वैलनेस
स्टोर

मेनोपॉज के लक्षण : घबराएं नहीं, बहुत मुश्किल नहीं है इनसे निपटना

Published on:13 May 2021, 20:00pm IST
रजोनिवृत्ति उम्र बढ़ने की एक आंतरिक प्रक्रिया है। यह तब होता है जब महिलाओं में पीरियड्स खत्म हो चुके होते हैं या होने वाले होते हैं। ये एक क्रमिक प्रक्रिया है, जिसमें लक्षणों की अवधि हर महिला से महिला में भिन्न होती है।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 89 Likes
अगर आपको मासिक धर्म 12 महीने तक नहीं हुए है, तो आपने मेनोपॉज (रजोनिवृत्ति) चरण में प्रवेश कर लिया है। चित्र- शटरस्टॉक.

मेनोपॉज (रजोनिवृत्ति) एक महिला के जीवन का एक सामान्य और प्रबंधनीय हिस्सा है। यह एक महिला के जीवन का एक ऐसा चरण है, जो मासिक धर्म चक्र का अंतिम चरण है। यदि आपके मासिक धर्म रुक गए हैं और 12 महीने तक नहीं हुए है, तो आपने मेनोपॉज (रजोनिवृत्ति) चरण में प्रवेश कर लिया है। सबसे अधिक बार, यह तब होता है जब एक महिला 45 से 50 वर्ष के बीच होती है। लेकिन हर महिला का मेनोपॉज पीरियड अलग है, और इसके लक्षण भी।

मेनोपॉज(रजोनिवृत्ति) तीन चरणों में होती है:

* पेरिमेनोपॉज
* मेनोपॉज़
* पॉस्टमेनोपॉज़

मेनोपॉज (रजोनिवृत्ति) के लक्षण आमतौर पर तब शुरू होते हैं जब किसी महिला के एस्ट्रोजन का स्तर कम होने लगता है। यह आमतौर पर मेनोपॉज शुरू होने से तीन से पांच साल पहले होता है। इसे पेरिमेनोपॉज कहा जाता है। मेनोपॉज में प्रवेश करने से पहले पेरिमेनोपॉज 10 साल तक शुरू हो सकता है। कभी-कभी, लोग मेनोपॉज और पेरीमेनोपॉज़ के बीच भ्रमित हो जाते हैं।

पेरिमेनोपॉज के कुछ सामान्य लक्षणों में शामिल हैं:

* हॉट फ्लैशेस
* रात में पसीना आना
* योनि में सूखापन

पेरिमेनोपॉज़ल लक्षण औसतन चार साल तक रह सकते हैं।

घबराएं नहीं, बहुत मुश्किल नहीं है इनसे निपटना चित्र-शटरस्टॉक.

मेनोपॉज के अंतिम लक्षण कब तक रहते हैं

उत्तर सरल नहीं है, क्योंकि पेरिमेनोपॉज़ 10 साल तक रह सकता है। दूसरी ओर, आप मेनोपॉज में प्रवेश करती हैं, तब आप मासिक धर्म के बिना 12 महीने को पार करते हैं। यदि आपने एक भी माहवारी का अनुभव किए बिना 12 महीने का आंकड़ा पार कर लिया है, तो अब हैरान मत होइए, क्‍योंकि आप पोस्टमेनोपॉज़ल हैं!

जेएएमए में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, मेनोपॉज (रजोनिवृत्ति) के लक्षण औसतन 4.5 साल तक चलते हैं। किसी स्‍त्री की अंतिम माहवारी की अवधि अलग-अलग हो सकती है। लेकिन आप प्रीमेनोपॉज़ल हैं, जब तक आप मासिक धर्म के बिना 12 महीने को पार नहीं करते हैं।

ये हैं मेनोपॉज के कुछ लक्षण:

* अचानक बुखार वाली गर्मी महसूस करना
* योनि परिवर्तन
* रात को पसीना
* भावनात्मक परिवर्तन
* नींद न आना
* ठंड लगना

पेरिमेनोपॉज अवस्था में, आप स्तन कोमलता, भारी या हल्के पीरियड्स, शुष्क त्वचा, आंखें या मुंह, और बिगड़े हुए प्रीमेन्स्ट्रुअल सिंड्रोम (pms) का अनुभव कर सकती हैं। इससे आपको परेशान करने के लिए क्षमा करें, लेकिन ये सभी लक्षण आपके पोस्टमेनोपॉज़ल वर्षों में भी जारी रह सकते हैं। इसके अलावा, वजन बढ़ना, सिर दर्द, दिल का तेज धड़कना, बालों का झड़ना, साथ ही मांसपेशियों और जोड़ों का दर्द आम है।

पेरिमेनोपॉज़ल लक्षण औसतन चार साल तक रह सकते हैं।चित्र : शटरस्टॉक

आप अपने पेरिमेनोपॉज में इनमें से किसी भी अतिरिक्त लक्षण का अनुभव कर सकती हैं, लेकिन अचानक बुखार वाली गर्मी आमतौर पर पेरिमेनोपॉज की शुरुआत में होती है।

अब जानिए कि मेनोपॉज के लक्षणों से कैसे निपट सकती हैं:

मेनोपॉज के लक्षणों का उपचार कई तरीकों से किया जा जाता है। मुख्यतः दवा और जीवन शैली में परिवर्तन के माध्यम से। जीवनशैली में बदलाव में मसालेदार भोजन, कैफीन, धूम्रपान, शराब और तनाव से बचना शामिल है।

ये सभी गतिविधियां हॉट फ्लैशेस (अचानक बुखार वाली गर्मी) को ट्रिगर करती हैं। एक स्वस्थ आहार खाने और शारीरिक रूप से सक्रिय रहने से मेनोपॉज के कई लक्षणों से निपटने में मदद मिलती है। जिसमें वजन बढ़ना और मूड स्विंग शामिल हैं।

लेकिन अगर आपके मेनोपॉज (Menopause) के लक्षण चिंता का कारण बनते हैं या आपके जीवन की गुणवत्ता पर नकारात्मक प्रभाव डालते हैं, तो कृपया अपने डॉक्टर से चर्चा करें और ध्यान रखें!

इसे भी पढ़ें-पीरियड्स और एक्सरसाइज : अगर आपके मन में भी है इससे जुड़ा कोई सवाल, तो हम बता रहे हैं समाधान

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।