आपकी त्वचा पर भी दिखने लगते हैं मेनोपॉज के संकेत, जानिए कारण और बचाव के उपाय

त्वचा संबंधी समस्याएं प्यूबर्टी यानी पीरियड्स की शुरुआत में होना आम बात है। मगर क्या आप जानती हैं कि पीरियड्स खत्म होने पर भी ऐसा ही होता है? जी हां... मेनोपॉज के दौरान भी होती हैं कई स्किन प्रॉब्लेम्स, जानिए इनके बारे में।

menopause skin problems
रजोनिवृत्ति के दौरान अपनी त्वचा की देखभाल कैसे करें। चित्र : शटरस्टॉक
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ Published on: 15 August 2022, 20:00 pm IST
  • 125

महिलाओं के जीवन में ऐसे कई चरण आते हैं जिससे उनमें कई तरह के शारीरिक परिवर्तन होते हैं। पीरियड्स के शुरू होने से लेकर गर्भावस्था, और मेनोपॉज – यह सब उनके जीवन का हिस्सा हैं, जिसकी वजह से उन्हें कई उतार – चढ़ावों से गुजरना पड़ता है। ऐसे में शारीरिक और मानसिक समस्याएं ही नहीं, बल्कि कई त्वचा संबंधी समस्याएं भी उभरने लगती हैं जैसे पिंपल, एक्ने, झुर्रियां, फ़ाइन लाइंस, पिगमेंटेशन आदि।

अक्सर आपने सुना होगा या खुद अनुभव किया होगा कि पीरियड्स के दौरान पिंपल निकल आते हैं। मगर मेनोपॉज के दौरान भी आपकी त्वचा में कई तरह के परिवर्तन आते हैं जिनके बारे में आपको पता होना चाहिए। यदि आप रजोनिवृत्ति के बाद अपनी त्वचा में परिवर्तन देख रही हैं, तो यह आमतौर पर एस्ट्रोजन हार्मोन के तेजी से घटते स्तर के कारण हो सकता है।

एस्ट्रोजन त्वचा में वॉटर रिटेंशन और मोटापन को बढ़ावा देता है। जब एस्ट्रोजन गिरता है, तो आप कुछ अणुओं को खो देते हैं जो त्वचा को मॉइस्चराइज रखने में मदद करते हैं।

जानिए मेनोपॉज किस तरह करती है त्वचा को प्रभावित और आप कैसे रख सकती हैं इसका ख्याल

त्वचा लटकने लगती है

मेनोपॉज के दौरान त्वचा ज़रूरत से ज़्यादा लटक सकती है। यह उम्र बढ़ने के कारण भी हो सकता है। साथ ही हॉर्मोन्स में तेज़ी से परिवर्तन आने के कारण भी होता है। कुछ – कुछ महिलाओं के चेहरे पर ऐसे समय में सूजन भी दिखाई दे सकती है।

क्लीवलैंड क्लीनिक के अनुसार इस समस्या से निपटने के लिए, महिलाओं को कोलेजन की खुराक लेनी चाहिए। या फिर ऐसे फूड्स को आहार में शामिल करना चाहिए जिनमें कोलेजिन हो जैसे नट्स और सीड्स।

जानिए क्या है इन एजिंग साइन्स का समाधान। चित्र : शटरस्टॉक

त्वचा में रूखापन और खुजली

क्लीवलैंड क्लीनिक के अनुसार त्वचा में रूखापन और खुलजी मेनोपॉज के दौरान एक आम समस्या है। यह हॉर्मोन्स के बढ़ते – घटते स्तर के कारण होता है। इसे आप कई घरेलू उपायों की मदद से ठीक कर सकती हैं।

काले धब्बे

स्किन पर अजीब काले निशान, जिन्हें कभी-कभी एजिंग स्पॉट्स कहा जाता है, अक्सर रजोनिवृत्ति के बाद दिखाई देते हैं और घर पर उनका इलाज करना मुश्किल होता है। ऐसे में ज़रूरी नहीं है ओवर-द-काउंटर क्रीम काम करे। मगर, लेज़र ट्रीटमेंट और घरेलू उपाय इससे छुटकारा पाने में आपकी मदद कर सकते हैं।

काले धब्बों से छुटकारा पाने के लिए आलू के रस को त्वचा पर लगाएं या बेसन और हल्दी के लेप का इस्तेमाल करें। यह काफी प्रभावित साबित हो सकता है।

chehre par dark spots ko kam karein
चेहरे पर काले धब्बे कैसे कम करें। चित्र: शटरस्टॉक

चेहरे के अनचाहे बाल

जैसे-जैसे हार्मोन शिफ्ट होता है, आप ऊपरी होंठ या ठुड्डी पर बाल देख सकते हैं। यदि आप चाहते हैं कि यह चला जाए, तो वैक्सिंग, बालों को हटाने वाली क्रीम और थ्रेडिंग ट्राई करें। यह सही तरीके इससे छुटकारा दिलाने में आपकी मदद करेंगे।

इलेक्ट्रोलिसिस बालों को हटाने का एक स्थायी समाधान है। यह बालों के रोम में विकास कोशिकाओं को नष्ट कर देता है, इसलिए ये वापस नहीं बढ़ते। इसलिए एक लाइसेंस प्राप्त इलेक्ट्रोलॉजिस्ट चुनें या अपने डॉक्टर से पूछें।

एक्ने ब्रेकआउट

क्लीवलैंड क्लीनिक के अनुसार रजोनिवृत्ति के बाद एस्ट्रोजन का स्तर गिर जाने पर कुछ महिलाओं को अधिक मुंहासे होते हैं। यदि आप रजोनिवृत्ति के बाद के ब्रेकआउट देखती हैं, तो उन्हें सबसे पहले त्वचा रोग विशेषज्ञ से मिलने के लिए कहें।

यह भी पढ़ें : World Organ Donation Day 2022 : अंगदान करना चाहते हैं, तो एक्सपर्ट से जानिए इस बारे में सब कुछ

  • 125
लेखक के बारे में
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory