लॉग इन

Wet vagina: योनि हमेशा गीली रहने के लिए जिम्मेदार हो सकते हैं ये 4 कारण, जानिए कब है डॉक्टर से बात करने की जरूरत

क्या आप भी उन महिलाओं में से हैं, जिन्हें लगातार योनि में गीलापन महसूस होता है? क्या इससे बदबू भी आती है? तो हम आपको इस समस्या के पीछे के कारणों को समझने में मदद करेंगे।
जानें योनि में लगातार गीलापन महसूस होने के कारण. चित्र : एडॉबीस्टॉक
अंजलि कुमारी Updated: 24 Jun 2024, 01:20 pm IST
ऐप खोलें

योनि का गीलापन सामान्य है, कुछ स्थति में इसका गिला होना नेचुरल है। पर कई बार यह महिलाओं के लिए परेशानी का कारण बन जाती है। कई ऐसी महिला हैं, जिन्हें योनि में लगातार गीलापन महसूस होता रहता है, जिसकी वजह से उन्हें बेहद इरिटेशन होता है। क्या आप भी उन महिलाओं में से हैं, जिन्हें लगातार योनि में गीलापन महसूस होता है? क्या इससे बदबू भी आती है? तो हम आपको इस समस्या के पीछे के कारणों को समझने में मदद करेंगे।

हेल्थ शॉट्स ने इस बारे में मदरहुड हॉस्पिटल, खारघर की कंसल्टेंट ऑब्सटेट्रिशियन एवं गायनेकोलॉजिस्ट, डॉ. सुरभि सिद्धार्थ से बात की। डॉक्टर ने योनि में लगातार गीलापन महसूस होने के कारणों पर बात की है। साथ ही उन्होंने बताया कि इस स्थिति में आपको क्या करना चाहिए।

नॉर्मल है योनि का गीलापन (wet vagina)

योनि के गीला होने के लिए सिर्फ़ सेक्सुअल एक्टिविटी जिम्मेदार नहीं होती। वास्तव में, आपकी योनि नियमित रूप से खुद को ल्यूब्रिकेट करती है। ऐसा योनि की दीवारों के भीतर कोशिकाओं द्वारा उत्पादित द्रव (vaginal discharge) के कारण होता है। यह योनि द्रव योनि को स्वस्थ रखने के लिए ज़रूरी है, ताकि यौन क्रियाकलाप सहज और आनंददायक हो सकें।

जानें योनि में लगातार गीलापन महसूस होने के कारण (wet causes wet vagina)

1. संक्रमण हो सकता है इसका कारण

योनि में लगातार गीलापन महसूस होने के कई कारण हो सकते हैं, जैसे कि अत्यधिक वेजाइनल डिस्चार्ज या पसीना जमा होना। असामान्य वेजाइनल डिस्चार्ज जिसमें बदबू आती है, और जिसमें खून की झलक हो, वह संक्रमण का संकेत हो सकता है। मूत्र असंयम होने से भी आप लगातार गीली रह सकती हैं।

वेजाइनल सिस्ट योनि पर चोट या ग्लैंड के ब्लॉक होने के कारण होती हैं। चित्र : एडॉबीस्टॉक

2. हार्मोंस होते हैं इसके लिए जिम्मेदार

हार्मोनल असंतुलन, तनाव या चिंता जैसे भावनात्मक कारक शारीरिक रूप से योनि में गीलापन बढ़ा सकते हैं। इस्तेमाल किए जाने वाले बर्थ कंट्रोल के प्रकार से कुछ महिलाओं में योनि में गीलापन बढ़ सकता है, क्योंकि एस्ट्रोजन योनि द्रव के उत्पादन को बढ़ा देते हैं।

यह भी पढ़ें: पीरियड में त्वचा पर पड़ने लगते हैं नील, तो जानिए इसका कारण और बचाव का तरीका

3. टाइट साइंथेटिक कपड़े हो सकते हैं जिम्मेदार

दवा यहां तक कि आप जिस तरह के कपड़े पहनती हैं, जैसे की टाइट सिंथेटिक के कपड़े उससे भी योनि में लगातार गीलापन महसूस हो सकता है। सिंथेटिक के कपड़े पसीना नहीं सोखते, ऐसे में पसीना योनि में बना रहता है, जिसके कारण ऐसा होता है।

4. पेल्विक कंजेशन सिंड्रोम

हर समय गीली योनि का अनुभव करना पेल्विक कंजेशन सिंड्रोम के कारण हो सकता है। इससे मूत्राशय में जलन, असामान्य मासिक धर्म रक्तस्राव और योनि स्राव हो सकता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि इस स्थिति के कारण नसों में रक्त जमा हो जाता है और आपकी योनि के आस-पास की नसों को प्रभावित करता है, जिसके परिणामस्वरूप गीलापन होता है। इसके साथ ही गर्भाशय, अंडाशय और योनी में दर्द भी होता है।

स्वस्थ लोगों की योनि का पीएच 3.8 और 4.5 के बीच होगा। चित्र-अडोबी स्टॉक

जानें इस स्थिति में क्या करना है

बिना देर किए किसी विशेषज्ञ से सलाह लेना बेहतर है, जो आपको सूती कपड़े पहनने, योनि में अच्छी व्यक्तिगत स्वच्छता बनाए रखने और हार्मोनल उतार-चढ़ाव को संतुलित करने की सलाह देंगे।

किसी भी अंतर्निहित मानसिक स्वास्थ्य संबंधी चिंता को संबोधित करना भी मददगार हो सकता है। जब बात आपकी योनि के स्वास्थ्य की हो तो आपको अधिक सतर्क रहना चाहिए और किसी भी तरह की असामान्यता की सूचना बिना किसी देरी के विशेषज्ञ को देनी चाहिए। अपनी योनि के स्वास्थ्य को नज़रअंदाज़ करना सख्त मना है।

यह भी पढ़ें: पीरियड में त्वचा पर पड़ने लगते हैं नील, तो जानिए इसका कारण और बचाव का तरीका

अंजलि कुमारी

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख