पीरियड्स के दूसरे दिन दर्द से होता है बुरा हाल? तो इन 5 टिप्स को अभी से करें फॉलो

बहुत सारी लड़कियों के लिए पीरियड्स का दूसरा दिन पहले दिन से भी ज्यादा दर्दनाक होता है। इतना कि, उन्हें काम से छुट्टी लेनी पड़ती है। अगर आपकी हालत भी ऐसी है, तो आपको अपने लाइफस्टाइल में कुछ बदलाव करने की जरूरत है।
Period weight gain se kaise bachein
जानते हैं कि पीरियड में स्मेल आने के कारण। चित्र ; शटरस्टॉक
अंजलि कुमारी Published: 20 Feb 2023, 21:00 pm IST
  • 120

पीरियड्स क्रैम्प्स यानि की पीरियड के दौरान होने वाले दर्द की शिकायत लगभग सभी महिलाओं को होती है। इस दौरान कुछ महिलाएं ज्यादा तो कुछ कम दर्द का अनुभव करती हैं। ऐसे में ज्यादातर महिलाएं इस बात की शिकायत करती हैं कि पीरियड्स के दौरान दर्द के कारण उनकी नियमित दिनचार्य पर काफी असर पड़ता है। और शुरुआत के दो दिन उन्हें छोटी छोटी गतिविधियों को करने में भी परेशानी होती है। हालांकि, हमारी कई ऐसी नियमित आदतें हैं, जो पीरियड्स के दर्द को बढ़ावा देती हैं। ऐसे में उन ट्रिगर्स को पहचान कर उनपर काम करना जरूरी है। क्योंकि आप हर महीने के पांच दिन बैठकर आराम करते हुए नहीं बिता सकती। ऐसे में हम आपके लिए लेकर आए हैं कुछ खास टिप्स (tips to ease period pain) जो पीरियड्स में होने वाले असहनीय दर्द से राहत पाने में आपकी मदद करेंगे।

यह भी पढ़ें : 32 फीसदी भारतीय जोड़ाें को करना पड़ता है गर्भपात का सामना, जानिए क्या हैं इसके कारण

न्यूट्रीशनिस्ट और हेल्थ कोच नेहा रंगलानी ने अपने इंस्टाग्राम पोस्ट के जरिए पीरियड्स पेन को अवॉयड करने के कुछ महत्वपूर्ण और प्रभावी टिप्स बताये हैं। तो चलिए जानते हैं इनके बारे में आखिर किस तरह पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द से निपटना है।

period cramp
ऐसे में महिला को साधारण दिनों की तुलना में ज्यादा दर्द हो सकता है। चित्र : शटरस्टॉक

यहां जानें पीरियड्स के दर्द से राहत पाने के उपाय (tips to ease period pain)

1. फल और सब्जियों का सेवन करें

फल और सब्जियों का सेवन आपके आंत एवं पाचन क्रिया के लिए काफी फायदेमंद होता है, वहीं यह आसानी से डाइजेस्ट हो जाते हैं। साथ ही यह इन्फ्लेमेशन को कम करने में मदद करता है। पीरियड में होने वाले दर्द का एक सबसे बड़ा कारण इन्फ्लेमेशन होता है। इनका सेवन गट में हेल्दी बैक्टीरिया के ग्रोथ को बढ़ावा देता है, जो आपके पेट की मांसपेशियों को रिलैक्स रहने में मदद करते हैं।

ऐसे में एक्सपर्ट ज्यादा से ज्यादा मात्रा में हरी पत्तेदार सब्जियों को खाने की सलाह देती हैं। क्लोरोफिल और मैंग्नीशियम से युक्त इन सब्जियों में एंटीइंफ्लेमेटरी प्रॉपर्टी पाई जाती है। जो पीरियड्स के दौरन होने वाले दर्द से राहत पाने में मदद करती है।

यह भी पढ़ें : डियर गर्ल्स, हेल्दी और खुश रहना है तो हमेशा याद रखें वेजाइनल हेल्थ के बारे में ये 5 जरूरी बातें

2. दूध भी बढ़ा सकता है दर्द

दूध का सेवन इंफ्लेमेशन को ट्रिगर करता है। वहीं अच्छे क्वालिटी के दूध का सेवन भी शरीर में अनावश्यक हॉर्मोन्स के उत्पादन को बढ़ा देता है। जिसकी वजह से पीरियड्स के दौरान होने वाला दर्द बढ़ जता है। ऐसे में पीरियड्स पेन को अवॉयड करने के लिए एक्सपर्ट दूध, दही, पनीर, चीज इत्यादि जैसे डेयरी प्रोडक्ट्स से दूरी बनाये रखने की सलाह देती हैं।

इन 5 टिप्स को अभी से करें फॉलो। चित्र शटरस्टॉक

3. कैफीन के सेवन से परहेज रखें

ज्यादातर महिलाओं को लगता है की कॉफी का सेवन उन्हें दर्द से राहत पाने में मदद करता है। परन्तु एक्सपर्ट की माने तो कॉफी का सेवन पीरियड्स आने से पहले होने वाले दर्द और पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द को ट्रिगर कर सकता है। वहीं यह पीरियड्स में आपके स्ट्रेस और चिड़चिड़ापन का कारण बनता है। इसलिए पीरियड्स में कॉफी के सेवन से परहेज रखने की कोशिश करें।

4. हर्ब्स को करें डाइट में शामिल

अदरक और दालचीनी का पानी, कैमोमाइल टी, पेपरमिंट टी, और रसबेरी लीफ टी जैसे हर्ब्स में एंटीइंफ्लेमेटरी प्रॉपर्टी पाई जताई है जो पीरियड्स के दौरान पेट में होने वाले इन्फ्लेमेशन को कम कर देते हैं साथ ही अंदरूनी मांसपेशियों को रिलैक्स रहने में मदद करते हैं। ऐसे में पीरियड्स के दौरान इन ड्रिंक्स के सेवन से पीरियड्स पेन नियंत्रित रहता है।

ayurvedic herbs for winters
अदरक रहेगा असरदार। चित्र शटरस्टॉक।

5. जितना हो सके उतना कम स्ट्रेस लें

पीरियड्स के दौरान एक चीज जो सबसे जरुरी है वह है आपका हैप्पी मेन्टल हेल्थ। एक्सपर्ट के अनुसार आपको पीरियड्स के दौरान स्ट्रेसफ्री और रिलैक्स रहना चाहिए साथ ही ब्रीथिंग एक्सरसाइज भी आपकी मदद कर सकता है। इसके साथ ही अपने मनपसंद कार्य में खुदको व्यस्त रखें, और म्यूजिक, मूवी इत्यादि जैसी अन्य एंटरटेनमेंट एक्टिविटी में भाग लेकर खुदको पोसिटिव रखने की कोशिश करें। आप जितनी रिलैक्स रहेंगी उतनी ही आसानी से पीरियड्स पेन को अवॉयड कर पाएंगी।

यह भी पढ़ें : आपकी सेक्सुअल हेल्थ के लिए खतरे की घंटी हैं ये 4 पीरियड्स रेड फ्लैग

  • 120
लेखक के बारे में

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
अगला लेख