वैलनेस
स्टोर

आपके स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद है जीवनसाथी के प्रति ईमानदार रहना, जानिए क्या कहते हैं एक्सपर्ट

Published on:11 August 2021, 15:30pm IST
आपको यह बात भले ही पुरानी सोच की लगे, लेकिन विशेषज्ञ मानते हैं कि एक से ज्यादा पार्टनर होना आपके समग्र स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकता है।
Dr. Kedar Tilve
  • 90 Likes
Relationship me loyalty apki sehat ke liye bi faydemand hai
पार्टनर के प्रति ईमानदार होना सिर्फ आपके रिश्ते ही नहीं, स्वास्थ्य को भी बेहतर रखता है। चित्र: शटरस्टॉक

ये कई बार कहा गया और देखा भी गया है कि, कुछ वर्षों के बाद पति-पत्नी दोनों की शक्लें एक-दूसरे से मिलने लगती हैं। अलग-अलग परिवार, पृष्ठभूमि और क्षेत्र के दो लोग जब साथ रहने लगते हैं, तो ऐसा कैसे होता है कि वे एक जैसे दिखने लगते हैं! हैरान करने वाली बात हैं न? पर विशेषज्ञ इस बात से पूरी तरह सहमत हैं। वे मानते हैँ कि सिर्फ शक्ल ही नहीं, बल्कि एक पार्टनर की सेहत भी दूसरे पार्टनर की सेहत को प्रभावित करती है। और जब आप लगातार पार्टनर बदलते हैं, तो यह आपके मानसिक स्वास्थ्य ही नहीं, बल्कि यौन स्वास्थ्य के लिए भी खतरनाक हो सकता है।

आपका स्वास्थ्य और पार्टनर

मल्‍टीपल पार्टनर्स रखना लाइफस्‍टाइल का एक सोचा-समझा फैसला है, जो कुछ लोग करते हैं। हालांकि, मल्‍टीपल सेक्‍सुअल पार्टनर्स रखने का संबंध यौन और मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य खराब होने और आयु कम होने से होता है। इससे व्‍यक्ति के शारीरिक और मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य पर कई बुरे प्रभाव हो सकते हैं।

किसी व्‍यक्ति के सेक्‍सुअल पार्टनर्स की संख्‍या का सीधा सम्‍बंध जेनाइटल हर्पीज, क्लामीडिया, जेनाइटल वार्ट्स, एचआईवी/ एड्स जैसे सेक्‍सुअली ट्रांसमिटेड डिजीज (एस.टी.डी.) से जुड़ा होता है। यह सम्‍बंध जानलेवा रोगों, जैसे प्रोस्‍टेट कैंसर, सर्वाइकल कैंसर और ओरल कैंसर के जोखिम से भी जुड़ा होता है।

multiple sex partners apko kayi tarah ki beemariyan de sakte hain
मल्टीपल सेक्स पार्टनर आपको कई तरह की बीमारियां दे सकते हैं। चित्र: शटरस्टॉक

अब, ज्‍यादातर लोगों का मानना है कि प्रोटेक्‍शन का इस्‍तेमाल करने से एसटीडी, आदि का जोखिम दूर किया जा सकता है, लेकिन प्रोटेक्‍शन का इस्‍तेमाल करते हुए और सुरक्षित सेक्‍स की गाइडलाइंस पर चलते हुए भी यह 100% सुरक्षित नहीं है। दुर्भाग्‍य से, लोग एचआईवी या जीवनभर रहने वाले रोग हेपेटाइटिस ‘बी’ वायरस से संक्रमित हो सकते हैं।

सेफ सेक्स भी पूरी तरह सेफ नहीं होता

इन मिथ्स पर विश्‍वास मत कीजिये कि यदि आप सेक्‍सुअल इंटरकोर्स नहीं करते हैं, तो आपको एसटीडी नहीं होंगे या यह ओरल या एनल सेक्‍स से नहीं होते हैं। एसटीडी का कारण बनने वाले कई वायरस और बैक्‍टीरिया आपके मुंह, मलद्वार या आपके यौनांगों के बाहरी भागों में छोटी चोट/कट होने पर भी आपके खून में मिल सकते हैं।

परफॉर्मेंस एंग्जायटी कर सकती है परेशान

मल्‍टीपल पार्टनर्स वाले लोग कई बार परफॉर्मेंस एंग्जायटी का सामना भी करते हैं और लंबे समय तक रिश्‍ते निभाने या बनाये रखने में उन्‍हें कठिनाई हो सकती है। इससे मौजूदा रिश्‍ते को होने वाले नुकसान के बारे में बताने की जरूरत भी नहीं है।

Apko performance anxiety ka bhi samna karna pad sakta hai
यह आपको परफाॅर्मेंस एंग्जायटी का भी शिकार बना सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

आगे चलकर इससे अपने प्रति गलत धारणा, बेअसर रिश्‍ते और डिप्रेशन जैसी समस्‍याएं भी हो सकती हैं। ऐसे कई उदाहरण हैं, जो दिखाते हैं कि स्‍वस्‍थ सम्‍बंधों से लंबी अवधि में स्‍वास्‍थ्‍य बेहतर रहता है और आयु बढ़ती है।

याद रखिये कि लंबी अवधि के सम्‍बंधों से ही सर्वश्रेष्‍ठ भावनात्‍मक, शारीरिक और यौन स्‍वास्‍थ्‍य मिल सकता है। अगर आप पार्टनर बदलते रहते हैं, तो आपको इसकी कीमत अपने यौन स्‍वास्‍थ्‍य और आयु से चुकानी पड़ सकती है।

यह भी पढ़ें – आपके रिश्ते को भावनात्मक रूप से भी मजबूत बनाता है फीमेल ऑर्गेज़्म

Dr. Kedar Tilve Dr. Kedar Tilve

Dr. Kedar Tilve is Consultant Psychiatrist at Fortis Hospital Mulund and Fortis Hiranandani Hospital, Vashi (Mumbai)