Vaginal Cyst : जानिए क्या है यह दर्दनाक स्थिति और क्या हैं इसके कारण

वेजाइनल सिस्ट की समस्या के बारे में ज्यादातर महिलाएं नहीं जानती, इस वजह से ये अधिक गंभीर होती जाती हैं। आज हम आपको बताएंगे की वेजाइनल सिस्ट क्या हैं, कैसे दिखते हैं और क्यों होते हैं।
Vaginal self examination
आपको एक उचित समय अंतराल पर वेजाइनल सेल्फ एग्जामिनेशन (Vaginal self examination) की आवश्यकता होती है। चित्र : एडॉबीस्टॉक
अंजलि कुमारी Published: 16 May 2024, 21:00 pm IST
  • 124

ओवेरियन सिस्ट के बारे में आपने कभी न कभी जरूर सुना होगा, पर क्या आप वेजाइनल सिस्ट के बारे में जानती हैं? सिस्ट केवल ओवरी में ही नहीं बल्कि वेजाइना के आसपास भी नजर आ सकते हैं। यदि शुरुआत में ही समस्या की पहचान कर ली जाए तो इसे आसानी से ट्रीट किया जा सकता है। आज हम आपको बताएंगे की वेजाइनल सिस्ट क्या हैं, कैसे दिखते हैं और क्यों होते हैं। इस बारे में अधिक गंभीरता से समझने के लिए हेल्थ शॉट्स ने मैरिंगो एशिया हॉस्पिटल, गुरुग्राम की आब्सटेट्रिक्स और गायनेकोलॉजी, यूनिट डायरेक्टर पल्लवी वसल से बात की। तो चलिए जानते हैं वेजाइनल सिस्ट से जुड़ी जरूरी जानकारी।

जानें क्या है वेजाइनल सिस्ट (vaginal cyst)

योनि सिस्ट एक तरल पदार्थ से भरी गांठ होती है, जो वेजाइना पर या उसके पास स्थित होती है। योनि सिस्ट आमतौर पर बच्चे के जन्म, योनि पर चोट या ग्लैंड के ब्लॉक होने के कारण होती हैं। ऐसे में डॉक्टर शारीरिक परीक्षण के दौरान योनि सिस्ट का पता लगाते हैं, और उपचार के लिए जरूरी सुझाव देते हैं।

जानें वेजाइनल सिस्ट के कारण

डॉ पल्लवी कहती हैं “वेजाइना सिस्ट, जिसे अक्सर योनि समावेशन सिस्ट के रूप में जाना जाता है। ये सौम्य गांठें होती हैं, जो आम तौर पर योनि की दीवारों के साथ बढ़ती हैं। योनि की दीवार में ब्लॉक्ड ग्लैंड या डक्ट के कारण थैली जैसी संरचना के रूप में फ्लूइड और टिशु का संचय होता है, जिसके कारण ये सिस्ट बनते हैं।”

vaginal cyst
वेजाइनल सिस्ट योनि पर चोट या ग्लैंड के ब्लॉक होने के कारण होती हैं। चित्र : एडॉबीस्टॉक

“चाइल्ड बर्थ, सर्जरी या सेक्सुअल एक्टिविटी से वेजाइनल वॉल ट्रॉमा योनि सिस्ट के संभावित कारणों में से एक है। अन्य संभावित कारणों में प्यूबर्टी, प्रेगनेंसी या मेनोपॉज के दौरान होने वाले हार्मोनल परिवर्तन शामिल हैं।”

संक्रमण भी बनता है सिस्ट का कारण (what causes Vaginal cyst)

एक्सपर्ट के अनुसार “संक्रमण के परिणामस्वरूप योनि में सिस्ट हो सकता है। ऐसा ही एक संक्रमण है, बार्थोलिन सिस्ट, जो बार्थोलिन ग्लैंड के बढ़ने और ब्लॉक होने के कारण होता है। शायद ही, कुछ जन्मजात विकार या अनियमित विकास पैटर्न लोगों को योनि सिस्ट के प्रति अधिक संवेदनशील बना सकते हैं।”

यह भी पढ़ें: शैलो पेनिट्रेशन की मदद से कैसे पेनफुल सेक्स से बचने में मिलती है मदद, बता रही हैं एक्सपर्ट

जानें इस स्थिति में कौन से लक्षण नजर आते हैं (Vaginal cyst symptoms)

वेजाइना के आसपास छोटे लंप्स नजर आना।
सेक्स करते हुए, चलते हुए, बैठते हुए या पीरियड्स में टैंपोन का इस्तेमाल करते हुए या टॉयलेट के बाद वाइप करते हुए तेज दर्द महसूस होना।
इनफेक्टेड सिस्ट की स्थिति में बुखार, वेजाइनल सूजन और तेज दर्द महसूस हो सकता है।
यूरिन पास करते हुए जलन और दर्द महसूस होना।
वेजाइना में दबाव और डिसकंफर्ट महसूस होना।

vaginal infection aur urinary trac infection ke beech antar hai.
लंबे समय तक गीले कपड़े पहने रहने से भी कैंडिडा विकसित हो सकता है। चित्र : अडोबी स्टॉक

एक्सपर्ट बता रही वेजाइनल सिस्ट की स्थिति में क्या करना चाहिए

डॉ पल्लवी कहती हैं “वेजाइनल सिस्ट के उपचार में आमतौर पर कंजरवेटिव मीजर्स या, कुछ स्थितियों में, मेडिकल केयर शामिल होते हैं। यह सुनिश्चित करने के लिए कि वे बड़े न हों या दर्द का कारण न बनें, छोटे, बिना लक्षण वाले सिस्ट पर समय रहते ध्यान देने की आवश्यकता होती है। यदि सिस्ट का पता जल्दी लग जाए तो उन्हें बिना इलाज के भी ट्रीट किया जा सकता है।”

“यदि योनि का सिस्ट बड़ा, असुविधाजनक या संक्रमित हो जाए तो चिकित्सा हस्तक्षेप की आवश्यकता हो सकती है। ऐसी परिस्थितियों में सिस्ट को हटाने के लिए सर्जिकल टेक्निक्स का सामना करना पड़ सकता है। यदि कंजरवेटिव ट्रीटमेंट फेल हो जाए या आप इसे लेकर बिल्कुल भी रिस्क नहीं लेना चाहती हैं, तो डॉक्टर से मिलकर सलाह लें। डॉ इसमें दबाव और असुविधा को दूर करने के लिए सिस्ट को सुखाने और एंटीबायोटिक दवाइयां प्रिसक्राइब करेंगे। वहीं एंटीबायोटिक अन्य वेजाइनल संक्रमण को ट्रीट करने में आपकी मदद करेंगी।”

jaane vaginal lightening cream ke side effects.
जानें वेजाइनल सिस्ट के कई कारण हो सकते हैं. चित्र :एडॉबीस्टॉक

सिस्ट के आकार और स्थान के आधार पर, वेजाइनल सिस्ट का सर्जिकल रिमूवल आमतौर पर स्थानीय या सामान्य एनेस्थीसिया के तहत एक आउट पेशेंट सर्जरी के रूप में किया जाता है। हालांकि, शुरुआती कोशिश यही रहती है कि सिस्ट को दवाइयां से दवा दिया जाए। परंतु महिलाएं अक्सर अपनी योनि को लेकर लापरवाही बरतती हैं, जिसके कारण परेशानी बढ़ जाती है और सर्जरी करवाना पड़ सकता है।

यह भी पढ़ें: सेक्स बोझ लग रहा है, तो ये हो सकता है मानसिक तनाव का संकेत, जानिए इस स्थिति से कैसे बचना है

  • 124
लेखक के बारे में

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
अगला लेख