इन्फर्टिलिटी के लिए आपके पार्टनर का मोटापा भी हो सकता है  जिम्मेदार, एक्सपर्ट बता रहे हैं कैसे 

Published on: 25 July 2022, 20:17 pm IST

फर्टिलिटी में दोनों पार्टनर की साझेदारी होती है। गर्भ धारण करने के लिए दोनों पार्टनर का स्वस्थ होना जरूरी है। इसलिए मोटापे और पुरुष प्रजनन क्षमता के बीच की कड़ी को समझने की जरूरत है।

infertility ke karan
इनफर्टिलिटी के लिए आपके पार्टनर का मोटापा भी जिम्मेदार हो सकता है। चित्र: शटरस्टॉक

अधिक वजन (Overweight) या मोटा (Obesity) होना अपने आप में हानिकारक है। यह स्वास्थ्य को निश्चित रूप से प्रभावित करता है। वजन और हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज (टाइप 2 डायबिटीज मेलिटस), कोलेस्ट्रॉल डिसऑर्डर और हृदय संबंधी बीमारियों (हृदय-संवहनी रोग) के बीच सीधा संबंध है, यह हम सभी जानते हैं। जिस बात पर सार्वजनिक तौर पर शायद ही कभी चर्चा की जाती है, वह है ओवरवेट या ओबेसिटी के कारण मेल फर्टिलिटी (Obesity and Male infertility) पर प्रभाव। विश्व आईवीएफ दिवस (World IVF day) पर आइए इसके बारे में बात करते हैं।

ओबीज कपल (Obese couple) जो खुद को स्वस्थ मानते हैं, वास्तव में वे यह नहीं जानते कि मोटापे की वजह से उनके गर्भ धारण करने की क्षमता प्रभावित हो रही है। डॉक्टरों द्वारा उन्हें मोटापे और इन्फर्टिलिटी के बीच के संबंध को समझाने के बाद ही वे आश्वस्त हो पाते हैं और क्षति को ठीक करना शुरू कर देते हैं। 

स्टडीज से पता चला है कि मोटे पुरुषों में शुक्राणुओं की संख्या कम होने की संभावना अधिक थी और उनके इजेकुलेशन के लगभग 40 प्रतिशत से अधिक में स्पर्म होने की संभावना ही नहीं थी।

पहले समझिए क्या है मोटापा 

मोटापे की एक वजह हमारा जेनेटिक कंस्ट्रक्ट भी हाे सकता है, जो भारतीय परिदृश्य के अनुकूल है। यह पश्चिमी दुनिया के अन्य हिस्सों से अलग होगा। सौ से अधिक चिकित्सा विशेषज्ञों को शामिल करते हुए सर्वसम्मति से भारत में मोटापे की परिभाषा को निकाला गया। इसे मापने के 3 उपाय हो सकते हैं:

बॉडी मास इंडेक्स (Body Mass Index)

18.0-22.9 किग्रा/एम2 के बीच बीएमआई को सामान्य रूप में वर्गीकृत किया जाता है। 23.0 और 24.9 किग्रा/एम2 के बीच अधिक वजन के रूप में और एक बीएमआई> 25 किग्रा/एम2 को मोटे के रूप में वर्गीकृत किया जाता है। जानें कि बीएमआई या शरीर का वजन स्वास्थ्य का बेहतर संकेतक हैं या नहीं।

कमर की परिधि (Waist Circumference)

पुरुषों के लिए कमर की परिधि 78 सेमी और महिलाओं के लिए 72 सेमी पर सर्वसम्मति को एक्शन 1 के रूप में वर्गीकृत किया गया है और पुरुषों के लिए 90 सेमी और महिलाओं के लिए 80 सेमी को एक्शन 2 के रूप में वर्गीकृत किया गया है।

कमर से कूल्हे का अनुपात (Waist to Hip ratio)

पुरुषों और महिलाओं के लिए कमर से कूल्हे का अनुपात कट-ऑफ क्रमशः 0.88 और 0.81 है।

प्रजनन क्षमता पर मोटापे का प्रभाव

पुरुष प्रजनन क्षमता पर उच्च बीएमआई या डब्ल्यूसी के नकारात्मक प्रभाव की आमतौर पर अनदेखी की जाती है। मोटापे का पुरुष प्रजनन क्षमता पर एक निश्चित प्रभाव पड़ता है जैसा कि मोटे पुरुषों में होता है;

लो टेस्टोस्टेरोन

लोअर स्पर्म काउंट

पूअर स्पर्म मॉर्फोलोजी

लोअर स्पर्म मोटिलिटी

इनमें से प्रत्येक इन्फर्टिलिटी के लिए स्वतंत्र रूप से योगदान देता है। जब प्रजनन विशेषज्ञ वजन लेते हैं, तो वे इसी इरादे से लेते हैं। वजन एक हेल्पफुल सरोगेट मार्कर है। रोगी को दवा शुरू करने से पहले ही इन्फर्टिलिटी का इलाज शुरू किया जाता है।

मरीजों को वजन कम करने की सलाह दी जाती है और क्रैश डाइट न लेने की सलाह दी जाती है। 

इसकी बजाय उन्हें एक योग्य फिजिशियन और एक योग्य डायटीशियन की देखरेख में धीरे-धीरे वजन घटाने की दिशा में काम करने का आग्रह किया जाता है।”

आहार, व्यायाम, नींद और तनाव में कमी के संयोजन के माध्यम से वजन का प्रबंधन करना बहुत आसान है। वेट और इन्फर्टिलिटी के साथ मोटापे का संबंध सिर्फ एक महिला की समस्या नहीं है यह पुरुषों के प्रजनन स्वास्थ्य को भी प्रभावित करता है।

जानिए आप मोटापा कम कर कैसे कर सकते हैं पुरुष प्रजनन क्षमता में सुधार 

स्वस्थ जीवन के लिए लाइफस्टाइल में बदलाव बेहद जरूरी है। पोषक तत्वों की कमी वाली डाइट, तनाव, वजन बढ़ने और सेल्फ स्टीम में कमी के कारण भी वजन और बढ़ सकता है।

बॉडी बिल्डिंग एनाबॉलिक स्टेरॉयड का अनियंत्रित उपयोग या दवाओं का सेवन भी फर्टिलिटी को नकारात्मक रूप से प्रभावित करता है।

infertility ke karan
बच्चा चाहती हैं, तो पार्टनर के वजन को घटाने की कोशिश करें। चित्र: शटरस्टॉक

वजन बढ़ाने और इन्फर्टिलिटी के लिए शराब और धूम्रपान भी योगदान देता है। पुरुषों को अपने शराब के सेवन को नियंत्रित करने की जरूरत है। यदि संभव हो तो स्मोकिंग भी छोड़ दें।

हमारे शरीर की मांग के अनुसार, समय पर और आवश्यक डाइट ली जाती है। इससे ही शरीर स्वस्थ रहता है और उससे जरूरी काम लिए जा सकते हैं।

यह भी पढ़ें:-सावन में करना है सेक्स को एन्जॉय, तो हर रोज पिएं अनार का जूस, वियाग्रा की तरह करता है काम  

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स
पीरियड ट्रैकर के साथ।

ट्रैक करें