पार्टनर की लो लिबिडो के लिए कहीं कम टेस्टोस्टेरोन तो नहीं जिम्मेदार, जानिए आप इसे कैसे बढ़ा सकती हैं

जब आप परिवार की योजना बनाते हैं, तो एक-दूसरे के पूरक हो जाते हैं। तब आपको सिर्फ अपनी ही नहीं, बल्कि अपने पार्टनर के स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के प्रति भी जागरुक होना होगा।

peeth mein dard hai to ye position kare try
मोटापा के कारण भी सेक्स लाइफ प्रभावित हो सकती है। चित्र: शटरस्टॉक चित्र:शटरस्टॉक
निशा कपूर Published on: 18 September 2022, 21:00 pm IST
  • 150

आप और वे जब एक साथ होते हैं, तो कुछ साझा सपने देखते हैं। इन साझा सपनों में आपकी बॉन्डिंग, शारीरिक संबंध और नए मेहमान के आने की तैयारी, सभी की अपनी भूमिका है। पर मौजूदा लाइफस्टाइल और तनाव भरे माहौल में बहुत सारे पुरुष सेक्स संबंधी कई तरह की समस्याओं का सामना कर रहे हैं। असल में पुरुषों में सेक्स के लिए जिम्मेदार महत्वपूर्ण हार्मोन है टेस्टोस्टेरोन (Testosterone)। इस खास हार्मोन की कमी न केवल आप दोनों की सेक्स लाइफ प्रभावित कर सकती है, बल्कि पुरुषों में इनफर्टिलिटी का भी कारण बन सकती है। आइए जानें इस टेस्टोस्टेरोन (Testosterone) के बारे में सब कुछ और यह भी कि आप इसे बढ़ाने (How to increase testosterone level) में उनकी मदद कैसे कर सकती हैं।

Testosterone
पुरुषों में सेक्स के लिए महत्वपूर्ण हार्मोन है टेस्टोस्टेरोन। चित्र: शटरस्टॉक

इस बारे में ठीक से जानने के लिए हमने बात की डॉ. आयशा फरहत से। डॉ आयशा वुमेन हेल्थ केयर एंड इनफर्टिलिटी क्लिनिक में फर्टिलिटी विशेषज्ञ हैं। वे कहती हैं यह पुरुषों का प्राइमरी हार्मोन है। जो पुरुषों में दाढ़ी, बाल और सेक्स लाइफ के लिए जिम्मेदार है। रिप्रोडक्शन में इस हार्मोन की अहम भूमिका होती है। इसके अलावा यह हार्मोन में हड्डियों और मसल्स को मजबूती देने का काम भी करता है।

क्या है टेस्टोस्टेरोन हॉर्मोन?

टेस्टोस्टेरोन एक हॉर्मोन है जो महिला और पुरुष दोनों में पाया जाता है। लेकिन, महिलाओं में इसकी मात्रा न के बराबर होती है। टेस्टोस्टेरॉन पुरुषों के शरीर में पाया जाने वाला मुख्य सेक्स हार्मोन है, जिसका उत्पादन अंडकोष (testicles) में होता है। यह पुरुषों में सेक्स ड्राइव यानी कामेच्छा को बढ़ाने के लिए भी उत्तरदायी होता है और इसका संबंध पुरुषों के सेक्सुअल डेवलपमेंट से होता है। टेस्टोस्टेरॉन को सेक्‍स हार्मोन भी कहा जाता है।

टेस्टोस्टेरोन कम होने के लक्षण

डॉ. आयशा के मुताबिक टेस्टोस्टेरोन की कमी के कुछ इस प्रकार हैं-

  • थकान और सुस्ती रहना
  • अवसाद, चिंता, चिड़चिड़ापन होना
  • यौन संबंध बनाने की इच्छा कम होना, नपुंसकता की शिकायत
  • अधिक देर तक कसरत नहीं कर पाना और मजबूती में गिरावट
  • दाढ़ी और मूंछों की ग्रोथ कम होना
  • पसीना अधिक निकलना
  • यादाश्त और एकाग्रता की कमी

कितना होना चाहिए टेस्टोस्टेरोन लेवल

टेस्टोस्टेरोन हॉर्मोन उम्र के साथ घटने लगता है। एक अनुमान के मुताबिक 30 और 40 की उम्र के बाद इसमें हर साल दो फ़ीसदी की गिरावट आने लगती है। इसमें क्रमिक गिरावट सेहत से जुड़ी कोई परेशानी नहीं है, लेकिन कुछ ख़ास बीमारियों, इलाज या चोटों की वजह से सामान्य से कम हो जाता है।

एफडीए (फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन) के अनुसार, एक पुरुष के शरीर में टेस्टोस्टेरॉन की सामान्य दर 300 से 1 हजार नैनोग्राम प्रति डेसीलीटर होनी चाहिए।

क्यों कम होने लगता है पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन का स्तर

पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन के लेवल में कमी होने की बहुत सी वजह हैं, जिनमें शामिल हैं- उम्र का बढ़ना, मोटापा, बहुत अधिक टेंशन लेना, किसी जेनेटिक रोग की वजह से, रोजाना अल्कोहल का सेवन करना, किसी प्रकार का कोई मेटाबॉलिक डिसऑर्डर होने पर, किडनी से संबंधित कोई समस्या होने पर, बॉडी में आयरन की मात्रा बहुत ज्यादा बढ़ जाने पर, पिट्यूटरी ग्रंथि में इंफेक्शन या ट्यूमर होने पर, कैंसर के इलाज के लिए की जानेवाली कीमोथेरेपी के कारण, रेडिएशन उपचार आदि।

टेस्टोस्टेरोन को कैसे बढ़ाया जा सकता है

डॉ. आयशा कहती हैं कि टेस्टोस्टेरोन को अपने आहार में और लाइफ स्टाइल में थोड़ा सा बदलाव करके बढ़ाया जा सकता है। अधिक तनाव, पर्याप्त नींद प्राप्त न करना, जंक फ़ूड का सेवन करने से बचें और पोषक आहार का सेवन करें।

1 हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन

वैसे तो सभी को हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन करना चाहिए। लेकिन पुरुष हरी पत्तेदार सब्जियों को अपने आहार में शामिल करके टेस्टोस्टेरोन की कमी को दूर कर सकते हैं। हरी पत्तेदार सब्जियों को मैग्नीशियम जैसे पोषक तत्व का एक अच्छा स्रोत माना जाता है। कई शोध में सामने आया है कि पालक जैसी हरी पत्‍तेदार सब्जियां शरीर में टेस्टोस्टेरोन लेवल बढ़ाने के लिए बहुत लाभकारी साबित होती हैं।

Raw-vegetables-heart-health
कच्ची सब्जियां कई पोषक तत्वों से भरपूर होती हैं। चित्र शटरस्टॉक

2 प्याज खाना शुरू करें

प्याज स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद मानी जाती है। प्याज में कई ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन को बढ़ाने में सहायता कर सकते हैं। प्याज न केवल खाने के साथ सलाद के रूप में खाई जाने वाली एक पसंदीदा सब्जी है बल्कि ये Sexual health के लिए आवश्यक पोषक तत्वों का एक अच्छा स्रोत भी है। यदि आप नेचुरल तरीके से टेस्टोस्टोरोन को बढ़ाना चाहते हैं तो प्याज का सेवन अवश्य करें।

3 शहद का सेवन

शहद में बोरॉन (boron) होता है जो एक नैचुरल मिनरल है। ये टेस्टोस्टेरोन के लेवल को बढ़ाने में सहायता करता है। इसके साथ ही मजबूत हड्डियों का निर्माण करता है। इसलिए प्रतिदिन शहद का सेवन करके भी टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ाया जा सकता है।

यह भी पढ़े- बॉडी में सही हाइड्रेशन लेवल को मेंटेन रखने के लिए ट्राई करें ये कोकोनट लेमनेड रेसिपी

4 अनार

अनार अपने गुणों के कारण फलों में सबसे अधिक हेल्दी माना जाता है। इसका सेवन कर भी पुरुषों को टेस्टोस्टोरेन लेवल को बढ़ाने में सहायता मिल सकती है। प्रतिदिन अनार का जूस पीने से कई प्रकार के फायदे हो सकते हैं। उनमें से एक टेस्टोस्टोरेन का लेवल बढ़ाना भी है।

5 अदरक में शामिल हैं औषिधीय गुण

अदरक न सिर्फ चाय का स्वाद बढ़ाने के काम आता है बल्कि ये पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन के स्तर को भी बढ़ा सकता है। अदरक में औषधीय गुण होते हैं जो पुरुषों में प्रजनन क्षमता (Fertility) को बढ़ाने में लाभकारी हो सकते हैं। अदरक को चाय, काढ़ा और सब्जियों में डालकर अपनी डाइट में शामिल करने से टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ाया जा सकता है।

6 अश्वगंधा और शिलाजीत

अश्वगंधा और शिलाजीत के सेवन से टेस्टोस्टेरोन बूस्ट हो सकता है। ये मार्केट में भी सरलता से उपलब्ध हैं। यदि आप कोई सप्लीमेंट लेना चाहते हैं तो ये हर्ब आपके लिए लाभकारी साबित हो सकता है।

Ashwagandha flavored milk ko apne aahar me kren shamil
प्राकृतिक औषधि है अश्वगंधा। चित्र: शटरस्टॉक

7 फिजिकल एक्टिविटी

फिजिकल एक्टिविटी करने से टेस्टोस्टेरोन नेचुरली बूस्ट हो सकता है। इसलिए सप्ताह में कम से कम 4 दिन स्ट्रेन्थ या वेट ट्रेनिंग करने से अच्छे रिजल्ट देखने को मिल सकते हैं। कम्पाउंड एक्सरसाइज जैसे- डेडलिफ्ट, स्क्वॉट, बेंच प्रेस जरूर करें। इन्हें करने से अधिक मात्रा में टेस्टोस्टेरोन रिलीज होता है।

यह भी पढ़े- World Bamboo Day : बांस को खोखला न समझें, त्वचा के लिए है ये गुणों का भंडार 

  • 150
लेखक के बारे में
निशा कपूर निशा कपूर

देसी फूड, देसी स्टाइल, प्रोग्रेसिव सोच, खूब घूमना और सफर में कुछ अच्छी किताबें पढ़ना, यही है निशा का स्वैग।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory

हेल्थशॉट्स पीरियड ट्रैकर का उपयोग करके अपने
मासिक धर्म के स्वास्थ्य को ट्रैक करें

ट्रैक करें