छोटी बहन को हुए हैं पहली बार पीरियड्स? तो उन्हें जरूर बताएं इंटीमेट हाइजीन के ये टिप्स

गर्मी बढ़ रही है और टीनएजर लड़कियों में पीरियड्स या मेंसट्रूएशन से होने वाली स्वास्थ्य समस्याएं भी बढ़ रही हैं। यदि आपकी छोटी बहन या कोई परिचित भी इन दिनों ऐसी ही कुछ समस्याओं से जूझ रही हैं, तो आप उनकी मदद कर सकती हैं।

periods ke dauran saaf safai ka khas khyal rakhna chahiye
पीरियड के दौरान अपने अंडर एरिया की साफ-सफाई का भी खास ख्याल रखना चाहिए। चित्र- शटरस्टॉक
टीम हेल्‍थ शॉट्स Published on: 27 April 2022, 19:01 pm IST
  • 102

हाल में अमेजन पर “जस्ट फॉर गर्ल’ किताब की बिक्री में उछाल देखा गया। दरअसल, गर्मी का सीजन है और जिन लड़कियों को पहली बार पीरियड हुए हैं या गर्मी के कारण पीरियड के दौरान होने वाली हाइजीन संबंधी समस्याओं से भी जूझ रही हैं, उनके लिए ये किताब मददगार साबित हो रही है।

गर्मी में पीरियड्स के दौरान होने वाली हाइजीन संबंधी समस्याओं के बारे में जानने के लिए हमने गुरुग्राम के क्लाउड नाइन हॉस्पिटल की सीनियर कंसल्टेंट गाइनेकोलॉजी डॉ. रितु सेठी से बात की।

periods ke dauran saaf safai ka pura rakhe khyal
पीरियड के दौरान पूरे शरीर की साफ-सफाई का ख्याल रखना चाहिए। चित्र- शटरस्टॉक

डॉ सेठी भी यही मानती हैं कि पीरियड्स के दौरान लड़कियों को अपनी हाइजीन का खास ख्याल रखना चाहिए। आमतौर पर टीनएजर लड़कियां अपने कपड़े, मेकअप, हेयर स्टाइल का ख्याल तो रखती हैं, लेकिन अंडरगारमेंट्स या पीरियड के दौरान अपने अंडर एरिया का ख्याल रखने में लापरवाही कर जाती हैं। जबकि इन दिनों उन्हें साफ-सफाई पर विशेष ध्यान देना चाहिए। थोड़ी-सी लापरवाही उनके लिए जानलेवा भी हो सकती है। आपकी भी छोटी बहन है या कोई टीनएज गर्ल रिलेटिव है, तो उससे कुछ जरूरी बातें शेयर करें।

यह भी पढ़ें :- डियर गर्ल्स, अनियमित पीरियड्स कहीं फैटी लिवर का संकेत तो नहीं, जानिए क्या है पीसीओएस और लिवर डिजीज का कनैक्शन

यहां हैं मेंस्ट्रुअल हाइजीन के लिए कुछ जरूरी टिप्स

1 तीन-चार बार बदलें सेनिटरी पैड

पढ़ाई या दूसरे कामों में व्यस्त रहने पर लड़कियों कोे पैड बदलने में आलस आता है। गर्मी में बैक्टीरिया जल्दी ग्रो करते हैं। रितु सेठी के अनुसार, पीरियड्स होने पर लड़कियों को दिन में तीन-चार बार पैड बदलना चाहिए। हालांकि यह उनके फ्लो पर भी निर्भर करता है, लेकिन गीलापन महसूस होने पर वे तुरंत पैड बदल लें।

अंडर एरिया गीला रहने पर न सिर्फ लीक होनेे की समस्या बनी रहेगी, बल्कि बैक्टीिरियल इंफेक्शन होने का खतरा भी हो सकता है। उन्हें न सिर्फ कॉटन पैड, बल्कि कॉटन पैंटीज का ही इस्तेमाल करना चाहिए। टैम्पून का भी इस्तेमाल किया जा सकता है, लेकिन यह सभी के लिए कम्फर्टेबल नहीं होता है।

यह भी पढ़ें :- गर्मियों में पीरियड्स के समय इग्नोर न करें ये 5 हाइजीन टिप्स

2 हरगिज न करें टेलकम पाउडर का इस्तेमाल

फैशन के फेर में पीरियड के दौरान ज्यादा टाइट कपड़े न पहनें। अंडरगारमेंट भी लूज पहनें, ताकि हवा आती-जाती रहे। अंडर एरिया को ड्राय रखें। लेकिन ड्राय रखने के लिए कभी भी टेलकम पाउडर का इस्तेमाल न करें। ऐसी रिसर्च रिपोर्ट भी आई है, जिसमें टेलकम पाउडर के इस्तेमाल से यूरिन कैंसर होने का खतरा बना।

3 डाइट लें लाइट

पीरियड के दौरान लड़कियां खाने-पीने का भी खास ख्याल रखें। डॉ. रितु सेठी के अनुसार, पीरियड के दौरान तला-भुना तो बिल्कुल न खाएं। डाइट भी लाइट लें। खाने में ऐसे फ्रूट्स और सैलेड को शामिल करें, जिसमें एलेक्ट्रोलाइट्स की मात्रा भरपूूर हो।

गर्मी के मौसम में आम, ककड़ी, पपीता, खीरा, तरबूज, खरबूज आदि जैसे फल खूब खाएं। इसमें पानी की मात्रा भरपूर होती है और पोषक तत्व भी प्रचूर मात्रा में पाए जाते हैं। टीनएजर लड़कियों के साथ-साथ महिलाएं भी पीरियड्स के दौरान नारियल पानी जरूर लें। इसमें एंटी ऑक्सीडेंट्स, एंजाइम्स और विटामिन सी आदि पाए जाते हैं, जो थकान और कमजोरी को दूर करने में मदद करते हैं।

यह भी पढ़ें :- बेटी को जल्दी शुरु हो गए हैं पीरियड्स, तो अर्ली प्यूबर्टी के बारे में इन 5 मिथ्स से बचना है जरूरी

  • 102
लेखक के बारे में
टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory