Sex after Childbirth: जानिए डिलीवरी के बाद कब है सेक्स को फिर से शुरू करने का सही समय

बच्चे के जन्म के बाद सेक्स करने से पहले आपको कितना इंतजार करना चाहिए? इसके लिए सुनी-सुनाई बातों पर भरोसा करने से बेहतर है कि एक एक्सपर्ट के सुझावों पर ध्यान दिया जाए।

pregnancy mein sex
गर्भावस्था में सेक्स करना सही है या नहीं। चित्र : शटरस्टॉक
टीम हेल्‍थ शॉट्स Published on: 24 April 2022, 20:00 pm IST
  • 130

गर्भावस्था और प्रसव के बाद सेक्स लाइफ की शुरुआत करना थोड़ा कठिन लग सकता है। गर्भावस्था के दौरान कोई जटिलता नहीं होने की स्थिति में संभोग को फिर से शुरू करने के लिए नई माओं को प्रसव के बाद कम से कम 6 सप्ताह तक इंतजार करने की सलाह दी जाती है। ऐसा इसलिए है क्योंकि गर्भावस्था के दौरान महिला जननांग और प्रजनन अंगों का आकार बढ़ जाता है और अंगों को गर्भावस्था से पहले के आकार में वापस आने में 6 सप्ताह लगते हैं।

प्रेगनेंसी और प्रसव के दौरान योनि पतली हो जाती है। जिससे उसे चोट लगने की संभावना अधिक हो जाती है। यही कारण है कि स्त्री रोग विशेषज्ञ तब तक संभोग से बचने की सलाह देते हैं, जब तक कि योनि गर्भावस्था से पहले के आकार और लोच में वापस न आ जाए।

प्रेगनेंसी के बाद सेक्स करने का इंतजार क्यों करें?

वेजाइनल और सिजेरियन बर्थ गर्भाशय ग्रीवा और योनि की चोटों से जुड़े हो सकते हैं। संभोग के दौरान दर्द से बचने के लिए संभोग शुरू करने से पहले इन्हें पर्याप्त आराम देना जरूरी है। इसके अलावा, यदि प्रसव कुछ जटिलताओं से जुड़ा है, जैसे कि पेरिनियल टीयर, तो जोड़े को कुछ दिन और प्रतीक्षा करनी चाहिए, जब तक कि यौन क्रिया को फिर से शुरू करने से पहले टीयर पूरी तरह से ठीक नहीं हो जाते।

गर्भावस्था के बाद सेक्स करने से पहले ध्यान रखें ये बातें

प्रसवोत्तर के बाद रिकवर होने के लिए नई माताओं को निम्नलिखित बातों को ध्यान में रखना चाहिए।

जननांग और प्रजनन अंगों की देखभाल करने के लिए और इन्हें अच्छे से रिकवर कराने के लिए उचित आराम करें।

साथ ही, जन्म के बाद के पहले कुछ महीनों में बच्चे की देखभाल करने में एक मां का बहुत समय, ऊर्जा और प्रयास लग सकता है। मगर मां को अपने और अपने परिवार की भलाई के लिए खुद की जरूरतों को पहचानने और उन पर काम करने की जरूरत है।

pregnancy ke baad sex
गर्भावस्था के बाद सेक्स करने का सही समय कब है। चित्र:शटरस्टॉक

गर्भावस्था के बाद सेक्स शुरू करते समय, कुछ चीजें हैं जो नई मां अपने आराम और आनंद को अधिकतम करने के लिए सुनिश्चित कर सकती हैं।

सबसे पहले, सुनिश्चित करें कि किसी भी यौन क्रिया को फिर से शुरू करने से पहले योनि का एपीसीओटॉमी पूरी तरह से ठीक हो गया है।

कीगल एक्सरसाइज का अभ्यास करने से भी पेल्विक फ्लोर की मांसपेशियों को टोन करने में मदद मिल सकती है।

गर्भावस्था से बचने के लिए हमेशा उपयुक्त गर्भनिरोधक विधियों का उपयोग करना याद रखना चाहिए, क्योंकि प्रसव के 6 सप्ताह बाद ही ओव्यूलेशन फिर से शुरू हो सकता है।

योनि के सूखेपन से बचने के लिए पानी आधारित स्नेहक का उपयोग करने की भी सलाह दी जाती है।

यदि आप संभोग के बाद तेज दर्द का अनुभव करती हैं, तो विशेषज्ञ की सलाह लेने में संकोच न करें।

दर्द को संभोग का अभिन्न अंग न समझें और किसी भी तरह की परेशानी होने पर विशेषज्ञ की मदद लें।

सभी नई माताओं के लिए यह अनुशंसा की जाती है कि वे अपनी शंकाओं का समाधान करने, अपने डर को दूर करने और यह सुनिश्चित करने के लिए अपने डॉक्टर से बातचीत करें और यह सुनिश्चित करें कि उनका शरीर प्रसवोत्तर संभोग के लिए शारीरिक रूप से तैयार है या नहीं।

यह भी पढ़ें : गर्मी में परेशान कर सकत हैं बट एक्ने, इन 5 उपायों से कहें उन्हें अलविदा

  • 130
लेखक के बारे में
टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory