मेनोपॉज के बाद भी हो रही है ब्लीडिंग, तो ये हो सकता है किसी गंभीर समस्या का संकेत

हमने अक्सर यही सुना और देखा है कि मेनोपॉज के बाद ब्लीडिंग रुक जाती है, लेकिन क्या हो यदि ये न रुके? यदि आपके साथ भी यही हो रहा है तो यह किसी गंभीर समस्या के कारण हो सकता है।

menopause ke baad bleeding
मेनोपॉज के बाद ब्लीडिंग के क्या हैं कारण. चित्र : शटरस्टॉक
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ Published on: 25 November 2022, 21:00 pm IST
  • 124

पेरीमेनोपॉज (perimenopause) एक ऐसा फेज होता है, जिसमें पीरियड्स बहुत इरेगुलर हो जाते हैं। मगर इसमें ब्लीडिंग होती है, लेकिन एक बार 12 महीनों तक पीरियड्स बंद होने के बाद पेरीमेनोपॉजल फेज भी खत्म हो जाता है। मगर यदि इसके बाद भी आपकी ब्लीडिंग (bleeding) नहीं रुकती है, तो इसका मतलब है कि आपके प्रजनन तंत्र (reproductive system) में किसी तरह की समस्या है। यह आने वाली किसी गंभीर बीमारी का संकेत हो सकता है। यदि आपके साथ भी कुछ ऐसा ही हो रहा है, तो चलिये जानते हैं कि क्या हो सकते हैं इसके कारण और बचाव के उपाय।

क्या होता है जब मेनोपॉज के बाद शुरू होती है ब्लीडिंग

जब मेनोपॉज (menopause) के बाद फिर से ब्लीडिंग की शुरुआत होती है तो रक्तस्राव के स्रोत को निर्धारित कर पाना मुश्किल हो सकता है। मेयो क्लीनिक के अनुसार ब्लीडिंग वेजाइनल एरिया (vaginal area) या गुदा मार्ग (anus) कहीं से भी हो सकती है। कभी-कभी, यूरिन इन्फेक्शन (UTI) होने पर भी पेशाब के बाद ब्लड आ जाता है। इसके अलावा, आपको टिश्यू से सफाई करते समय, एक छोटा सा दाग या ब्लड क्लॉट दिखाई दे सकता है।

ऐसे कोई भी लक्षण नज़र आने पर स्त्री रोग विशेषज्ञ के पास जाना बहुत ज़रूरी है। फिर चाहे यह केवल एक बार हुआ हो या फिर आपको कोई भूरे रंग का ब्लड स्पॉट दिखा हो।

कई कारणों की वजह से हो सकती है पोस्टमेनोपॉजल ब्लीडिंग

मेयो क्लीनिक और क्लाउडनाइन ग्रुप ऑफ हॉस्पिटल्स, बेलंदूर, बेंगलुरु में प्रसूति एवं स्त्री रोग सलाहकार, डॉ अरुणा कुमारी, के अनुसार पोस्टमेनोपॉज़ल वेजाइनल ब्लीडिंग के कई कारण और लक्षण हो सकते हैं:

एंडोमेट्रियल कैंसर या गर्भाशय का कैंसर
गर्भाशय ग्रीवा या योनि का कैंसर
गर्भाशय को अस्तर देने वाले ऊतकों का पतला होना
फाइब्रॉएड
यूटरीन पॉलीप्स
एंडोमेट्रैटिस
हार्मोन थेरेपी
मूत्र पथ या मलाशय से रक्तस्राव

अगर आपको मासिक धर्म 12 महीने तक नहीं हुए है, तो आपने मेनोपॉज (रजोनिवृत्ति) चरण में प्रवेश कर लिया है। चित्र- शटरस्टॉक.

क्लीवलैंड क्लीनिक के अनुसार कैसे पता चलेगा कि ये गंभीर स्थिति है

आपका डॉक्टर आपको वेजाइनल टेस्ट करवाने को बोल सकता है

सर्वाइकल सेल्स की जांच के लिए पैप स्मीयर टेस्ट की भी सलाह दी जाती है

अल्ट्रासाउंड, आमतौर पर एक वेजाइनल विजन का उपयोग करता है, जिसमें किसी भी गर्भाशय पॉलीप्स को देखना आसान हो जाता है।

एंडोमेट्रियम की बायोप्सी

डॉ अरुणा कुमारी के अनुसार इस प्रक्रिया में, आपका डॉक्टर कोशिकाओं को इकट्ठा करने के लिए गर्भाशय में एक छोटी, ट्यूब को धीरे से स्लाइड करके, पता लगाने की कोशिश करता है।

पेल्विक टेस्ट

जब हम बिना किसी लक्षण वाली ब्लीडिंग के बारे में बात कर रहे होते हैं तो आमतौर पर एक पेलविक टेस्ट की आवश्यकता होती है। टेस्ट के दौरान, डॉक्टर आपकी योनि और गर्भाशय ग्रीवा को देखते हैं और आपके गर्भाशय के आकार में किसी समस्या का पता लगाने की कोशिश करते हैं।

अंत में…

मेनोपॉज़ल फेज में वेजाइनल ब्लीडिंग होना सामान्य है। मगर यदि आपके पिछले मासिक धर्म के एक वर्ष से अधिक समय बाद रक्तस्राव होता है, तो आपको अपने डॉक्टर को दिखाना चाहिए। यह एक साधारण संक्रमण या किसी भी गांठ के कारण हो सकता है। मगर, कुछ मामलों में, ब्लीडिंग गर्भाशय के कैंसर का भी संकेत हो सकती है।

यह भी पढ़ें ; क्या बिना दर्द के भी दिया जा सकता है बच्चे को जन्म? जवाब है हां, एक्सपर्ट बता रहे हैं चाइल्डबर्थ के बारे में कुछ जरूरी तथ्य

  • 124
लेखक के बारे में
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory