karta hai.
दालचीनी अनियमित पीरियड का इलाज कर सकता है। चित्र : अडोबी स्टॉक

7 चुकंदर(Beetroots can cure irregular periods)

चुकंदर का सेवन अनियमित पीरियड्स की समस्याओं और उनके लक्षणों से निपटने में मदद कर सकता है। चुकंदर में उच्च मात्रा में फोलिक एसिड और आयरन होता है। यह ब्लड में हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाने में मदद करता है। यह एक इमेनगॉग के रूप में भी काम करता है।

अंत में

नियमित व्यायाम और योग पीरियड्स को नियमित करता है। यह वजन को नियंत्रित रखने और हार्मोन संतुलन बनाए रखने में मदद करता है।

यह भी पढ़ें :-Period Craving : क्या पीरियड में मीठा और स्पाइसी खाने का मन करता है, तो जानिए इसका कारण और इसे मैनेज करने के उपाय

  • 125
लेखक के बारे में

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है।...और पढ़ें

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
अगला लेख