फॉलो

सैनि‍टरी नेपकिन भी दे सकते हैं पीरियड्स में वेजाइना में खुजली

Published on:29 June 2020, 21:20pm IST
क्या आप जानती हैं कि पीरियड्स में इस्तेमाल किया जाने वाला सैनिटरी पैड या टैंपून आपके इंटीमेट पार्ट में इचिंग की समस्या पैदा कर सकता है, वो भी ऐसे समय में जब हेल्पलैस होती हैं…
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 74 Likes
वेजाइना में होने वाली खुजली, लाल निशान और जलन के 0.7% मामले सैनिटरी नैपकिन के कारण होते हैं। चित्र : शटरस्टॉक

दर्द, ऐंठन, सिरदर्द,मूड स्विंग, बेचैनी और थकान पीरियड्स के दौरान परेशान करती है। पर यहां मैं एक और परेशानी के बारे में बात कर रही हूं! जो आपके उन पांच दिनों को और भी ज्यादा मुश्किल बना सकती है। वह है वेजाइना में होने वाली खुजली (Itchy Vagina)। जो आपके सैनिटरी पैड्स या टैंपून आपको दे सकते हैं।

जब भी आप यह सोचने लगते हैं कि आपके पीरियड अब आपको ज्यादा परेशान नहीं कर रहे हैं, तभी कोई न कोई नई परेशानी खड़ी हो जाती है।

अगर आपको ऐसा लग रहा है कि वेजाइना में होने वाली खुजली किसी यौन-संचारित रोग, बैक्टीरिया या यीस्ट इंफेक्शन की ओर इशारा कर रही है, तो पहले एक बार अपने सैनिटरी पैड्स को भी चैक कर लीजिए।

जी हां, पीरियड्स को आसान बनाने वाले सैनिटरी पैड्स भी कभी-कभी परेशानी का कारण बन सकते हैं-

कैनेडियन मेडिकल एसोसिएशन जर्नल में प्रकाशित एक रिव्यूड के अनुसार, सैनिटरी नैपकिन के उपयोग के कारण आपके इंटीमेट पार्ट में कई तरह की समस्याएं हो सकती हैं। खासतौर से जब आपके वेजाइना का बाहरी हिस्सा वल्वा सैनिटरी नैपकिन के संपर्क में आता है तो वह कुछ इरिटेशन महसूस करता है। जिससे वेजाइना में खुजली और बेचैनी हो सकती है। इस स्थिति को वुल्वटिस भी कहा जाता है, जिससे निपटना थोड़ा मुश्किल लगता है।

सैनिटरी नैपकिन क्यों देते हैं इस तरह की तकलीफ ?

एक नॉन प्रोफि‍ट ऑर्गनाइजेशन वुमेन्स वॉइस फोर दि अर्थ (डब्ल्यूडब्ल्यूई) की एक हालिया रिपोर्ट में यह बात सामने आई है कि कुछ स्त्री स्वच्छता उत्पादों में एलर्जी पैदा करने वाले रसायनों का उपयोग हुआ है जिसके कारण वेजाइना में खुजली होती है।

हमारे द्वारा उपयोग किए जाने वाले पैड व्यापक रासायनिक उपचार से गुजरते हैं। जिससे उन्हें ज्यादा से ज्यादा सोखने वाला बनाया जा सके। पैड अपनी जगह से खिसके नहीं और अच्छी तरह टिका रहे, इसके लिए उत्पाद निर्माता चिपकने वाले शक्तिशाली रसायन इस्तेमाल करने से भी नहीं कतराते।

पबमेड सेंट्रल में प्रकाशित एक शोध में यह देखा गया कि वेजाइना में होने वाली खुजली, लाल निशान और जलन के 0.7% मामले सैनिटरी नैपकिन के कारण होते हैं।

हैवी फ्लो में मेन्ट्रुअल कप का इस्तेमाल सैनिटरी पैड से होने वाली समस्या से भी बचा सकता है। चित्र : शटरस्टॉक

यह बताने की जरूरत नहीं कि पीरियड स्मैल को दूर रखने के लिए सैनिटरी नै‍पकिन में जो सुगंध इस्तेमाल की जाती है, वह भी वेजाइना के अनुकूल नहीं है। ये सभी मिलकर योनि के लिए परेशानियां उत्पन्न कर देते हैं।

एक और बात, पैड की बार-बार रगड़ से भी वेजाइना में खुजली और असहजता हो सकती है।
तो, आप इस गड़बड़ से कैसे निपट सकते हैं?

जाहिर है, पीरियड के दौरान आप सैनिटरी पैड यूज करना बंद तो नहीं कर सकतीं। इसलिए आप कोशिश करें कि इस दौरान बिना सुगंध वाले सैनिटरी पैड्स का इस्तेमाल करें। कोशिश करें कि एक ही पैड को बहुत ज्यादा देर तक न रखें। इसके अलावा हैवी फ्लो में मेन्ट्रुुअल कप का इस्तेमाल सैनिटरी पैड से होने वाली समस्या से भी बचा सकता है।

कोशिश करें कि कॉटन बेस्ड सैनिटरी नैपकिन का इस्तेमाल करें। अंडरवियर भी ज्यादा चिपकने वाला न हो, जिससे हवा पास होती रहे। इससे आप अनावश्यक पसीने, खुजली और इरिटेशन से बच सकते हैं। और आखिर में, अगर आपको ऐसा महसूस हो रहा है कि खुजली बर्दाश्त से भी ज्यादा हो रही है तो अपनी गाइनीकॉलोजिस्ट से जरूर मिलें।

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

संबंधि‍त सामग्री