वैलनेस
स्टोर

Covid and sex : विशेषज्ञ से जानिए कोविड रिकवरी के कितने दिन बाद सेक्‍स करना होता है सुरक्षित

Published on:23 May 2021, 14:00pm IST
आइसोलेशन की लंबी अवधि के बाद आप अपने पार्टनर से मिलना चाहती हैं। पर अभी आपको कुछ दिन और सावधान रहने की जरूरत है।
Dr. S.S. Moudgil
  • 93 Likes
विशेषज्ञ अभी आपको कुछ दिन सतर्क रहने की सलाह देते हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

कोरोनावायरस के मामले में यह सोचना जरूरी नहीं है कि शरीर के किस अंग पर प्रभाव पड़ा है। इससे ज्‍यादा यह सोचना जरूरी है कि कोरोना ने शरीर का कोई अंग छोड़ा भी है या नहीं। आज हम बात करेंगे उस अंग की जिस पर दुनिया का वजूद टिका है- जी मैं सेक्स की बात कर रहा हूं। लोग जानना चाहते हैं कि कोविड से रिकवरी के कितने दिन बाद सेक्‍स करना सुरक्षित होता है।

जब भी हम कोरोना के इफेक्ट या दुष्प्रभाव पर विचार करते हैं, तो इन पर आए कुछ शोधों को पढ़ लेना जरूरी है। पर उससे पहले मुझे अल्बर्ट आइंस्‍टीन पर आधारित एक किस्सा याद आता है। उनसे जीवन के अंतिम वर्षो में एक पत्रकार ने पूछा था, आप अपनी इतनी बड़ी उपलब्धि पर कैसा महसूस करते हैं?

इस पर उनका जवाब था, “मुझे नहीं पता कि मैं दुनिया को क्या दिखता हूं, लेकिन मुझे लगता है कि मैं एक बच्चे की तरह समुद्र के किनारे खेल रहा हूं, और साधारण से बेहतर अधिक चिकना कंकड़ या सुंदर सीप ढूंढ रहा हूं। जबकि सत्य का महान महासागर मेरे सामने अनदेखा मौजूद है।

हम अब भी कोरोनावायरस के प्रभाव का अध्‍ययन कर रहे हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

कुछ कुछ ऐसा ही दुनिया भर के वायरोलोजिस्ट का हाल है। एक तो जब यह सोचने लगते हैं कि हम कोरोनावायरस के बारे में कुछ जानते हैं, तो यह पता चलता है कि हम अभी बहुत कुछ नहीं जानते। क्या फरवरी 2019 में हमने सोचा था कि लोगों को मास्क पहनना पड़ेगा!

कोविड और सेक्‍स

सेक्स की बात करते हैं, तो दो सवाल खड़े होते हैं क्या कोरोना सेक्स ड्राइव पर कोई दुष्प्रभाव डालता है? और दूसरा क्या कोरोना पीड़ित या कोरोना से ठीक हुआ व्यक्ति अपने पार्टनर को कोरोना से संक्रमित कर सकता है?

हम पहले सवाल से आरंभ करते हैं

बीमारी के सभी संभावित परिणामों को पहचानने और उनका इलाज करने के लिए सभी पहलुओं का अध्ययन करना बहुत महत्वपूर्ण है।

असाधारण परिस्थितियों में मानसिक स्वास्थ्य पर पड़ने वाले प्रभाव को ध्यान में रखते हुए यह निर्धारित करना महत्वपूर्ण है कि क्या इससे किसी तरह की यौन और प्रजनन संबंधी समस्याएं भी पैदा हुई हैं।

इस पर अब भी अध्‍ययन जारी हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

अभी तक किसी भी डेटा ने यह सुझाव नहीं दिया है कि कोरोनावायरस रोगियों की कामुकता को प्रभावित कर सकता है या नहीं। हालांकि हम कोरोना वायरस से प्रभावित रोगियों के बारे में डेटा प्राप्त करने की प्रक्रिया में कुछ दिलचस्प मामलों का जिक्र जरूर करेंगे।

एक महत्‍वपूर्ण मामला

रॉबर्ट नामक एक 39 वर्षीय इंजीनियर व उसकी खूबसूरत पत्नी शिक्षिका अन्ना है। कोरोना से पूर्व उनके पास उत्कृष्ट वेतन, सुंदर आराम दायक घर और उन दोनों में घुमक्कड़ी का जुनून था। रॉबर्ट जनवरी 2020 में एक परफेक्ट इरेक्टाइल फंक्शन में था और दोनों ही अपनी सेक्सुअल एक्टिविटी से पूरी तरह संतुष्ट थे।

27 फरवरी को उन्हें और उनकी पत्नी को सांस संबंधी हल्के लक्षण होने लगे। जिसके परिणामस्वरूप Sars-Cov-2 के लिए उनका टेस्‍ट पॉजिटिव आया। 2 सप्ताह के बाद लक्षण गायब होने के बावजूद वह और उनकी पत्नी क्रमशः 57 और 64 दिनों तक अस्‍वस्‍थ रहे।
संक्रमण के पहले महीने के दौरान दोनों भयभीत और निराश थे और उन्होंने उस अवधि के दौरान किसी भी तरह के संभोग का प्रयास नहीं किया।

संक्रमण के दूसरे महीने में उन्होंने अपने सामान्य यौन जीवन में वापस आने की कोशिश की। रॉबर्ट में इरेक्शन कमी के कारण संभोग संभव न हुआ। दूसरी ओर, अन्ना की यौन इच्छा भी शून्य हो गई। वे दोनों ही अब इलाज करवा रहे हैं। ऐसे कुछ अन्य मामले भी देखे गए हैं, जिनका विस्तृत अध्यन जारी है।

क्‍या सेक्‍स के माध्‍यम से कोरोना संक्रमण संभव है?

अब आते हैं दूसरे सवाल पर यानी क्या सेक्स के माध्यम से कोरोना संक्रमण संचार संभव है? क्या कोई महिला एक पुरुष यौन साथी से जो COVID-19 से ठीक हो गया है, से संक्रमण पकड़ सकती है?

कुछ मरीजों के वीर्य में वायरस की मौजूदगी देखी गई है। चित्र: शटरस्‍टॉक

एक छोटे अध्ययन में सक्रिय संक्रमण के दौरान एक चौथाई रोगियों में वीर्य में नए कोरोनावायरस का पता चला है। ठीक हुए लोगों में 10% ऐसे हैं। इस अध्ययन में, वायरल आरएनए का पता चला था। यह आरएनए अभी भी संक्रामक है या वीर्य में मृत वायरस था और यदि जीवित है तो क्या वायरस यौन संचारित हो सकता है, ऐसे कई अहम सवाल अभी भी अनुत्तरित हैं।

सावधानी बरतना है जरूरी

पिछले महीने एक अध्ययन में शोधकर्ताओं ने कहा कि रोगियों के वीर्य के नमूनों में वायरस का कोई सबूत नहीं मिला। जिससे उन्होने COVID-19 यौन संचारित नहीं होने का सुझाव दिया, लेकिन तभी एक नया अध्ययन बहुत सटीक विपरीत तथ्य लेकर आ गया।

अमेरिकन मेडिकल एसोसिएशन के जर्नल में पिछले सप्ताह प्रकाशित नए अध्ययन में पाया गया कि वीर्य के नमूनों में वास्तव में COVID-19 के सबूत मौजूद थे।

अध्ययन में चीन के हेनान प्रांत में COVID-19 के 38 पुरुष रोगियों के वीर्य के नमूनों का विश्लेषण किया गया। जिसमें 16 प्रतिशत नमूनों में वायरस के सबूत पाए गए। पिछला अध्ययन, पिछले महीने फर्टिलिटी एंड स्टेरिलिटी पत्रिका में प्रकाशित हुआ था। जिसमें 34 चीनी पुरुषों के वीर्य में COVID-19 का कोई सबूत नहीं मिला, जिनको परीक्षण में कोविड पॉज़िटिव पाया गया था।

जबकि सबसे हालिया अध्ययन में शोधकर्ताओं ने उल्लेख किया कि वीर्य में वायरस की उपस्थिति का मतलब यह नहीं है कि COVID-19 यौन संचारित हो सकता है। वे फिर भी रोगियों को सावधानी बरतने की सलाह दे रहे हैं।

कॉन्डोम यौन संचरित रोगों से बचा सकती है। चित्र: शटरस्‍टॉक

पेचीदा है स्‍पर्म में वायरस की उपस्थिति का मामला

शोधकर्ता लिखते हैं, “वीर्य में वायरस की उपस्थिति वर्तमान में समझ में आने से अधिक पेचीदा हो सकती है और संक्रमित वायरस को जननांग स्राव (Vaginal discharge) में पूरी तरह से अनुपस्थित नहीं माना जाना चाहिए।” लेखकों ने यह भी सुझाव दिया कि वायरस रक्तप्रवाह के माध्यम से वीर्य में प्रवेश कर सकता है।

तो कितने दिन बाद सेक्‍स करना है सेफ

इनसाइडर के अनुसार, विशेषज्ञ अब एहतियात के तौर पर ठीक होने के बाद 30 दिनों तक सेक्स से परहेज करने की चेतावनी दे रहे हैं।

विशेषज्ञों का सुझाव है कि यौन संबंध बनाने से पहले वायरस से ठीक होने के 30 दिन बाद तक प्रतीक्षा करें। अधिक शोध आने तक कंडोम का उपयोग करें। अगर सन्तान पैदा करने की जल्दी हो तो कम से कम तीन बार वीर्य में वायरस होने की जांच करवाएं व नेगेटिव आने पर ही बिना कंडोम सेक्स करें।

यह भी पढ़ें – डिल्डो, वाइब्रेटर या ऑर्गेज्‍म बॉल्स : आइये जानते हैं सेक्स टॉयज के बारे में सब कुछ

Dr. S.S. Moudgil Dr. S.S. Moudgil

Dr. S.S. Moudgil is senior physician M.B;B.S. FCGP. DTD. Former president Indian Medical Association Haryana State.