ऐप में पढ़ें

इस मौसम में आपकी मम्मी को ज्यादा परेशान कर सकती है यूरिन लीकेज की समस्या, जानिए इसे कैसे संभालना है

Published on:19 November 2021, 21:00pm IST
खांसते, छींकते या हंसते समय अचानक पेशाब का रिसना यूरिन लीकेज की समस्या कहा जाता है। उम्र बढ़ने और सर्दियों के दौरान यह समस्या ज्यादा परेशान कर सकती है।
Urine leakage
आपकी मम्मी को ज्यादा परेशान कर सकती है यूरिन लीकेज की समस्या। चित्र : शटरस्टॉक

बढ़ती उम्र के साथ महिलाओं में कई शारीरिक समस्याएं आने लगती हैं, खासकर प्रेगनेंसी के बाद। ऐसी ही एक समस्या है यूरिन लीकेज (Urine Incontinence) की, जो कि प्रेगनेंसी के बाद आमतौर पर देखी जाती है। हालांकि, बढ़ती उम्र के साथ यह समस्या पुरुषों में भी काफी आम है, मगर महिलाओं को ज्यादा प्रभावित करती है।

कब होती है पेशाब रिसने की समस्या

यह अक्सर गर्भावस्था, प्रसव और रजोनिवृत्ति से संबंधित होती है। अमूमन यह समस्या सर्दियों में बढ़ जाती है और बाहर काम करने वाली महिलाओं के लिए शर्मिंदगी भरी हो सकती है। इनमें से प्रत्येक अनुभव समय के साथ एक महिला की पेल्विक सपोर्ट मसल्स (Pelvic Support Muscles) को कमजोर कर सकता है।

जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है, आपको मूत्र असंयम का अनुभव होने की अधिक संभावना होती है। आपके पैल्विक अंगों को सहारा देने वाली मांसपेशियां समय के साथ कमजोर हो सकती हैं, जिससे आपको रिसाव की समस्या हो सकती है।

UTI
यूटीआई भी इसका कारण हो सकता है। चित्र- शटरस्टॉक।

क्लीवलैंड क्लीनिक के अनुसार क्या हैं यूरिन लीकेज के कारण

1. मूत्र पथ का संक्रमण (UTI):

आपके मूत्र पथ (मूत्रमार्ग, मूत्रवाहिनी, मूत्राशय और गुर्दे) के अंदर एक संक्रमण दर्द पैदा कर सकता है और आपकी बार-बार पेशाब करने की आवश्यकता को बढ़ा सकता है। एक बार इलाज के बाद, बार-बार पेशाब करने की इच्छा आमतौर पर दूर हो जाती है।

2. गर्भावस्था:

गर्भावस्था के दौरान, आपका गर्भाशय (Uterus) मूत्राशय पर अतिरिक्त दबाव डालता है क्योंकि यह फैलता है। ज्यादातर महिलाएं जो गर्भावस्था (Pregnancy) के दौरान लीकेज का अनुभव करती हैं, वे नोटिस करती हैं कि यह प्रसव के बाद के हफ्तों में दूर हो जाती है।

3. दवाएं:

असंयम कुछ दवाओं का एक साइड इफेक्ट हो सकता है, जिसमें मूत्रवर्धक और एंटीडिपेंटेंट्स शामिल हैं।

4. पेय पदार्थ:

कुछ पेय हैं – जैसे कॉफी और अल्कोहल (Alcohol)- जिससे आपको अधिक बार पेशाब करने की आवश्यकता हो सकती है। यदि आप इन पेय पदार्थों को पीना बंद कर देते हैं, तो आपकी बार-बार पेशाब करने की आवश्यकता कम हो जाती है।

5. कब्ज:

पुरानी कब्ज के कारण आपको मूत्राशय पर नियंत्रण की समस्या हो सकती है।

रजोनिवृत्ति भी यूरिन लीकेज का एक कारण है। चित्र : शटरस्टॉक

6. रजोनिवृत्ति:

मेनोपॉज (Menopause) एक महिला के शरीर में परिवर्तन का समय है जब हार्मोन का स्तर तेजी से बदलता है और श्रोणि तल की मांसपेशियां भी कमजोर हो सकती हैं।

अगर आपकी मम्मी को यूरिन लीकेज की समस्या है, तो ये टिप्स उनके लिए मददगार साबित हो सकती हैं

1. पेंटी लाइनर पहनना

अगर आपकी मां वर्किंग हैं, तो उन्हें पैंटी लाइनर (Panty Liner) पहनने की सलाह दें। इस तरह अगर उठते – बैठते समय थोड़ा बहुत लीकेज हो रहा, तो वह कपड़ों तक नहीं आएगा।

2. पेंटी हाइजीन का ख्याल रखना

यूरिन लीकेज की समस्या में इंटीमेट हाइजीन (Intimate Hygiene) का ख्याल रखना बहुत ज़रूरी है। यह समस्या संक्रमण का भी कारण बन सकती हैं, अगर गीली पैंटी बहुत देर तक पहनी जाए।

योनि स्वछता बहुत जरूरी है। चित्र : शटरस्टॉक
योनि स्वछता बहुत जरूरी है। चित्र : शटरस्टॉक

नियमित इलाज के अलावा कुछ लाइफस्टाइल चेंजेस हैं, जो इस समस्या से निजात पाने में मदद कर सकते हैं

1. कुछ वेजाइनल एक्सरसाइज़

श्रोणि से संबंधी एक्सरसाइज़ भी आपकी मदद कर सकती है। इन्हें कीगल एक्सरसाइज़ (Kegel Exercise) के नाम से भी जाना जाता है, जिससे श्रोणि की मांसपेशियां मजबूत रहती हैं। आप बार – बार अपनी योनि की मांसपेशियों को संकुचित करने की प्रैक्टिस कर सकती हैं।

2. स्वस्थ शरीर के वजन को बनाए रखना

शरीर का अधिक वजन होना लीकेज का एक कारण हो सकता है। स्वस्थ आहार खाने और व्यायाम करने से आप लीकेज के जोखिम को कम कर सकती हैं।

यह भी पढ़ें : हमेशा सफर में रहती हैं, तो जानिए सफर में पर्सनल हाइजीन मेंटेन करने के कुछ खास टिप्स

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।