जी हां, सर्दियां आपके पीरियड्स के लिए भी जटिल हो सकती हैं, यहां जानिए कैसे

Published on: 16 December 2021, 21:00 pm IST

क्या सर्दी का मौसम आपके पीरियड्स को भी डिस्टर्ब कर सकता है? अगर किसी विशेषज्ञ की मानें तो ऐसा हो सकता है। आइए, इसके बारे में और जानें।

Winters aapke periods ko affect karti hai
जानिए कि क्या सर्दियां आपके पिरियड्स को प्रभावित कर सकती हैं। चित्र : शटरस्टॉक

क्या आप सर्दियों को लेकर उत्साहित हैं? अच्छी बात है, पर याद रखें कि यह मौसम महिलाओं के लिए पुरुषों की तुलना में ज्यादा कष्टदायक हो सकता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि उन सर्द दिनों में न सिर्फ आपका मूड, बल्कि आपके पीरियड्स कुछ ज्यादा जटिल हो सकते हैं। जी हां, यह बिल्कुल सही है!

सर्दी के मौसम में दिन बहुत मायूसी भरा होता है। यह अधिक कष्टदायक भी हो सकता है, क्योंकि आप अधिक आसानी से बीमार हो जाते हैं। अगर यह काफी नहीं है, तो ऐसा लगता है कि सर्दियों के महीने आपके पीरियड्स पर भी कहर ढा सकते हैं। नहीं, हम यहां मज़ाक नहीं कर रहे हैं! सर्दी आपके मासिक धर्म चक्र को प्रभावित कर सकती है। इस प्रकार, ठंड के दिनों में पीरियड्स आपको और भी ज्यादा परेशान कर सकते हैं।

सर्दियों के दौरान आपके पीरियड्स क्यों प्रभावित होते हैं?

1. ओवरी की गतिविधि में कमी

मौसमी बदलाव आपके मासिक धर्म चक्र को प्रभावित कर सकते हैं। पिछले एक अध्ययन के अनुसार, सर्दियों के दौरान, महिलाओं में हार्मोन स्राव और गर्मी के महीने की तुलना में चक्र 0.9 दिनों तक बढ़ जाते हैं। सर्दियों की तुलना में गर्मियों में ओवरी की गतिविधि अधिक होती है। ऐसे में महिलाओं को उनके पीरियड्स से जुड़ी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।

Winters mein period cycle badal sakta haiसर्दियों में पिरियड्स की अवधि बदल सकती है। चित्र:शटरस्टॉक

2. पीएमएस (PMS) बिगड़ जाता है

महिलाओं को पता होना चाहिए कि ठंड के महीनों में उनके मासिक धर्म से पहले के लक्षण (PMS) ज्यादा जटिल हो सकते हैं। उन सर्द दिनों के दौरान, महिलाएं घर के अंदर अधिक समय बिताती हैं, कम चलती हैं और अधिक खाती हैं। ये चीजें आपके मासिक धर्म चक्र को खराब कर सकती हैं और मासिक धर्म से पहले के लक्षणों पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकती हैं।

ताे अब जानिए कि सर्दी के मौसम में पीरियड्स चेंज को आप कैसे मैनेज कर सकती हैं 

जब बाहर का मौसम अच्छा होता है, तो बाहर बहुत समय बिताना स्वाभाविक है। विभिन्न अध्ययनों से पता चला है कि जो महिलाएं अधिक सक्रिय होती हैं, उनमें कम सक्रिय रहने वाली महिलाओं की तुलना में अधिक नियमित पीरियड साइकिल होते हैं। जिस तरह तनाव आपके मासिक धर्म को प्रभावित करता है, उसी तरह मौसमी बदलाव भी ऐसा कर सकता है। लेडीज, आपको सर्दी के मौसम में सावधान रहने की जरूरत है।

इसलिए, यदि सिरदर्द, मतली, सूजन, पेट में दर्द, स्तन कोमलता और थकान जैसे पीएमएसिंग (PMS) लक्षणों में प्रवाह बिगड़ता है, तो बस डॉक्टर से परामर्श करें।

Period cramp ke liye hot bag use kareपीरियड क्रैम्प के लिए हॉट बैग का इस्तेमाल करें। चित्र:शटरस्टॉक

आप और क्या कर सकती हैं?

  • संतुलित आहार लेना याद रखें। 
  • नियमित रूप से कसरत करें।  
  • वजन कंट्रोल रखें।  
  • मासिक धर्म की ऐंठन और पेट दर्द को प्रबंधित करने के लिए हॉट बैग का उपयोग करें।
  • आपके लिए अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखना और मासिक धर्म के दर्द से निपटना अनिवार्य होगा।

यह भी पढ़ें: सर्दियों के मौसम में क्या आप भी वहां सूखापन महसूस कर रहीं हैं? तो ये है विंटर वेजाइना का संकेत

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स
पीरियड ट्रैकर के साथ।

ट्रैक करें