पीरियड्स क्रैम्प्स में राहत दे सकती हैं ये 5 नेचुरल ड्रिंक्स, जानिए कैसे काम करते हैं ये सुपरइंग्रीडिएंट्स

पीरियड के दर्द में यदि दवाइयां लेती हैं, तो लांग टर्म में साइड इफ़ेक्ट का सामना करना पड़ सकता है। ऐसी असुविधाओं से बचने के लिए अपने पीरियड्स के दिनों में पियें ये 5 तरह के हर्बल ड्रिंक।
periods pain se kaise payen
कब्ज में हो सकता है पीरियड्स में अधिक दर्द का अनुभव। चित्र : शटरस्टॉक
अंजलि कुमारी Published: 29 Mar 2023, 09:00 pm IST
  • 137

आमतौर पर लड़कियां पीरियड्स के दौरान पेट दर्द, कमर दर्द और शारीरिक थकान से काफी परेशान रहती हैं। ऐसे में कई बार पेट दर्द इतना ज्यादा बढ़ जाता है की पीरियड के पहले और दूसरे दिन दर्द सहन कर पाना बहुत मुश्किल होता है। जिसकी वजह से पूरी दिनचर्या प्रभावित होती है। ऐसे में कई महिलाएं हैं जो पेट दर्द को कम करने के लिए पेन किलर लेती हैं। यह दर्द तो कम कर देता है परंतु भविष्य मैं आपकी सेहत को बुरी तरह से नुकसान पहुंचा सकता है वही हर बार पीरियड्स में दवाइयां लेना मेंस्ट्रूअल साइकिल पर भी असर डालता है।

तो जब आपके पास दर्द से राहत पाने के लिए कई सारे घरेलू उपाय मौजूद है, तो साइड इफेक्ट वाली गोलियों का सेवन क्यों करना। आज हम लेकर आए हैं ऐसे ही पांच ड्रिंक्स की जानकारी जो आपके पीरियड्स के दर्द को कम करते हुए आपको तरोताजा रहने में मदद करेगी। आइए जानते हैं इनके बारे में यह किस तरह से काम करते हैं।

pani apke samagra swasthye ke liye bahut zaruri hai
पानी हमारे सभी शारीरिक अंगों को सुचारू रूप से चलाने में मदद करता है। चित्र : शटर स्टॉक

1. पानी (water)

यदि बात प्राकृतिक ड्रिंक्स के करे तो पानी हमेशा नंबर वन पर होता है। यदि आपका शरीर पूरी तरह से हाइड्रेटेड रहता है, तो कोई भी बीमारी आपके शरीर को ज्यादा परेशान नहीं करती। ठीक इसी प्रकार यदि आप पीरियड में पर्याप्त मात्रा में पानी पीकर शरीर को हाइड्रेटेड रखती है। तो पेट का दर्द आपको ज्यादा परेशान नहीं करता। इसके साथ ही पीरियड्स के दौरान पानी की पर्याप्त मात्रा ब्लोटिंग नहीं होने देती, और थकान को कम करती है। साथ ही सर्कुलेशन को बढ़ा देती है जिसके कारण ब्लीडिंग के दौरान कम दर्द महसूस होता है।

2. अदरक और नींबू की चाय (ginger and lemon tea)

न्यूट्रीशनिस्ट और डायबिटिक एजुकेटर डॉक्टर इशिका गुप्ता ने अपने इंस्टाग्राम पोस्ट के जरिए बताया की किस तरह अदरक और नींबू की चाय का सेवन पीरियड्स में होने वाले पेट दर्द को कम कर सकता है। उनके अनुसार अदरक में मौजूद एंटी इन्फ्लेमेटरी प्रॉपर्टी पीरियड्स में होने वाले पेट दर्द को कम करने में मदद करती है। साथ ही पीरियड में होने वाले पेट से जुड़ी अन्य समस्याओं में भी फायदेमंद होती है।

कुछ स्टडी की माने तो अदरक मांसपेशियों के दर्द से राहत पाने में मददगार होता है। वहीं नींबू प्राकृतिक रूप से अल्कलाइन होती है, ऐसे में इसे पेट के लिए काफी अच्छा माना जाता है। अदरक और नींबू का कॉन्बिनेशन आपके पीरियड से जुड़ी समस्याओं के लिए काफी फायदेमंद रहेगा।

2 इंच ताजा अदरक लें और इसे कस लें। एक गिलास गर्म पानी में इसे डालें और पानी को कुछ देर उबलने दें। उसके बाद इसे छानकर अलग कर लें और इसमें नींबू निचोड़ लें। आप चाहे तो इसे हल्का मीठा बनाने के लिए इसमें एक चम्मच शहद ऐड कर सकती हैं।

ginger nd lemon benefits.
कुछ कम फायदेमंद नहीं है अदरक और निम्बू। चित्र शटरस्टॉक।

यह भी पढ़ें : डियर न्यू मॉम्स, ऑफिस जाने की तैयारी है तो ब्रेस्टफीडिंग और बेबी केयर में आपके लिए मददगार हो सकते हैं ये 5 टिप्स

3. दालचीनी की चाय (cinnamon tea)

दालचीनी सेहत के लिए विभिन्न प्रकार से फायदेमंद होती है। वहीं नेशनल लाइब्रेरी ऑफ़ मेडिसिन द्वारा प्रकाशित अध्ययन के अनुसार इसे पीरियड से जुड़ी समस्याओं में भी कारगर माना जाता है। खासकर पीरियड्स में होने वाले पेट के दर्द से राहत पाने में मदद करती है। दर्द का सबसे मुख्य कारण है पीरियड्स में रिलीज होने वाला हार्मोन जिसे हम लिपिड और प्रोस्टाग्लैंडीन भी कहते हैं।

दालचीनी पाउडर या दालचीनी स्टिक को एक गिलास पानी में डाल कर अच्छी तरह उबलने दें। जब ये 10 मिनट तक उबल जाए तो छानकर पानी को अलग निकाल लें। स्वाद में बदलाव लाने के लिए एक चम्मच शहद मिला सकती हैं, अब इसे अपने पीरियड के दिनों में इंजॉय करें।

4 कैमोमाइल चाय (Chamomile tea)

पीरियड के दौरान इन्फ्लेमेशन को कम करने और अच्छी नींद प्राप्त करने में कैमोमाइल चाय आपकी मदद करता है। इसके साथ ही यह मांसपेशियों के दर्द से भी राहत प्राप्त करने में असरदार है। यह यूटेराइन मसल्स को रिलैक्स रखता है और मांसपेशियों से तनाव को रिलीज करता है। इसमें एपिजेनिन और बिसाबोलोल जैसे हीलिंग तत्व मौजूद होते हैं, जिनका प्रयोग प्राचीन काल से अनिद्रा के इलाज के लिए होता चला आ रहा है। यह रात में नींद लाने का बढ़िया तरीका है।

गर्म पानी में कैमोमाइल के फूल डालें और उन्हें 5 मिनट तक उबलने के लिए छोड़ दें। फिर पानी को छान लें और गर्मागर्म चाय की तरह पिएं।

haldi waala doodh ke chamatkaari fayde
हल्दी वाले दूध के चमत्कारी फायदे। चित्र-शटरस्टॉक।

5. हल्दी वाला दूध (turmeric milk)

हल्दी वाले दूध को गोल्डेन मिल्क भी कहते हैं। पब मेड सेंट्रल के अनुसार हल्दी में एंटी इन्फ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट प्रॉपर्टी पाई जाती है। यह दोनों कंपाउंड पीरियड में होने वाले दर्द से राहत पाने में मदद करते हैं। 1 चम्मच हल्दी पाउडर को गर्म दूध के साथ मिला लें। साथ ही इसमें एक चुटकी दालचीनी पाउडर मिलाएं। चाहे तो इसमें शहद मिला सकती हैं। सभी को एक साथ अच्छी तरह मिला लें और इसे इंजॉय करें।

यह भी पढ़ें : Bamboo Shoot Benefits : क्या कभी आपने चखा है बांस की कोंपलों का स्वाद, विशेषज्ञ से जानिए इसके स्वास्थ्य लाभ

  • 137
लेखक के बारे में

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
अगला लेख