लिबिडो बढ़ानी है तो स्मोकिंग छोड़िए! जानिए कैसे आपकी सेक्स लाइफ को प्रभावित करती है स्मोकिंग की आदत

धूम्रपान छोड़ने के कुछ दिनों बाद से ही आपको त्वचा, लंग्स, दिल की सेहत में सुधार नजर आना शुरू हो जाता है इसके साथ यह आपके रीप्रोडक्टिव हेल्थ और सेक्सुअल हेल्थ में भी सकारात्मक बदलाव नजर आएंगे।
Smoking effect on sexual health
यहां जानें स्मोकिंग छोड़ने से किस तरह आपकी सेक्सुअल लाइफ हो सकती है बेहतर। चित्र : एडॉबीस्टॉक
अंजलि कुमारी Published: 18 Jul 2023, 21:00 pm IST
  • 145

स्मोकिंग आपके होंठ, फेफड़े और यहां तक कि ओरल हेल्थ को भी प्रभावित करती है। इसके बावजूद कुछ लोग स्मोकिंग को अपना स्टाइल स्टेटमेंट बनाए रखते हैं। उन्हें शायद यह नहीं मालूम कि स्मोकिंग की लत उनकी सेक्स लाइफ काे भी बर्बाद कर सकती है। तो आज हम स्मोकिंग के नुकसान नहीं, बल्कि स्मोकिंग छोड़ने के फायदों पर चर्चा करेंगे।

धूम्रपान छोड़ने के कुछ दिनों बाद से ही आपको त्वचा, लंग्स, दिल की सेहत में सुधार नजर आना शुरू हो जाता है इसके साथ यह आपके रीप्रोडक्टिव हेल्थ और सेक्सुअल हेल्थ में भी सकारात्मक बदलाव नजर आएंगे। हो सकता है स्मोकिंग करते हुए आप अपनी सेक्स लाइफ को उस कदर इंजॉय नहीं कर रही थी जितना कि आप स्मोकिंग छोड़ने के बाद कर सकती हैं।

हेल्थ शॉट्स ने इस विषय पर ऑब्सटेट्रिशियन, गाइनेकोलॉजिस्ट और इनफर्टिलिटी स्पेशलिस्ट डॉक्टर मृदुला राघव से बात की, उन्होंने सेक्स और स्मोकिंग के संबंध में कुछ जरूरी बातें बताई हैं। तो चलिए जानते हैं आखिर स्मोकिंग छोड़ना हमारी सेक्स लाइफ के लिए किस तरह फायदेमंद हो सकता है (Smoking effect on sexual health)।

पुरुष और महिला दोनों के सेक्सुअल हेल्थ को प्रभावित करती है स्मोकिंग (Smoking effect on sexual health)

डॉक्टर के अनुसार “स्मोकिंग की लत फ्री रेडिकल्स का फॉरमेशन करती है, जिसकी वजह से पुरुषों के स्पर्म में ऑक्सीडेटिव डैमेज देखने को मिलता है। ऐसे में स्पर्म काउंट पर नकारात्मक असर पड़ता है।

जो पुरुष चेन स्मोकिंग करते हैं उनमें जीरो स्पर्म काउंट का खतरा भी बना रहता है। इसके अलावा में पुरुषों में इरेक्टाइल डिस्फंक्शन की समस्या देखने को मिलती है। पुरुषों का पेनिस पूरी तरह से इरेक्ट नहीं हो पाता और सेक्सुअल डिजायर में भी कमी आती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि स्मोकिंग के कारण ब्लड वेसल्स और नर्वस डैमेज हो जाते हैं और इरेक्शन नहीं हो पाता।

smoking
प्रेगनेंसी प्लान कर रही हैं तो पहले स्मोकिंग छोड़ें। चित्र : शटरस्टॉक

इसके साथ ही महिलाओं में यह वेजाइनल ड्राइनेस और पेनफुल सेक्स का कारण बनती है। इतना ही नहीं महिलाओं के लिबिडो में भी कमी आती है। साथ ही यदि कोई महिला चेन स्मोकिंग करती हैं, तो उनमें इनफर्टिलिटी का खतरा भी बढ़ जाता है।

यह भी पढ़ें : Period sex : पूरी तरह से सुरक्षित है पीरियड्स सेक्स, पर जानिए आपको इस दौरान किन चीजों का ध्यान रखना है

यहां जानें स्मोकिंग छोड़ने से किस तरह आपकी सेक्सुअल लाइफ हो सकती है बेहतर

1. लिबिडो में इजाफा होने लगता है

स्मोकिंग छोड़ते आपका स्ट्रेस लेवल काफी कम हो जाता है और यह आपके हार्मोन के स्तर को सामान्य स्थिति में लौटने में मदद करता है, जिससे कि आपकी सेक्स लाइफ में काफी पॉजिटिव बदलाव नजर आते हैं। यह आपकी और आपके पार्टनर के लिबिडो यानी कि सेक्सुअल डिजायर को बढ़ावा देता है, जिससे कि आप अपने पार्टनर के साथ सेक्सुअल एक्टिविटी को अधिक इंजॉय कर पाती हैं।

2. ब्लड सर्कुलेशन हो जाता है बेहतर

सिगरेट में मौजूद निकोटिन ब्लड वेसल्स को कॉन्ट्रैक्ट कर देती है जिससे कि ब्लड फ्लो प्रभावित होता है। धूम्रपान छोड़ने की एक एक सबसे अच्छी बात यह है कि आपके बॉडी में ब्लड सर्कुलेशन बेहतर हो जाता है। इस स्थिति में शरीर में हर जगह पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन पहुंचता है। हेल्दी ब्लड सर्कुलेशन प्लेजर सेंसेशन को बढ़ावा देता है, साथ कि आपके पार्टनर के इलेक्शन को भी इंप्रूव करता है।

sex life ko healthy banate hai yeh tips
ओवरऑल लाइफ की क्वालिटी को निखारने के लिए सेक्स बेहद ज़रूरी है। चित्र : एडॉबीस्टॉक

3. बेहतर होती है सेक्सुअल परफॉर्मेंस

स्मोकर्स अक्सर अपने बेडरूम में सेक्सुअल एक्टिविटी को परफॉर्म करते हुए जल्दी थक जाते हैं। अब चाहे वह महिला हो या पुरुष यह दोनों जेंडर पर लागू होता है। जैसे ही आप स्मोकिंग छोड़ती हैं तो आपके शरीर में खून के संचार में सुधार आता है जिसे हम हेल्दी ब्लड सर्कुलेशन कहते हैं। इस स्थिति में हमारे शरीर में पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन पहुंचता है जिससे कि स्टैमिना और एनर्जी दोनों बूस्ट होते हैं और आप लंबे समय तक अपनी सेक्सुअल एक्टिविटी को इंजॉय कर सकती हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें

स्मोकिंग छोड़ने के बाद अपनी सेक्स लाइफ को बेहतर बनाने के लिए सेक्स गेम, योगा एक्सरसाइज इत्यादि को पूरी ऊर्जा के साथ इंजॉय कर पाएंगी। इसलिए आज ही स्मोकिंग छोड़े और अपने पार्टनर को भी धूम्रपान छोड़ने के लिए प्रेरित करें।

4. पुरुषों के इरेक्शन में सुधार होता है

धूम्रपान छोड़ते ही आपके पार्टनर बेहतर इरेक्शन का अनुभव करते हैं। सिगरेट में मौजूद निकोटिन ब्लड वेसल्स को कॉन्ट्रैक्ट कर देती है जिससे कि पेनिस तक पर्याप्त मात्रा में ब्लड नहीं पहुंचता और यह इरेक्टाइल डिस्फंक्शन का कारण बनता है। में स्मोकिंग छोड़ने से आपका ब्लड सर्कुलेशन इंप्रूव होता है जिससे आपके समग्र शरीर में पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन और ब्लड पहुंच पता है, ऐसे में इरेक्शन में मदद मिलती है।

यह भी पढ़ें : Sex with IUD : क्या आईयूडी लगे होने पर डीप पेनेट्रेटिव सेक्स जोखिम भरा हो सकता है? एक्सपर्ट से जानते हैं ऐसे ही कुछ सवालों के जवाब

  • 145
लेखक के बारे में

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
अगला लेख