क्या वेजाइनल डूशिंग आपके लिए सुरक्षित है? जानिए क्या कहते हैं विशेषज्ञ

Published on: 2 November 2021, 20:30 pm IST

अपने इस हिस्से को अच्छी तरह से धोना और सुखाना हाइजीनिक हो सकता है, लेकिन इसके लिए सही तरीका आपको पता होना चाहिए।

Douching se bache
वेजाइनल हाइजीन के लिए डूशिंग से बचें। चित्र:शटरस्टॉक

जब आपके प्यूबिक हेयर (pubic hair) बढ़ते हैं, तो आप इंटीमेट केयर रूटीन का पालन करते हैं, ताकि आप पसीने और संक्रमण से निपट सकें। यह गंदगी और सभी प्रकार के बैक्टीरिया को खत्म करने में भी मदद करता है। योनि को साफ रखने के लिए, कई महिलाएं इसके लिए डूशिंग (douching) का उपयोग करती हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि उन्हे यह तरीका गो-टू ऑप्शन लगता है। 

क्या होता है डूशिंग?

डूशिंग से अर्थ है योनि को साफ करना या ‘धोना’। यह वेजाइनल डिटॉक्स के लिए एक त्वरित उपाय माना जाता है।

मदरहुड हॉस्पिटल, मुंबई की स्त्री रोग विशेषज्ञ, डॉ पारुल साठे हेल्थशॉट्स को बताती हैं, “योनि की दुर्गंध को खत्म करने और उसे अच्छी तरह से साफ करने के लिए योनि को पानी या तरल पदार्थों के मिश्रण से धोया जाता है।  ज्यादातर समय सिरके (vinegar) का इस्तेमाल पानी के साथ किया जाता है। 

vaginal health zaroori hai
वेजाइनल हाइजीन जरूरी है। चित्र : शटरस्टॉक

कई बार महिलाएं योनि को साफ करने के लिए बेकिंग सोडा (baking soda) या आयोडीन (iodine) का भी इस्तेमाल करती हैं। कुछ लोग  एंटीसेप्टिक्स और सुगंध का उपयोग करते हैं। लेकिन यह अभ्यास आपकी योनि के लिए जोखिम पैदा कर सकता है।”

तो क्या आपको अपनी योनि को साफ करने के लिए डूश करना चाहिए?

लेडीज, योनि की स्वच्छता (vaginal hygiene) बनाए रखने के लिए डूशिंग करना सबसे आम गलती है। आपको लगता है कि आप इसे साफ रख रहे होंगे, लेकिन आप अच्छे बैक्टीरिया को मारकर अपनी योनि के पूरे बायोम को खराब कर रहे हैं। 

यदि आप नियमित रूप से वेजाइनल वॉश (vaginal wash) का उपयोग कर रहे हैं, तो इस बात की बहुत अधिक संभावना है कि आपका पीएच स्तर (pH level) बाधित हो गया है, और इससे अंततः जलन हो सकती है।

यहां डॉण. साठे डूशिंग से होने वाले कुछ नुकसान बता रहीं हैं 

1. संक्रमण

योनि अपनी सफाई खुद कर सकती है। इसलिए, डूशिंग योनि के लिए हानिकारक हो सकता है। बैक्टीरियल वेजिनोसिस (bacterial vaginosis) योनि का एक संक्रमण है जो योनि बैक्टीरिया के सामान्य संतुलन में बदलाव के कारण हो सकता है। यह आमतौर पर डूशिंग के कारण देखा जाता है।

2. वेजाइनल थ्रश

यह कैंडिडा एल्बीकैंस यीस्ट (Candida albicans yeast) के अतिवृद्धि के कारण होने वाली एक सामान्य समस्या है। ऐसी स्थिति डूशिंग के कारण होती है। 

vaginal itching kabhi bhi ho sakti hai
वेजाइनल इचिंग किसी को भी हो सकती है। चित्र: शटरस्टॉक

3. पेल्विक इंफ्लेमेटरी डिजीज (PID)

यह महिला प्रजनन अंगों का संक्रमण है। यह आपकी योनि से गर्भाशय (uterus), फैलोपियन ट्यूब (fallopian tube) या अंडाशय (ovaries) में फैले यौन संचारित बैक्टीरिया के कारण देखा जाता है।

4. यौन संचारित संक्रमण (STI)

डूशिंग से एसटीआई का खतरा बढ़ जाता है, जो आपको बहुत परेशान कर सकता है। क्लैमाइडिया (chlamydia) और गोनोरिया (gonorrhea) कुछ एसटीआई हैं, जो एक महिला के प्रजनन तंत्र पर भारी पड़ सकते हैं।

5. योनि का सूखापन

डूशिंग योनि की दीवार पर मौजूद प्राकृतिक गाढ़े तरल पदार्थ को धो देती है, जिससे सूखापन होता है।

6. ह्यूमन पेपिलोमा वायरस (HPV)

यह डूशिंग के कारण होने वाला एक वायरल संक्रमण (viral infection) है, जो त्वचा के संपर्क के माध्यम से लोगों के बीच फैलता है।

7. सरवीक्टिस 

यह तब देखा जाता है जब गर्भाशय ग्रीवा (cervix) में जलन या सूजन हो जाती है, जिससे खुजली, दर्द और योनि स्राव होता है।

Vaginal discharge se aapka vaginal health ke baare mein pata chalta hai
वेजाइनल डिस्चार्ज आपकी सेहत के बारे में बहुत कुछ कहता है। चित्र : शटरस्टॉक

क्या आप जानते हैं कि आपकी योनि स्वयं सफाई कर सकती है?

जी हां,यह सच हे। इसलिए यह जरूरी है कि योनि में कुछ भी न डालें। डूशिंग, स्क्रबिंग या किसी भी तरह के सुगंधित उत्पादों का उपयोग करने से बचें, क्योंकि योनि एक स्व-सफाई वाला अंग है और ये तकनीक केवल आपको संक्रमण के प्रति अधिक संवेदनशील बनाती हैं। विशेषज्ञों का सुझाव है कि योनि को ताजा और स्वच्छ रखने के लिए साबुन और पानी का उपयोग पर्याप्त है। इसके लिए आपको कुछ और नहीं चाहिए।

इसके अलावा, अपनी योनि को धोते समय आपको तकनीक के बारे में सावधान रहने की जरूरत है। आपको अपनी योनि को आगे से पीछे की ओर साफ करने की जरूरत है न कि दूसरी तरफ। ऐसा इसलिए है क्योंकि यदि आप इसे दूसरे तरीके से करते हैं, तो आपकी योनि में बैक्टीरीया प्रवेश कर सकते हैं। 

तो डूशिंग के विकल्प क्या हैं?

1. पर्सनल हाइजीन 

योनि को पानी से धोकर साफ रखें। आप डॉक्टर से सलाह लेने के बाद केमिकल फ्री साबुन का इस्तेमाल कर सकती हैं। बेकिंग सोडा जैसे किसी अन्य मिश्रण का भी प्रयोग न करें। यदि आप वहां किसी भी उत्पाद का उपयोग कर रही हैं, तो बस डॉक्टर से परामर्श लें। उसके बाद ही उनका उपयोग करें। 

2. कपड़ों का ख्याल 

सूती अंडरवियर का प्रयोग करें जो बहुत टाइट न हो। साटन, रेशम और पॉलिएस्टर जैसे कपड़ों से बचें, जो हवा प्रवाह को बाधित करते हैं और बैक्टीरिया को बढ़ने के लिए प्रोत्साहित करते हैं। साथ ही टाइट कपड़े पहनने से बचें।

Cotton panties hai aapki vagina ki best friend
कॉटन पेन्टीज हैं आपके वेजाइन की बेस्ट फ्रेंड। चित्र : शटरस्टॉक

3. ड्राय करना 

डॉ साठे कहती हैं, “योनि और आसपास के क्षेत्र को बहुत अधिक नमी से बचाने के लिए सावधानी से और अच्छी तरह से सुखाना जरूरी है। इससे संक्रमण और गंध का खतरा बढ़ सकता है।”

तो लेडीज, इन बातों का ख्याल रखें और वेजाइनल हाइजीन के लिए डूशिंग पर निर्भर न रहें। 

यह भी पढ़ें: जानिए क्या हो सकता है आपके वेजाइनल डिस्चार्ज में खून आने का कारण

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स
पीरियड ट्रैकर के साथ।

ट्रैक करें