बढ़ता वजन कम करता जाता है यौन जीवन का आनंद, यहां जानिए कैसे

हृदय संबधी समस्याओं और डायबिटीज़ के अलावा मोटापा सेक्सुअल लाइॅफ को भी प्रभावित करने लगता है, जिससे लिबिडो की कमी बढ़ने लगती है। जानते हैं कि सेक्सुअल लाइफ पर मोटापे का प्रभाव (how obesity affects libido)।
सभी चित्र देखे obesity aapki sex life par asar daal sakti hai
ओबेसिटी आपकी सेक्स लाइफ पर असर डाल सकती है। चित्र: शटरस्टॉक
ज्योति सोही Updated: 4 Mar 2024, 02:14 pm IST
  • 141

बिना सोचे समझे जल्दबाज़ी में कुछ भी खाना स्वास्थ्य संबधी समस्याओं के जोखिम को बढ़ा देता है। अनियमित खान पान के चलते व्यक्ति धीरे धीरे मोटापे की चपेट में आने लगता है। दरअसल, शरीर में जमा होने वाली अतिरिक्त कैलोरीज़ वज़न बढ़ने का कारण साबित होने लगती है। वज़न बढ़ने से न केवल पोश्चर में बदलाव आता है बल्कि व्यक्ति की सेक्सुअल लाइॅफ पर भी उसका प्रभाव दिखने लगता है। वे महिलाएं या पुरूष, जो मोटापे की चपेट में आ जाते हैं, उनके शरीर में लिबिडो की कमी बढ़ने लगती है और सेक्सुअल लाइफ असंतुलित हो जाती है। इस लेख के माध्यम से वर्ल्ड ओबेसिटी डे पर पता लगाएं कि कैसे मोटापा और सेक्सुअल लाइफ है एक दूसरे से संबधित (how obesity affects libido)।

इस बारे में बातचीत करते हुए आर्टिमिस अस्पताल गुरूग्राम में सीनियर फीज़िशियन डॉ पी वेंकट कृष्णन का कहना है कि मोटापा के चलते शरीर में शारीरिक परिवर्तन देखने को मिलते है। हार्मोनल परिवर्तन के कारण इसका असर लिबिडो पर भी दिखने लगता है। खासतौर से अतिरिक्त वज़न वाले लोगों में टेस्टोस्टेरोन और एस्ट्रोजन के स्तर में परिवर्तन देखने को मिलता है। हार्मोनल असंतुलन के चलते शरीर में टाइप 2 मधुमेह और उच्च रक्तचाप जैसी स्थितियों का भी जोखिम बना रहता है। इन दोनों रोगों के कारण कामेच्छा पर उसका असर देखने को मिलता हैं।

वर्ल्ड ओबेसिटी डे (World obesity day)

विश्वभर में हर साल 4 मार्च को वर्ल्ड ओबेसिटी डे (World obesity day) के तौर पर मनाया जाता है। इस मौके पर लोगों को मोटापे से जुड़ी समस्याओं और प्रभावों से अवगत करवाया जाता है। इस साल वर्ल्ड ओबेसिटी डे के लिए ‘लेट्स टॉक अबाउट ओबेसिटी एंड’ (Let’s talk about obesity and) को थीम के रूप में चुना गया है। इस मौके पर स्कूल, कॉलेज व ऑफिस में लोगों को मोटापे के बारे में जागरूक करने के लिए वर्कशॉप्स का आयोजन किया जाता है।

मोटापा सेक्स लाइफ को कैसे प्रभावित करता है

साइंस डायरेक्ट की एक स्टडी के अनुसार वजन को नियंत्रित करने के लिए चिंतित 30 फीसदी ओवरवेट लोग सेक्स ड्राइव, लिबिडो और परफॉर्मेस को लेकर चिंतित रहते हैं। मोटापे के कारण कामेच्छा में कमी आने के साथ यौन जीवन पर उसका बुरा प्रभाव नज़र आने लगता है। मोटापे के चलते सेक्सुअल प्लेज़र और आर्गेज्म तक पहुंचना मुश्किल हो जाता है।

एनआईएच की एक रिसर्च में 1,000 ऐसे लोगों को शामिल किया गया, जो मोटे और सामान्य वजन से अधिक है। इसमें शामिल होने वाले पुरुषों और महिलाओं के इस रिसर्च में आधे से अधिक मोटापे से ग्रस्त लोगों ने सेक्सुअल प्लेजर, सेक्स ड्राइव या यौन प्रदर्शन जैसी समस्याएं पाई गईं। इसमें 5 प्रतिशत ऐसे लोग भी थे, जो सेक्स से परहेज करते हैं। रिसर्च में पाया गया कि मोटापे से ग्रस्त लोगों में इरेक्टाइल डिस्फंक्शन का जोखिम बढ़ जाता है। इसके अलावा मधुमेह और हृदय संबधी समस्याओं का खतरा बना रहता है।

Obesity sexual life ko kaise pahunchaata hai nuksaan
मोटापे के चलते सेक्सुअल प्लेज़र और आर्गेज्म तक पहुंचना मुश्किल हो जाता है। चित्र : अडोबी स्टॉक

मोटापा और सेक्स कैसे एक दूसरे से संबधित है

अमेरिकन एसोसिएशन फॉर द स्टडी ऑफ ओबेसिटी के एक रिसर्च की मानें, तो दिनों दिन बढ़ने वाले मोटापे से सेक्सुअल लाइफ प्रभावित होती है और इनफर्टिलिटी की समस्या का सामना करना पड़ता है। महिलाएं हो या पुरूष मोटापा बढ़ने से सेक्सुअल लाइफ पर उसका नकारात्मक प्रभाव नज़र आने लगता है। शोध के अनुसार वे लोग जो मोटापे से ग्रस्त है, उनमें अन्य लोगों की तुलना में 25 फीसदी ज्यादा लिबिडो की कमी पाई जाती है।

इससे बचने के लिए इन बातों का रखें ख्याल

1. हेल्दी डाइट लें

ओवरइटिंग से बचने के लिए दिन भर में छोटी और हेल्दी मील्स लें। इससे शरीर को विटामिन, मिनरल, कैल्शियम, प्रोटीन और जिंक समेत पोषक तत्वों की प्राप्ति होती है। इसके अलावा शरीर एक्टिव भी बना रहता है। इससे बार बार भूख लगने की समस्या भी हल होने लगती है।

khaanpaan par dhyan den
अपनी डाइट फ्रेश और बैलेंस बनाए रखने की कोशिश करें। चित्र : शटरस्टॉक

2. एक्सरसाइज़ है ज़रूरी

दिन की हेल्दी शुरूआत के लिए कुछ देर व्यायाम अवश्य करें। इससे आपके शरीर में जमा अतिरिक्त कैलोरीज़ बर्न होती है और आलस्य की समस्या भी कम होने लगती है। योग और मेडिटेशन समेत हाई इंटैसिटी एक्सरसाइज़ को अपने रूटीन में शामिल करें।

3. तनाव से रहें दूर

दिनभर चिंताओं से घिरे रहने के चलते तनाव बढ़ने लगता है, जो मोटापा की समस्या का मुख्य कारण साबित होता है। ऐसे में दिनभर में कुछ वक्त मेडिटेशन के लिए निकालें और पसंदीदा एक्टीविटीज़ भी करें। छोटी छोटी बातों पर होने वाली चिंताओं से भी दूर रहने का प्रयास करें। खुश रहना सेहत के लिए बेहद ज़रूरी है।

ये भी पढ़ें- इन 6 कारणों से समय से पहले सफेद हो सकता है प्यूबिक हेयर, इन्हे न करे नजरअंदाज

  • 141
लेखक के बारे में

लंबे समय तक प्रिंट और टीवी के लिए काम कर चुकी ज्योति सोही अब डिजिटल कंटेंट राइटिंग में सक्रिय हैं। ब्यूटी, फूड्स, वेलनेस और रिलेशनशिप उनके पसंदीदा ज़ोनर हैं। ...और पढ़ें

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
अगला लेख