लॉग इन

इन 5 कारणों से सेक्स के दौरान और बाद में हो सकता है आपकी मांसपेशियों में खिंचाव

सेक्स के दौरान मसल्स क्रैंपिंग के कई कारण हो सकते हैं। यदि कारणों को समझ लिया जाए तो समस्या पर नियंत्रण पाना आसान हो जाता है। तो चलिए जानते हैं इसके कुछ सामान्य कारण।
जानें सेक्स के बाद मांसपेशियों में दर्द के कुछ कॉमन कारण। चित्र : एडॉबीस्टॉक
अंजलि कुमारी Published: 12 May 2024, 20:00 pm IST
ऐप खोलें

सभी के लिए सेक्स हमेशा प्लेजरेबल नहीं होता। सेक्स के दौरान और इसके बाद बहुत सी महिलाओं को मांसपेशियों में क्रैंप्स और खिंचाव का अनुभव होता है, जो पेनफुल हो सकता है। हालांकि, आपमें से शायद ही कोई ऐसा होगा जिसे इसके कारण पता होंगे। तो आपको बताएं कि सेक्स के दौरान मसल्स क्रैंपिंग के कई कारण हो सकते हैं। यदि कारणों को समझ लिया जाए तो समस्या पर नियंत्रण पाना आसान हो जाता है। तो चलिए जानते हैं इसके कुछ सामान्य कारण।

हेल्थ शॉट्स ने इस विषय पर सीके बिरला हॉस्पिटल गुरुग्राम की ऑब्सटेट्रिक्स और गाइनेकोलॉजिस्ट अस्था दयाल से बात की। तो चलिए जानते हैं, एक्सपोर्ट के अनुसार आखिर कौन-कौन से कारण सेक्स के बाद मांसपेशियों में खिंचाव के लिए जिम्मेदार होते हैं (causes of muscle cramps during sex)।

यहां जानें इसके कुछ कॉमन कारण (causes of muscle cramps during sex)

1. ऑर्गेज्म

जब आपको ऑर्गेज्म आता है, तो वेजाइनल वॉल्स और यूट्रस की मसल्स कई बार कॉन्ट्रैक्ट होती हैं, जिसकी वजह से क्रैंप्स और मांसपेशियों में खिंचाव का अनुभव हो सकता है। वहीं कुछ समय के बाद ये वापस से नॉर्मल हो जाती है। हालांकि, कुछ लोगों में यह जल्दी ठीक हो जाता है, तो कुछ लोगों को नॉर्मल होने में समय लगता है। वहीं ऑर्गेज्म के साथ यूट्रस में क्रैंप्स आना नॉर्मल साइकोलॉजिकल रिस्पांस है।

इससे पहले कि आप गर्भनिरोधक के लिए आईयूडी का उपयोग करें, कुछ बातों का ध्यान रखें। चित्र ; शटरस्टॉक

2. आइयुडी

ऑर्गेज्म के साथ यूट्रस में क्रैंप्स आना नॉर्मल साइकोलॉजिकल रिस्पांस है। डॉ आस्था दयाल के अनुसार आइयुडी यूटराइन कैविटी में स्पेस लेता है, जिसकी वजह से सेक्स के दौरान क्रैंप्स अधिक इंटेंस हो जाते हैं। ऐसे क्रैंप्स टेंपरेरी होते हैं, परंतु यदि ऐसा बार-बार हो रहा है, तो ऐसे में मेडिकल एडवाइस लेना जरूरी हो जाता है।

यह भी पढ़ें :Sex Education : कन्फ्यूजिंग लग रही है सेक्स की भाषा, तो यहां जानिए कुछ पॉपुलर सेक्स स्लैंग्स के बारे में

3. अनकंफरटेबल बॉडी पोजीशन

कई बार लोग सेक्स के दौरान ऑकवर्ड पोजीशन ट्राई करते हैं और उन पोजीशंस में लंबे समय तक बने रहने की वजह से भी मांसपेशियों पर दबाव पड़ता है। जिसकी वजह से क्रैंप्स और खिंचाव महसूस होना बिल्कुल नॉर्मल है। इसके अलावा सेक्स के दौरान टाइट मसल्स और डिहाईड्रेशन भी मांसपेशियों में खिंचाव का कारण बनते हैं। हालांकि, ऐसी समस्या कुछ घंटे में ठीक हो जाती है, परंतु कुछ लोगों को यह अधिक परेशान कर सकती है। इसलिए सावधानी बरतनी चाहिए।

सेक्स के दौरान मांसपेशियों में दर्द के कारण। चित्र : एडॉबीस्टॉक

4. वेजिनिस्म

वेजिनिस्म एक ऐसी कंडीशन है जब महिलाओं की वेजाइना की मांसपेशियां पूरी तरह से एक्सपेंड नहीं हो पाती हैं। इस स्थिति में इंटरकोर्स काफी डिफिकल्ट और पेनफुल हो सकता है। वहीं इस स्थिति से पीड़ित महिलाओं में सेक्स के बाद मांसपेशियों में काफी ज्यादा खिंचाव महसूस होता है। उन्हें इंटरनल क्रैंप्स के साथ-साथ बॉडी मसल्स में भी क्रैंप्स महसूस हो सकते हैं। यदि आप वेजिनिस्म से परेशान हैं, तो इस पर डॉक्टर से सलाह लेना जरूरी है।

5. रफ सेक्स

डॉ आस्था दयाल के अनुसार ठीक एक्सरसाइज की तरह यदि आप लंबे समय तक रफ सेक्स करती हैं, तो ऐसे में मांसपेशियों में क्रैंप्स होना नॉर्मल है। अचानक से मांसपेशियों पर अधिक खिंचाव पैदा होने से इनमें क्रैंप्स आ सकते हैं। वहीं सेक्स के दौरान डीप पेनिट्रेशन से यूट्रस और ओवरीज पर भार पड़ता है, साथ ही यदि सेक्स के दौरान सर्विक्स हिट हो रही है, तो ऐसे में पेट में क्रैंप्स आ सकते हैं।

यह भी पढ़ें : Sexual Frustration : आपकी पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ को भी नुकसान पहुंचा सकती हैं यौन कुंठा, जरूरी है इस पर ध्यान देना

अंजलि कुमारी

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख