जानिए क्यों पीरियड्स के दौरान आपको कम कर देना चाहिए नमक का सेवन

पीरियड्स आने से पहले ही बहुत सारी समस्याएं शुरू हो जाती हैं। इन्हीं में से एक है सूजन और पेट फूलना। कहीं इसकी वजह नमक का अधिक सेवन तो नहीं!
periods ke dauran kuchh khas padarthon se parhej rakhen
पीरियड्स के दौरान कुछ खास तरह के आहार समस्या बढ़ा सकते हैं। चित्र: शटरस्टॉक
टीम हेल्‍थ शॉट्स Published: 12 Jul 2021, 07:30 pm IST
  • 80

पीरियड ब्लोटिंग प्री मेंस्ट्रुअल सिंड्रोम का ही एक लक्षण होता है अर्थात् आपको पीरियड्स आने के कुछ दिनों पहले अपना पेट भारी भारी और फूला फूला महसूस होने लगता है। यह एक से दो हफ्ते पहले भी हो सकता है।

इसके साथ ही आपको कुछ अन्य लक्षण जैसे पेट में दर्द और कमर में दर्द आदि भी देखने को मिल सकते हैं। पीरियड्स के बिलकुल शुरू में इसकी वजह से आप को बहुत तकलीफ हो सकती है और यह आप को मानसिक रूप से भी प्रभावित कर सकता है।

क्या कहते हैं विशेषज्ञ 

पदम श्री डॉक्टर अलका कृपलानी (डायरेक्टर एंड हेड, सेंटर पर मिनिमली इनवेसिव, गाइनेकोलॉजी ऑब्सट्रिशियन एंड आर्ट) के अनुसार ऐसा आम तौर पर एस्ट्रोजन (estrogen) और प्रोजेस्ट्रॉन (progesterone) हार्मोन्स में बदलाव होने के कारण होता है। इस दौरान आपको अपना पेट फूला हुआ महसूस हो सकता है। क्योंकि शरीर में पानी और नमक का लेवल बढ़ जाता है।

तो क्या हैं ब्लोटिंग की समस्या को दूर करने के जरूरी टिप्स

1 अधिक नमक वाली चीजें न खाएं

अगर आप इस दौरान अधिक नमक वाली चीज खाएंगी, तो इससे आपके शरीर में वाॅटर रिटेंशन बढ़ सकता है। जिससे खुद ही ब्लोटिंग होगी। इसलिए अधिक नमक से युक्त चीजों को खाना अवॉयड करें और ताजी ताजी चीजों को अधिक खाएं।

नमक पीरियड्स के दौरान पेट फूलने के लिए जिम्मेदार हो सकता है। चित्र-शटरस्टॉक.
नमक पीरियड्स के दौरान पेट फूलने के लिए जिम्मेदार हो सकता है। चित्र-शटरस्टॉक.

2 पोटेशियम से युक्त चीजें ज्यादा खाएं

अगर आप पोटेशियम से युक्त चीज खाएंगी तो इससे ब्लोटिंग कम होगी और आपके शरीर से सोडियम लेवल भी कम होगा। जिससे आपका यूरिन प्रोडक्शन भी बढ़ेगा। इसके लिए आप पालक, शकरकंद, केले और एवोकाडो, टमाटर जैसी चीजें खा सकती हैं।

3 प्राकृतिक डायरेटिक्स

यदि आप पीरियड्स के दौरान होने वाली ब्लोटिंग से छुटकारा पाना चाहती हैं, तो कुछ प्राकृतिक डायरेटिक्स का सहारा ले सकती हैं। इससे यूरिन प्रोडक्शन बढ़ता है और वॉटर रिटेंशन कम होता है। इसके लिए आप बहुत सी चीजों जैसे अनानास, आडू, खीरे, अदरक और लहसुन आदि को ट्राई कर सकती हैं।

4 अधिक से अधिक पानी पिएं

अपने आप को हाइड्रेटेड रखना पीरियड्स के दौरान होने वाली ब्लोटिंग को कम करने का सबसे अच्छा तरीका है। इससे आपका वॉटर रिटेंशन इंप्रूव होगा और किडनी अच्छे से काम कर सकेगी। इसके लिए अधिक से अधिक पानी पिए हालांकि इस बात को साबित करने के लिए किसी प्रकार का साइंटिफिक प्रमाण नहीं है।

आजमाइए पीरियड्स में इन नुस्खों को. चित्र : शटरस्टॉक
आजमाइए पीरियड्स में इन नुस्खों को. चित्र : शटरस्टॉक

5 नियमित रूप से एक्सरसाइज करें

स्टडीज के मुताबिक अगर आप नियमित रूप से एक्सरसाइज करती हैं तो इससे आपके पीएमएस के लक्षणों को नियंत्रित किया जा सकता है। इसके लिए डॉक्टरों ने कम से कम एक हफ्ते में 2.5 घंटे एक्सरसाइज करने का सुझाव दिया है।

अंतिम बात 

एक-दो दिन के लिए ब्लोटिंग होना आम है और यह पूरी तरह से सामान्य भी है। अगर ब्लोटिंग आपके रोजाना के कामों को प्रभावित कर रही है तो अधिक असहज होने से बेहतर है कि आप डॉक्टर से बात करें। कुछ सुझाव या दवाइयां लें। इसके साथ ही आपको रिफाइंड कार्ब्स भी अधिक नहीं खाने चाहिए।

यह भी पढ़ें – क्या वेजाइनल यीस्ट इंफेक्शन होने पर सेक्स करना सुरक्षित है?

  • 80
लेखक के बारे में

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं। ...और पढ़ें

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
अगला लेख