मदरहुड से लेकर मेनोपॉज तक, जानिए कब और क्यों कम होने लगती है महिलाओं में सेक्स की इच्छा

अगर समय से पहले आप भी लो लिबिडो की समस्या से जूझ रही हैं, तो इसके कारणों को जानने का प्रयास करें। जानते हैं कि वो कौन से कारण है, जो कामेच्छा में कमी का कारण साबित होते हैं और इससे कैसे डील करें।
Jaanein Low libido ke kaaran
लो लिबिडो का अनुभव कर रहीं हैं, तो ये कारण हो सकते है जिम्मेदार। चित्र: अडोबी स्टॉक
ज्योति सोही Updated: 9 Dec 2023, 21:29 pm IST
  • 141

उम्र के साथ सेक्स ड्राइव में कमी आना बेहद सामान्य हैं। कई बार रिश्तों में आपसी मनमुटाव तो कभी शारीरिक समस्याएं इसका कारण साबित होने लगती है। सेक्सुअल इंटिमेसी (sexual intimacy) की कमी से सालों पुराने खुशहाल रिश्ते प्रभावित होने लगते है। इससे मेंटल हेल्थ भी प्रभावित होती है। अगर समय से पहले आप भी लो लिबिडो (low libido) की समस्या से जूझ रही हैं, तो इसके कारणों को जानने का प्रयास करें। इस लेख के ज़रिए जानते हैं कि वो कौन से कारण है, जो कामेच्छा में कमी का कारण (reasons of low libido) साबित होते हैं और इससे कैसे डील करें।

लिबिडो क्या है (What is libido)

लिबिडो किसी व्यक्ति की यौन इच्छा को कहा जाता है, जो हार्मोन, मेंटल हेल्थ, तनाव, ब्रेन फंक्शन और बिहेवियर पैटर्नस से प्रभावित होती है। सेक्सुएलिटी कोच पल्लवी बरनवाल बताती हैं कि हर किसी की कामेच्छा अलग होती हैए और उम्र व शरीर में आने वाले बदलाव के आधार पर किसी व्यक्ति की सेक्स ड्राइव (sex drive) में समय के साथ उतार.चढ़ाव हो आने लगता है।

सबसे पहले जानें लिबिडो कम होने के कारण (reasons of low libido)

1. तनाव का बढ़ना

जीवन में बढ़ने वाला तनाव कामेच्छा को कम करने का मुख्य कारण साबित होता है। इससे सेक्सुअल लाइफ में कमी आने लगती हैं, जो रिश्ते में आने वाली दूरी का कारण साबित होता है। दरअसल, दिनों दिन स्ट्रेस बढ़ने से म्यूचुअल अंडरस्टैण्डिंग (mutual understanding) कम होती चली जाती है और सेक्स ड्राइव को प्रभावित करती है।

Kaise badhne lagta hai marital stress
दिनों दिन स्ट्रेस बढ़ने से म्यूचुअल अंडरस्टैण्डिंग कम होती चली जाती है और सेक्स ड्राइव को प्रभावित करती है। चित्र : शटरस्टॉक

2. मदरहुड की शुरूआत

मदरहुड की शुरूआत में न्यू मॉम्स पूरी तरह से बच्चे की टेक केयर के लिए फोकस्ड रहती हैं। ऐसे में उनके पास अपना ख्याल रखने का भी समय नहीं मिल पाता है। इसके चलते वे बार बार मूड स्विंग, एंग्ज़ाइटी, बॉडी क्रैंम्प और कई शारीरिक समस्याओं से होकर गुज़रती है, जो लिबिडो की कमी का कारण साबित होता है।

3. मेनोपॉज फेज़

ऐसे वक्त में महिलाओं के शरीर में कई प्रकार के बदलाव आने लगते हैं, जो एस्ट्रोजन की कमी को दर्शाता है। इससे शरीर में सेक्स ड्राइव कम होने लगती है। मेनोपॉज के दौरान महिलाओं में मूड स्विंग, नींद की कमी, सिरदर्द, थकान और शरीर कमज़ोर महसूस करता है।

4. अल्कोहल का अत्यधिक सेवन

शराब सेक्स हार्मोन के स्तर को कम करने का कारण साबित होता है। इसके नियमित सेवन से मूड स्विंग की समस्या बढ़ती है, जो सेक्स हार्मोन टेस्टोस्टेरोन और डोपामाइन को बार बार ट्रिगर करता हैं। इससे कामेच्छा पर बड़ा प्रभाव डाल सकते हैं। ये समय के साथ बढ़ते और गिरते रहते हैं। इसी कारण से कामेच्छा में उतार.चढ़ाव आने लगता है।

जानें लिबिडो बूस्ट करने की आसान टिप्स (tips to boost libido)

1. सेक्स को एजॉय करें

सेक्सुअल लाइफ को हैप्पी बनाए रखने और कामेच्छा को बढ़ाने के लिए सेक्स को एक टास्क न समझकर उसे एजॉय करने का प्रयास करें। इससे पार्टनर के साथ आपकी बॉडिंग इंप्रूव होने लगती है। साथी से हर वक्त रूठे रहना रिश्तों में दूरी का कारण बनने लगता है।

2. पूरी नींद लें

एनआईएच की रिसर्च के अनुसार नींद की कमी तनाव और कामेच्छा में कमी का कारण साबित होती है। तनाव के चलते शरीर में कार्टिसोल हार्मोन बढ़ने लगता है, जो सेक्स की इच्छा में कमी आने का मुख्य कारण है। ऐसे में क्वालिटी स्लीप लें, जो सेक्स ड्राइव को बढ़ाने में मददगार साबित होता है।

Libido badhaane ke liye poori neend lein
क्वालिटी स्लीप लें, जो सेक्स ड्राइव को बढ़ाने में मददगार साबित होता है। चित्र : एडॉबीस्टॉक

3. नियमित वर्कआउट है ज़रूरी

दिनभर शरीर में थकान का अनुभव भी सेक्स ड्राइव में कमी आने का कारण है। ऐसे में नियमित वर्कआउट करें और कुछ देर मेडिटेशन के लिए भी निकालें। इससे व्यक्ति का तन और मन शांत रहने लगता है, जिससे शरीर में हैप्पी हार्मोन बढ़ने लगते हैं। रोज़ाना 30 मिनट का वर्कआउट आपको हेल्दी बनाता है।

4. अश्वगंधा का करें सेवन

सेक्स ड्राइव को बढ़ाने के लिए अश्वगंधा का सेवन बेहद फायदेमंद साबित होता है। इससे शरीर में असंतुलित हार्मोनल सचारू रूप से कार्य करने लगते हैं। टेस्टोस्टेरोन के स्तर को नियमित करने के लिए चुटकी भर अश्वगंधा को 1 गिलास गुनगुने पानी में मिलाकर पीने से फायदा मिलता है। इससे कामेच्छा में बढ़ोतरी होती है और शरीर एक्टिव बना रहता है।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें

ये भी पढ़ें- अनियमित माहवारी हर बार बढ़ा देती है टेंशन, तो इन 7 होम रेमेडीज से करें पीरियड्स को रेगुलर

  • 141
लेखक के बारे में

लंबे समय तक प्रिंट और टीवी के लिए काम कर चुकी ज्योति सोही अब डिजिटल कंटेंट राइटिंग में सक्रिय हैं। ब्यूटी, फूड्स, वेलनेस और रिलेशनशिप उनके पसंदीदा ज़ोनर हैं। ...और पढ़ें

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
अगला लेख