Sex Headache : ये कोई बहाना नहीं, बल्कि सच्चाई है, जानिए इस पर क्या कहते हैं विशेषज्ञ

आमतौर पर लोग सेक्स से जुड़ा सिरदर्द हल्के में लेने की भूल कर जाते हैं। हालांकि, लोयोला यूनिवर्सिटी शिकागो स्ट्रिच स्कूल ऑफ मेडिसिन के न्यूरोलॉजिस्ट जोस बिलर ने इससे जुड़ी कई दिलचस्प जानकारियां शेयर की हैं।
सेक्स के बाद रोना नॉर्मल है। चित्र : शटरस्टॉक
टीम हेल्‍थ शॉट्स Published on: 24 January 2022, 18:30 pm IST
ऐप खोलें

एक आम धारणा है कि महिलाएं सेक्स से बचने के लिए अपने पार्टनर के सामने सिरदर्द का बहाना बना देती हैं। अक्सर, लोग इस बात पर जोक्स बनाते हैं या फिर दूसरे तरीकों से मजाक उड़ाते हैं। हालांकि, वैज्ञानिक और हेल्थ एक्सपर्ट्स इस पर अलग राय रखते हैं। उनके मुताबिक सेक्स से जुड़ा सिरदर्द एक आम या सामान्य समस्या नहीं है, बल्कि एक गंभीर मामला है। और ये आपकी सेक्स लाइफ पर कहर बरपा सकता है। ऐसा तो आप नहीं चाहेंगी न? तो जानिए क्या है ये और इससे कैसे बचा जाए। 

लोयोला यूनिवर्सिटी शिकागो स्ट्रिच स्कूल ऑफ मेडिसिन के न्यूरोलॉजी विभाग के एमडी जोस बिलर ने इस पर अपनी प्रतिक्रिया दी है, जो बेहद चौंकाने वाली है। 

आपके और पार्टनर दोनों के लिए खतरनाक

एमडी जोस बिलर कहते हैं, ”कई लोगों को सेक्सुअल एक्टिविटी के दौरान सिरदर्द जैसी समस्या होती है। इससे उन्हें संभोग के नाम पर ही तेज सिर दर्द हो हो जाता है। आमतौर पर कई लोगों को यह समस्या होती है लेकिन लोगों के साथ डॉक्टर्स भी इस पर अपनी बात रखने से बचते हैं। जबकि सामान्य दिखने वाली समस्या आम नहीं है। 

यह आप दोनों के लिए ख़राब अनुभव हो सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

यह आपके और अपने पार्टनर के लिए बेहद डरावना और दर्दनाक अनुभव हो सकता है। इस तरह का सिरदर्द सेक्सुअल एक्टिविटी के लिए बेहद नकारात्मक होता है। इसमें सिर में हल्का या तेज दर्द होने का अहसास हो सकता है।

दुनिया के एक फीसदी लोगों में है यह समस्या 

डॉ. बिलर कहते हैं, ”दुनिया की एक फीसदी आबादी है, जिन्हें सेक्सुअल एक्टिविटी के दौरान सिरदर्द (sex headache) होता है। कई बार यह दर्द बहुत तेज होता है। कई लोगों का मानना है कि तेज सिरदर्द की समस्या माइग्रेन या दूसरी समस्याओं के कारण होता है, लेकिन ऐसा नहीं है। 

सेक्सुअल एक्टिविटी के दौरान भी तेज सिरदर्द की समस्या होती है। आप इस दर्द को सामान्य दर्द नहीं मान सकते हैं। यह कई बार जानलेवा भी हो सकता है। सिर में तेज दर्द सबड्यूरल हेमेटोमा, ब्रेनहैमरेज, सर्वाइकल आर्टरी डिसेक्शन या स्ट्रोक के कारण भी हो सकता है। दर्द का सही पता लगाने के लिए न्यूरोलॉजिकल जांच करानी चाहिए। इसके बाद उचित उपचार लेना चाहिए। 

3 स्टेज में होता सेक्स से जुड़ा सिरदर्द

सेक्सुअल एक्टिविटी के दौरान होने वाला सिरदर्द एक नहीं, बल्कि तीन प्रकार का होता है। इंटरनेशनल हेडेक सोसायटी के मुताबिक, ”पहला दर्द सेक्सुअल एक्टिविटी के दौरान उत्तेजना (Stimulation) के पहले गर्दन और सिर में होता है। 

दूसरी बार उत्तेजना के बाद इंटरकोर्स के दौरान सिर में तेज दर्द की समस्या आती है। यह दर्द कई घंटों तक बना रहता है। यह दर्द एकाएक शुरू होता है और इससे महिलाएं कराह उठती हैं।

एक नहीं कई प्रकार के होते है सेक्स से सिरदर्द । चित्र:शटरस्टॉक

वहीं, तीसरा दर्द संभोग के बाद शुरू होता है, जिसमें हल्का या बेहद तेज दर्द हो सकता है। इस दर्द से परेशान लोगों को सीधे खड़े होने में दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। हालांकि, इस तकलीफ में  पीठ के बल लेट जाने से तुरंत राहत मिलती है। 

महिलाओं की तुलना पुरूषों में हो सकती है ज्यादा संभावना 

एक तरफ लोगों को लगता है कि इस तरह का सिरदर्द केवल महिलाओं को होता है, लेकिन यह एक भ्रांति है। प्रोफेसर बिलर का मानना है कि सेक्सुअल एक्टिविटी से जुड़े सिरदर्द की समस्या महिलाओं की तुलना में पुरूषों में तीन से चार गुना अधिक होती है। 

इस तरह के दर्द से निपटने के लिए विशेषज्ञ की सलाह पर दवाएं ली जा सकती है। वहीं, ज्यादातर मामलों में डॉक्टर्स हेल्दी डाइट, एक्सरसाइज, स्मोकिंग और शराब छोड़ने की सलाह देते हैं। 

यह भी पढ़े :आपके पार्टनर को भी है फोरप्ले की ज़रूरत, हमसे जानिए इसके 4 फायदे

लेखक के बारे में
टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
Next Story