फॉलो

कूल ! आप पीरियड्स में भी व्यायाम कर सकती हैं, हम बताते हैं इसकी 4 वजह

Updated on: 13 June 2020, 22:30pm IST
वर्कआउट आपको उन 5 दिनों के दौरान होने वाले कष्ट से बाहर निकालने में आपकी मदद करेगा। इसे करने से आपको उन दिनों के दर्द का एहसास भी नहीं होगा।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 88 Likes
व्यायाम करें और उन दिनों के दर्द को कहें बाय-बाय। चित्र सौजन्य: शटरस्टॉक

आप यकीन करें या ना करें लेकिन पीरियड्स की प्रॉब्लम्स का इलाज है वर्क आउट। जब आप दर्द भरे पीरियड से गुजर रहीं हो तब आप ऐसा सोच भी नहीं सकती कि बाहर निकल कर वर्कआउट कियाक जाए। पर अब घर में कुछ ईजी एक्‍सरसाइज कर सकती हैं।

तो तैयार हो जाइए क्योंकि हम आपके लिए ऐसे कुछ एक्सरसाइज लाएं हैं। जिन्हें अगर आप पीरियड्स के दौरान करेंगे तो वह आपके सभी कष्टों को दूर कर देगा। यदि आपने ऐसा सोच रखा है कि पीरियड के दौरान आपको एक्सरसाइज नहीं करनी चाहिए तो हम आपके ये सभी वहम दूर करने वाले हैं। 

बल्कि वर्कआउट आपको उन 5 दिनों के दौरान होने वाले कष्ट से बाहर निकालने में आपकी मदद करेगा। इसे करने से आपको उन दिनों के दर्द का एहसास भी नहीं होगा। 

अगर आप किसी हेल्थ इशू से गुजर रहे हैं जैसे menorrhagia, endometriosis (characterized by an abnormally-heavy period flow) या फिर आपको किसी डॉक्टर ने इस मासिक धर्म कि अवधि में आराम करने की सलाह दी है। इन कारणों के बजाय अन्य दूसरे कारण की वजह से आपको कसरत करना नहीं छोड़ना चाहिए। बल्कि मासिक धर्म के दौरान तो कोई वजह नहीं बनती क्या आप इसे छोड़ दें?

बल्कि बहुत सी स्टडीज जो ऐसी हैं जो हमें हफ्ते में 3 से 5 दिन वर्कआउट करने की सलाह देती हैं वह भी मासिक धर्म के दौरान कम या मध्यम तीव्रता वाली कसरत को शामिल करने का भी सुझाव देती हैं। 

इसलिए सैर करना, जोगिंग करना, डांसिंग, पीरियड्स और फ्रेंडली योगा की प्रैक्टिस करना एक्सरसाइज करना आपको पीरियड्स के दर्द से बाहर निकाल लेगा। ऐसे असंख्य ऑप्शन है जो आप चुन सकती हैं और पीरियड वर्क आउट करके खुद को मानसिक और शारीरिक दो रूप में बेहतर स्तर पर ला सकती है,:

आइए हम कुछ पॉइंट्स के द्वारा समझाते हैं कि पीरियड्स के दौरान एक्सरसाइज करना आपके लिए क्यों अच्छा है

एक्सरसाइज पीरियड्स के दर्द से छुटकारा दिलाती है

आपके पीरियड बहुत दर्द भरे हैं तो संभावना है कि आप कई एक्सक्यूज बनाए और वर्कआउट से छुट्टी लेना चाहे। बिल्कुल इसमें कोई दो राय नहीं है कि ऐसे समय में जब आपका शरीर हैवी ब्लड फ्लो से गुजरा हो और शरीर में असीमित दर्द हो रहा हो उस वक्त वर्कआउट करना पर्वत पर चढ़ने के समान लगता है। 

अगर हम आपसे कहे कि जैसा आप सोच रही हैं वह पूरी तरीके से गलत है और एक्सरसाइज वास्तव में आपको आपके पीरियड्स के दर्द से छुटकारा दे सकती है बल्कि बहुत ही कम समय में वह आपके सारे दर्द को गायब कर सकती है। 

कुछ शोध हमें इस बात की जानकारी देते हैं, जैसे ब्रिटिश जनरल प्रैक्टिस में प्रकाशित एक शोध कहता है एक्सरसाइज आपके मेंसुरेशन क्रम के दर्द से छुटकारा दिलाती है। यह इसलिए होता है क्योंकि एक्सरसाइज करने से आपका ब्लड सरकुलेशन बढ़ता है और इसी वजह से आपको दर्द कम होता है। दूसरी सबसे महत्वपूर्ण बात यह कि एक्सरसाइज करने से आपके शरीर से बीटा-एंडोर्फिन्स रिलीज होता है जो कि एक नेचुरल पेन किलर माना जाता है

कुछ योगासन जैसे बालासन, पीरियड क्रैम्प को कम करने में कर सकते हैं मदद। चित्र सौजन्य: शटरस्टॉक

एक्सरसाइज आपको प्रोस्टाग्लैंडइन को जलाने में मदद करता है यह एक प्रकार का केमिकल है जो मसल्स कंट्रक्शन में बन जाता है जवाब का मासिक धर्म चल रहा हो। यही प्रोस्टाग्लैंडइन आगे चलकर आपके पीरियड के दर्द को कम करता है। 

2. नहीं होगा मूड स्विंग

यह बात साइंटिफिकली प्रूवन है कि फिजिकल एक्टिविटी करने के बाद, शारीरिक रूप से श्रम करने के कारण आपका शरीर कोर्टिसोल नामक हार्मोन को कम करता है जिसे स्ट्रेस हार्मोन के नाम से जाना जाता है। यह आपके शरीर में एंडोर्फिन्स नामक हार्मोन को बढ़ावा देता है जो कि एक हैप्पी हॉर्मोन कहा जाता है। 

इसलिए एक्सरसाइज आपके मूड स्विंग्स को कंट्रोल करने में बहुत कारगर साबित होता है यह ना सिर्फ मूड स्विंग्स को संभालता है बल्कि बेचैनी और क्रैंकीनेस और डाउन फीलिंग को भी कंट्रोल में रखता है। 

3. देता है स्‍ट्रेंथ

यदि आप ऐसी महिला है जो जिम में इसलिए जाती हैं ताकि आप वहां पर थोड़ी स्ट्रैंथ हासिल कर सके थोड़ा पसीना बहा सके। तो आपके लिए बहुत अच्छी खबर है क्योंकि मासिक धर्म के दौरान किया गया व्यायाम ना सिर्फ आपके स्टैमिना को बढ़ाता है बल्कि भविष्य में भी आपके लिए बहुत अच्छा साबित होता है। 

मासिक धर्म के दौरान वर्कआउट से आपको मिल सकती है ताकत। चित्र सौजन्य: शटरस्टॉक

उमिया यूनिवर्सिटी स्वीडन में एक शोध हुआ जिसमें कहा गया कि मासिक धर्म के पहले और दूसरे दिन में किया गया व्यायाम आपको ज्यादा स्ट्रैंथ दिला सकता है। शोध के अनुसार ऐसे समय में महिला के शरीर में फीमेल सेक्स हारमोंस कंपैरेटिवली कम होते हैं। 

4. ऊर्जावान महसूस करने में मदद

मासिक धर्म के दौरान फीमेल सेक्स हारमोंस के कम होने के कारण आपको क्रैंप्स का एहसास होता है आपको थकान और आलस भी बहुत ज्यादा आता है। 

हां! अगर इस समय आप एक्सरसाइज करते हैं तो यह आपकी थकान को दूर भगा देगा आपको ज्यादा ऊर्जावान महसूस करवाएगा। इस दौरान किया गया व्यायाम आपकी प्रोडक्टिविटी लेवल को भी बढ़ा देगा। 

इस मुद्दे पर अनगिनत शोध हो चुके हैं, ऐसा ही शोध यूनिवर्सिटी ऑफ जॉर्जिया में हुआ उसमें कहा गया कि यदि आप मासिक धर्म से गुजर रहे हैं तो एक्सरसाइज एक परफेक्ट प्राकृतिक केयर साबित होता है आपकी थकान और एग्जॉशन को दूर करने के लिए। 

एक्सरसाइज आपके शरीर में ऑक्सीजन और नुट्रिएंट्स को बढ़ा देती है। यह टिशु में न्यूट्रींस पहुंचाने में बहुत कारगर साबित होते हैं एनर्जी को बढ़ाता है। 

अब जैसे कि आप इसके फायदे जान चुके हैं कि पीरियड के दौरान एक्सरसाइज करना कैसा होता है। अब आपके कोई एक्सक्यूज नहीं चलेंगे। यह वक्त आ गया है कि आप एक अच्छा सा एक्सरसाइज चुने और उसे करें। 

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

संबंधि‍त सामग्री