फॉलो

इन 4 तरीकों से अवसाद पहुंचा रहा है आपके यौन जीवन को नुकसान, जानिए इससे कैसे बचना है

Published on:10 July 2020, 20:40pm IST
लो सेक्स ड्राइव अवसाद और तनाव का एक साइड इफेक्ट है। लेकिन शुक्र है, कि आप इससे बच सकती हैं। एक्‍सपर्ट आपको यहां वे तरीके बता रहीं हैं जिससे आप अपना यौन जीवन बेहतर कर सकती हैं।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 92 Likes

हमने हमेशा सुना है कि सेक्स एंटी डिप्रेसेंट की तरह काम करता है। लेकिन तब क्या होगा जब आप में सेक्‍स करने की इच्‍छा ही कम होने लगे? इसलिए नहीं कि आप सेक्‍स कर नहीं सकते, बल्कि इसलिए क्‍योंकि अवसाद ने आपकी सेक्स ड्राइव को डाउन कर दिया है।

सोशल एंड पर्सनल रिलेश‍नशिप पत्रिका में प्रकाशित एक अध्ययन में पाया गया कि अवसाद या अन्य मानसिक स्वास्थ्य समस्‍याएं आपके यौन जीवन पर विनाशकारी प्रभाव डालती हैं। इसके कारण आप यौन संबंध बनाने में आत्‍मविश्‍वास की कमी का सामना करते हैं। किसी के साथ इंटीमेट होने में कठिनाई होती है, पार्टनर के साथ इंटीमेट बातचीत में आपको कठिनाई महसूस होने लगती है। खासतौर से आप सेक्‍स में पहल करने में घबराने लगती हैं और आपको ऐसा लगता है कि आप सेक्‍स ठीक से नहीं कर पाएंगी।

एक प्रसिद्ध क्लिनिकल साइकोलॉजिस्‍ट डॉ. भवाना बार्मी के अनुसार, “सेक्स एक आनंद की चीज है। जब आप उदास होता है, तो आपका मन उस आनंद के लिए तैयार नहीं हो पाता। आप हमेशा थके हुए हैं और यौन संबंधों को न्‍यूनतम प्राथमिकता पर ले जाने जैसा अनुभव करते हैं।”

दुर्भाग्य से, इसके लिए कुछ और कारण भी जिम्‍मेदार हैं। यहां हम पर चार तरीके बता रहे हैं जिससे यह पता चलेगा कि अवसाद आपके यौन जीवन को किस तरह परेशान कर रहा है:

1 आपके पार्टनर का सेक्‍सुअल डिस्‍फंक्‍शन

लेडीज, यह विशेष रूप से आपके पुरुष साथ के बारे में हैं। यदि आपको ऐसा लगता है कि वे आप में अब रुचि नहीं ले रहे और आपके साथ इंटीमेट होने का कोई संकेत नहीं दिखा रहे, तो इसके पीछे कारण अवसाद हो सकता है। यदि वास्‍तव में इसकी वजह अवसाद है, तो आपको और ज्‍यादा चिंतित हो जाना चाहिए। इंडियन जर्नल ऑफ सायकेट्री में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, अवसाद पुरुषों में यौन अक्षमता का कारण बन सकता है।

वास्तव में, इरेक्‍टाइल डिस्‍फंक्‍शन की सबसे बड़ी वजह चिंता है। जर्नल ड्रग, हेल्थकेयर एंड पेशेंट सेफ्टी  पत्रिका के अनुसार, इसके पीछे सबसे बड़ा कारण एंटीड्रिप्रेसेंट्स का इस्‍तेमाल है।

erectile dysfunction
इरेक्‍टाइल‍ डिस्‍फंक्‍शन की सबसे बड़ी वजह एंग्‍जायटी है। चित्र: शटरस्टॉक

2 ऑर्गेज्‍म न मिल पाना

लेडीज, ऑर्गेज्‍म तक पहुंचना आपके लिए मुश्किल हो सकता है अगर आप उदास हैं। एक यौन चिकित्सा जर्नल,  में प्रकाशित अध्ययन के अनुसार शोधकर्ताओं ने बताया कि अवसाद से पीड़ित महिलाओं में एक ऑर्गेज्‍म की प्राप्ति नहीं हो पाती। इसलिए उनमें यौन अंतरंगता की इच्‍छा कम होने लगती है। वास्तव में, गंभीर अवसाद से ग्रस्‍त महिलाओं के यौन अंग भी प्रभावित होने लगते हैं।

3 सेक्स शुरू करने में असमर्थता

ऐसा इसलिए होता है क्योंकि जब आपका दिमाग पहले से ही तनाव ग्रस्‍त है, तो वह  सेक्स के बारे में सोचना  छोड़ देता है।

डॉ. बार्मी के अनुसार, तनाव ग्रस्‍त  लोगों को सेक्स शुरू करने और आनंद लेने में कठिनाइयों का अनुभव होता है क्योंकि वे अवसाद से पीड़ित हो सकते हैं। महिलाओं में इस तरह की भावना ज्‍यादा और लगातार हो सकती है, जब वे सेक्‍स में असमर्थता या कमी का अनुभव करने लगती हैं। जिसका असर उनके समग्र यौन जीवन पर पड़ता है।

4 कामेच्छा में कमी

सेक्स एक रासायनिक प्रतिक्रिया है जो हमारे मस्तिष्क में होती है और वहां से हमारे यौनांग तक पहुंचती है। लेकिन जब हमारा मस्तिष्क ‘ऑफ’ मोड पर चला जाता है तो इसे सेक्‍स के लिए तैयार करने में काफी वक्‍त लगता है।

UTI from sex
कम सेक्स ड्राइव भी अवसाद का एक साइड इफेक्ट है। चित्र : शटरस्टॉक

“हम जानते हैं कि हमारी सभी यौन इच्छाएं मस्तिष्क से रिलीज होने वाले रसायनों से आती हैं और हमारे रक्त प्रवाह में परिवर्तन कर यौन गतिविधि के लिए तैयार करती हैं। डॉ बार्मी कहती हैं, अवसाद इन रसायनों के प्रवाह में व्यवधान पैदा करता है और आपकी यौन गति‍विधि को मुश्किल बना देता है।

हमने डॉ. बार्मी से पूछा कि इस समस्या को कैसे हल किया जा सकता है। इसके लिए उन्‍होंने वे सात बिंदुओं की ओर ध्‍यान दिलाया, जिन पर काम करने से आप अपना यौन जीवन बेहतर कर सकती हैं:

  1. आप चाहें तो सेक्‍स सेशन के बाद एंटी डिप्रेसेंट ले सकती हैं।
  2. नियमित रूप से व्यायाम आपके मूड और शारीरिक स्‍वास्‍थ्‍य में सुधार कर सकता है।
  3. अपने साथी से बात करें कि आपका अवसाद आपके यौन स्वास्थ्य को कैसे प्रभावित कर रहा है क्योंकि संवाद भले ही इस मुद्दे को पूरी तरह हल न कर पाए पर यह आपके गिल्‍ट और निष्‍ठा को ज्‍यादा बेहतर तरीके से स्‍पष्‍ट कर सकता है।
  4. अवसाद से ग्रस्‍त व्‍यक्ति और उनके साथ रहने वालों के लिए यह समझना महत्वपूर्ण है कि आपको कितनी बार सेक्स करना चाहिए या आपको सेक्स का आनंद कैसे लेना चाहिए, इसके लिए कोई मानक नहीं है।
  5. बेडरूम के भीतर और बाहर यौन संपर्क के बिना रोमांटिक होने की कोशिश करें।
  6. अंतरंगता को फिर से परिभाषित करें, क्योंकि अब आप अन्य चीजों को इसमें शामिल कर अपने पार्टनर के साथ अंतरंग होने का फायदा ले सकती हैं।
  7. आपको अपने डॉक्टर के साथ खुलकर बात करनी चाहिए। बहुत से लोगों ने यह अनुभव किया कि उन्‍हें जो यौन समस्‍याएं आ रहीं थीं, वे बेहतर उपचार के बाद दूर हुईं।
health benefits of masturbation
पार्टनर के साथ इंटीमेट होने पर परेशानी अनुभव हो तो आप हस्‍तमैथुन का सहारा ले सकती हैं। चित्र : शटरस्टॉक

“हस्तमैथुन यौन स्वास्थ्य लाभ दे सकता है और अवसाद का सामना करने वाले व्यक्ति को यौन आनंद लेने में मदद कर सकता है। कोई व्यक्ति जिसका साथी अवसाद से गुजर रहा है, वह अपनी यौन जरूरतों से निपटने के लिए भी इस तरीके का इस्‍तेमाल कर सकता है। जब तक कि उनका पार्टनर फि‍र से सेक्‍स के स्‍तर पर उनके साथ वैसे ही कनेक्ट महसूस न करने लगे।”

इसलिए, लेडीज, अवसाद किसी के भी यौन जीवन को प्रभावित कर सकता है, लेकिन कुछ चीजों का ध्‍यान रखकर आप इसे मैनेज कर सकती हैं।

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

संबंधि‍त सामग्री