मौसम बदल रहा है, अब आपको भी बदल लेना चाहिए अपना पर्सनल हाइजीन रुटीन

Updated on: 26 April 2022, 12:43 pm IST

महामारी और लंबे लाॅकडाउन के बाद अब आप बाहर निकल रहीं हैं और लंबे घंटों तक धूल, धूप और पसीने का सामना कर रहीं हैं। अब आपको अपनी पर्सनल हाइजीन की तरफ ज्यादा ध्यान देना होगा।

badalte mausam ke sath apko apna daily hygiene routine bhi badlana chahiye
बदलते मौसम के साथ आपको अपना डेली हाइजीन रुटीन भी बदलना चाहिए। चित्र : शटरस्टॉक

अब जब मौसम बदल रहा है और हम सब बाहर निकलने लगे हैं, तब हमें भी अपने डेली हाइजीन रुटीन पर ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है। कोविड-19 महामारी के दौरान भी हमने अपनी हाइजीन पर खास ध्यान दिया है। पर मौसम के साथ अब उसमें और ज्यादा बदलाव करने की जरूरत है। यहां जानिए आपके डेली हाइजीन रुटीन के लिए जरूरी कुछ खास टिप्स।

क्यों जरूरी है एक्स्ट्रा हाइजीन 

नियमित देखभाल न किए जाने पर हम जल्दी बीमार पड़ सकते हैं। त्वचा कई बाहरी कारकों से प्रभावित होती है, जैसे गंदगी, रासायनिक प्रदूषक, बैक्टीरिया और वायरस। नियमित धुलाई, स्नान और सफाई से हम इनसे बच सकते हैं और खुद को संक्रमण व बचा सकते हैं।

इससे जहरीले तत्व हमारी त्वचा में इकट्ठा नहीं हो पाते। गंदगी और प्रदूषक से त्वचा के छिद्र बंद हो जाते हैं और अपशिष्ट बाहर नहीं निकल पाते। हम जानते हैं कि पसीना आने पर अपशिष्ट पदार्थ हमारी त्वचा से बाहर निकलते हैं। यही पसीना त्वचा पर जम जाता है। इसलिए रोजाना ये पसीना हटाना चाहिए।

Ab apko zyada sweat and dust ka samna karna pad sakta hai
इंटीमेट एरिया में पसीना आना आपको कई समस्याएं दे सकता है। चित्र : शटरस्टॉक

नहाने के साथ इन बातों का भी रखें ध्यान 

रोजाना नहाना और सफाई करना ज़रूरी है। शरीर के सभी अंगों को अच्छी तरह से धोना चाहिए, खासकर गर्दन, बगल और पैरों को। इन सभी जगहों पर रोगाणु जल्दी जमा होते हैं। साबुन के अलावा, साफ खुरदुरा वॉशक्लॉथ, स्पंज, पीठ के लिए लंबे हैंडल वाला ब्रश, झांवा, नाखून साफ करने के लिए ब्रश, एरोमेटिक ऑयल, कोलोन, टैल्कम पाउडर आदि का इस्तेमाल करें।

अगर आपकी त्वचा रूखी है, तो नहाने से पहले क्रीम या तेल लगाएं। त्वचा पर साबुन लगाने के लिए स्पंज का इस्तेमाल बेहतर होता है, जबकि वॉशक्लॉथ शरीर को साफ़ करने में मदद करता है। यह न केवल गंदगी और प्रदूषकों को हटाता है, बल्कि मृत कोशिकाओं को साफ करने और सर्कुलेशन को बनाए रखता है। कोहनी और एड़ी साफ करने के लिए झांवे का इस्तेमाल किया जा सकता है।

यहां हैं कुछ हेल्दी बाथ रिजीम 

पुराने समय में, शरीर को साफ करने, स्वच्छ बनाए रखने और त्वचा को सुंदर बनाने के लिए नहाने से पहले कई तरीके अपनाए जाते थे। जैसे- बेसन, गेहूं की भूसी और हल्दी को दूध की मलाई में मिलाकर त्वचा पर लगाया जाता था। इससे त्वचा साफ और मुलायम रहती है।

नहाने के पानी में गुलाब की पंखुड़ियां, चमेली का तेल, गुलाब, चंदन आदि मिलाए जाते थे। शरीर को धोने के लिए घर में बने इन्फ्यूश़न का भी इस्तेमाल किया जाता था।

Neem apki skin ka best doctor hai
नीम में पाया जाने वाले खास तत्व आपकी त्वचा से संक्रमण को दूर करते हैं।चित्र: शटरस्टॉक.

आज भी, नीम के पत्तों को गर्म पानी में भिगोकर रात भर रखकर अर्क बनाया जाता है। सुबह इस पानी का इस्तेमाल नहाने के लिए करें। इससे न केवल संक्रमण को रोका जा सकता है, बल्कि रैशेज और गर्मी से भी राहत मिलती है। इसी तरह मेथी के बीजों का भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

अंडर गारमेंट्स को बदलना है जरूरी 

आपके कपड़े भी साफ और स्वच्छ होने चाहिए। पसीना कपड़ों से चिपक जाता है, जिससे उनमें दुर्गंध हो जाती है। रोजाना अपने कपड़े बदलें, खासकर अपने अंडरक्लॉथ्स। गर्मी के मौसम में सूती कपड़े पहनें। सूती कपड़ों से पसीना आसानी से बाहर निकलकर सूख जाता है। साफ-सुथरा व सुगंधित रहने से आत्मविश्वास भी बढ़ता है।

आपकी त्वचा, बाल, दांत, नाखून और पैर, सभी को स्वस्थ और अच्छे दिखने के लिए नियमित देखभाल और सफाई की ज़रूरत होती है। अपने शरीर के हर भाग की देखभाल करने पर हमारा आत्मविश्वास बढ़ता है, जिससे हम अपना सर्वश्रेष्ठ कर पाते हैं और बेहतर महसूस करते हैं।

यह भी पढ़ें- इन 3 कारणों से आपके लिए किसी भी व्यक्ति या काम से ज्यादा जरूरी है नींद

Shahnaz Husain Shahnaz Husain

Shahnaz Husain is the founder, chairperson, and managing director of The Shahnaz Husain Group and is considered a pioneer in the realm of herbal beauty in India.

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स
पीरियड ट्रैकर के साथ।

ट्रैक करें