वैलनेस
स्टोर

#ProudToBleed उदासी, गुस्‍सा और चिड़चिड़ापन : माहवारी में क्‍या आपको भी झेलने पड़ते हैं ऐसे मू‍डस्विंग

Published on:26 May 2021, 13:30pm IST
पीरियड्स में मूड स्विंग होने का कारण दर्द होता है और यह बिल्कुल सामान्‍य है। हम आपको बताते हैं क्यों?
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 94 Likes
पीरियड्स में मूड स्विंग होने का कारण दर्द होता है और यह बिल्कुल सामान्‍य है। चित्र-शटरस्टॉक.

जैसे ही हमारे पीरियड्स शुरू होते हैं, हमार मन कुछ अजीब सा होने लगता है। महीने के उन दिनों में ज्यादातर महिलाएं यही महसूस करती हैं, क्योंकि इस समय हार्मोन्‍स में काफी उतार-चढ़ाव आ रहे होते हैं। लेकिन सवाल ये है कि – क्या मूड स्विंग होना आम बात है?

इस प्रश्न का उत्‍तर बड़ा सरल है, हां! आपने सही सुना। भावुक होना या थोड़ा मूडी होना प्रीमेंस्ट्रुअल सिंड्रोम का एक हिस्सा है। पीएमएस के हिस्से के रूप में, आप अन्य लक्षणों जैसे कि पीरियड क्रैम्प, थकान, सिरदर्द, मुंहासे, भूख में बदलाव का सामना कर सकती हैं।

अमेरिकन कॉलेज ऑफ ऑब्सटेट्रिशियन एंड गायनेकोलॉजिस्ट के अनुसार, मासिक धर्म में 85 प्रतिशत महिलाएं नियमित रूप से कम से कम एक पीएमएस लक्षण का अनुभव करती हैं।

ऐसा देखा गया है कि आपके मासिक धर्म के शुरुआती दिनों में मूड स्विंग प्रमुख रूप से होता है और जैसे-जैसे दिन बढ़ते जाते हैं, आपके मूडस्विंग गायब हो जाते हैं। यदि आप अभी भी सोच रहे हैं कि आपके साथ क्या गलत हो रहा है, तो हम आपको बता दें कि ये एक सामान्य सी बात है और इसमें आपकी कोई गलती नहीं है।

अगर आप पीरियड्स के दौरान इन छह भावनाओं में कुछ भी महसूस कर रही हैं, तो चिंता वाली की कोई बात नहीं है

1. रोना

क्या आपने सेरोटोनिन के बारे में सुना है? मूल रूप से, ये हार्मोन वो हार्मोन है जो हमारे मूड को नियंत्रित करता है। यदि ये आपके शरीर में बड़ी मात्रा में मौजूद है, तो आप लो (low) महसूस करेंगी। अगर ये कम मात्रा में मौजूद है तो आप उत्साहित महसूस करेंगी।

रोने को कमजोरी न समझें,ये बिल्कुल समान्य है। चित्र: शटरस्‍टॉक

दुर्भाग्य से, ये पीरियड्स के दौरान, हमेशा उच्च स्तर पर होता है और इसलिए छोटी-छोटी चीजें भी आपको थोड़ा अधिक संवेदनशील बना सकती हैं। शायद इसलिए आप इतनी आसानी से रोने लगती हैं!

2. गुस्सा

पीरियड्स काफी असहज होते हैं। इसमें सभी हार्मोन में उतार-चढ़ाव होता है, जो चीजों को और अधिक खराब बना देता है। कई बार आप जो महसूस कर रहे हैं, उसके बारे में भी भ्रमित हो जाते हैं। भावनाएं कई तरह से आप पर हावी हो जाती हैं! यह मैशअप बहुत कठिन होता है, जिस वजह से आप गुस्सा करती हैं।

3. उदास

उदास रहना शरीर में कम एंडोर्फिन और उच्च सेरोटोनिन के कारण होता है। लॉकडाउन ने चीजों को खराब कर दिया है। मानसिक शांति पाने के लिए आप योग जैसे कम तीव्रता वाले वर्कआउट को अपनी दिनचर्या में शामिल कर सकती हैं। ऐसा करते हुए आप ध्यान लगाने का अभ्‍यास भी कर सकती हैं।

आपके मासिक धर्म के शुरुआती दिनों में मूड स्विंग प्रमुख रूप से होता है।चित्र- शटरस्टॉक।

व्यायाम करने से आपका पीरियड पेन कम होता है। आप ऐसी चीजें करें जिससे आपको करने में खुशी मिलती है।

4. चिड़चिड़ापन

ये मुख्य रूप से तब होता है जब आप अपने पीरियड के दौरान पर्याप्त आराम नहीं कर रहे होते हैं। नींद न केवल आपको मासिक धर्म में ऐंठन से निपटने में मदद करती है, बल्कि ये थकान को दूर करके आपके मूड को भी ठीक करती है। इसलिए, पीरियड्स के दौरान पर्याप्त नींद लें।

5. एंग्‍जायटी और उदासी

आप चिंतित और उदास महसूस करती है। तकनीकी रूप से, इसे प्रीमेंस्ट्रुअल डिस्फोरिक डिसऑर्डर या पीएमडीडी के रूप में जाना जाता है। ये मुख्य रूप से तब होता है, जब आपके मस्तिष्क के रिसेप्टर्स उतार-चढ़ाव वाले हार्मोन पर असामान्य रूप से प्रतिक्रिया करते हैं।

उदासी मासिक धर्म में सामान्य है चित्र : शटरस्टॉक

6. खाते रहना

ये तब होता है जब आप स्वस्थ आहार नहीं लेती हैं। जिससे रक्त शर्करा का स्तर आपके शरीर में कम होता है। आप उन खाद्य पदार्थों का सेवन करते हैं जिनसे आपको बचना चाहिए। आप आइसक्रीम या चॉकलेट को खाना पसंद करती हैं। इसी कारण आपका पीरियड्स के दौरान वजन बढ़ने लगता है।

आपको हमारी यही सलाह है कि आप थोड़ा-थोड़ा और कई बार भोजन करें। बहुत सारा सलाद, फल और नट्स को अपने आहार में शामिल करें। बहुत अधिक चीनी, शराब और धूम्रपान से बचें।

इसे भी पढ़ें- #ProudToBleed: ये 5 टिप्‍स बना सकते हैं आपके पीरियड सेक्‍स को और भी साफ और सुरक्षित

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।