फॉलो
वैलनेस
स्टोर

नए रिश्ते की शुरुआत कर रही हैं? शारीरिक संबंध बनाने से पहले जरूर करवाएं इन 5 यौन संक्रामक रोगों की जांच

Updated on: 10 December 2020, 13:36pm IST
कुछ भी हो,आपका स्वास्थ्य सर्वोपरि है। इसलिए अगर नए रिश्ते की शुरुआत कर रही हैं, तो ध्यान रखें कि आपका पार्टनर ये इन 5 यौन संक्रामक रोगों की जांच जरूर करवाए।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 89 Likes
यौन रोग से नहीं बचाती है स्पेर्मिसाइडल क्रीम। चित्र: शटरस्‍टॉक

सेक्सुअली ट्रांसमिटेड बीमारियों (STD) के बारे में सबसे बड़ी अवधारणा है कि अगर आप इससे ग्रस्त हैं, तो आपको पता लग जाएगा। ऐसा बिल्कुल नहीं है। अधिकांश लोगों को STD के कोई भी लक्षण नजर नहीं आते हैं, जब तक बीमारी गंभीर स्तर तक नहीं पहुंचती। यही कारण है कि आपको अपने पार्टनर को सभी जरूरी टेस्ट करवाने की सलाह देनी चाहिए।

अगर आपके पार्टनर के अन्य सेक्सुअल पार्टनर रहे होंगे, बहुत संभावना है कि वह किसी STI के सम्पर्क में आये हों। इसलिये यह समय ईमानदारी से बात करने का है।
इन 5 STD के टेस्ट जरूर करवाएं-

पाएं अपनी तंदुरुस्‍ती की दैनिक खुराकन्‍यूजलैटर को सब्‍स्‍क्राइब करें

1. क्लेमीडिया

अमेरिकन सेंटर ऑफ डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के अनुसार हर व्यक्ति को साल में कम से कम एक बार क्लेमीडिया की जांच जरूर करवानी चाहिए। अगर आपका पार्टनर सेक्सुअली एक्टिव रहा है और उनके एक से अधिक पार्टनर रहे हैं, तो उनसे टेस्ट कराने को कहें। इस टेस्ट में सिर्फ आपके यूरिन सैंपल की जरूरत होती है और कोई दर्द नहीं होता।

यौन संबंध बनाने से पहले इन रोगों पर बात जरूर करें। चित्र: शटरस्‍टॉक
यौन संबंध बनाने से पहले इन रोगों पर बात जरूर करें। चित्र: शटरस्‍टॉक

2. गोनोरिया

गोनोरिया के लिए भी साल में एक बार जांच कराने की सलाह दी जाती है। एक नया पार्टनर आपका गोनोरिया के जोखिम को कई गुना बढ़ा सकता है। अगर आपके पार्टनर ने ओरल या ऐनल सेक्स पहले कभी किया है, तो डॉक्टर को यह भी बताएं। गोनोरिया ऐनल और ओरल सेक्स से भी फैलता है।

3. HIV

सेंटर ऑफ डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन सुझाता है कि 13 से 64 साल की उम्र के हर व्यक्ति को एक बार तो HIV का टेस्ट जरूर करवाना चाहिए। CDC के अनुसार, HIV के 25 प्रतिशत मरीजों को यह भी नहीं पता होता कि उन्हें HIV है। इसलिए यह टेस्ट कराना आप दोनों की जिंदगी बचा सकता है।

4. जेनाइटल हर्पीस

हर्पीस एक आम सेक्सुअली ट्रांसमिटेड इन्फेक्शन है जिसके प्रमुख लक्षण जेनिटल हिस्सो में दर्द, छाले और खुजली हैं। लेकिन कई बार व्यक्ति को इंफेक्शन के लक्षण नजर नहीं आते। इसलिए इसकी जांच करवाने की सलाह दी जाती है। अगर कोई लक्षण नहीं हैं तो खून का सैंपल लेकर जांच की जाती है। अगर लक्षण हैं, तो प्रभावित हिस्से का स्वाब सैम्पल लिया जाता है।

जेनिटल हर्पीस किसी को भी हो सकता है। चित्र : शटरस्टॉक।
जेनिटल हर्पीस किसी को भी हो सकता है। चित्र : शटरस्टॉक।

5. सिफलिस

सिफलिस एक बैक्टीरियल इंफेक्शन है जो शुरुआत में अक्सर दर्दहीन दाने के रूप में नजर आता है। अगर शुरुआती स्टेज में इसका पता नहीं चला तो यह आपके दिमाग, नसों, आंखों, यहां तक कि दिल को भी गंभीर नुकसान पहुंचा सकता है। सुरक्षा के नजरिए से, आवश्यक है कि आपका पार्टनर सिफलिस की जांच जरूर करवाएं।

अब STI बहुत कॉमन हो गयी हैं, फिर भी लोग आगे आकर जांच करवाने में झिझकते हैं। इसमें शर्म की कोई बात नहीं है। अपने पार्टनर से अपनी और उनकी सुरक्षा के लिए टेस्ट कराने की बात करने में कोई बुराई नहीं है।

यह भी पढ़ें – महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए बुरा नहीं है मास्टरबेशन, बस इन 4 चीजों का जरूर रखें ध्‍यान

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।