अच्छे सेक्स सेशन का मतलब है हेल्दी स्लीप पैटर्न, जानिए क्या है इन दोनों का संबंध

Updated on: 3 August 2022, 21:10 pm IST

क्या आपने भी यह महसूस किया है कि सेक्स करने के बाद आपको जितनी गहरी नींद आती है, वह किसी और तरीके से नहीं आती? समझिए क्या है सेक्स और नींद का कनैकशन। 

जानें क्या है सेक्स और स्लीप के बीच का कनेक्शन, चित्र :शटरस्टॉक

आपके फिजिकल और मेंटल हेल्थ के लिए सेक्स भी उतना ही महत्वपूर्ण है, जितना आहार या नींद। यौन स्वास्थ्य न केवल शारीरिक गतिविधि है, बल्कि इसमें भावनाएं, रिश्ते और जीवन की व्यापक गुणवत्ता भी शामिल है। सिर्फ इतना ही नहीं, एक इंटीमेट सेक्स सेशन आपको गहरी नींद लेने भी मदद कर सकता है। आइए जानते हैं क्या है सेक्स और अच्छी नींद का संबंध (Sex effect on sleep)।  

नींद और सेक्स दोनों की आपके समग्र स्वास्थ्य में बड़ी भूमिका होने के बावजूद, इनके बीच के संबंधों को अक्सर अनदेखा कर दिया जाता है। हालांकि, स्वास्थ्य विज्ञान सेक्स और नींद के बीच मज़बूत संबंध की पुष्टि करता है। 

अब तक हुए शोधों के परिणाम यह बताते हैं कि अच्छी नींद आपको एक बेहतर यौन जीवन की ओर ले जाती है. आपकी हेल्दी सेक्स लाइफ आपको बेहतर नींद दे सकती हैं।

अच्छी नींद और सेक्स 

नींद और कामुकता के बीच का संबंध ज़रा जटिल है और इसमें मन और शरीर दोनों शामिल हैं। एक अच्छी नींद और सेक्स के बुनियादी तत्वों को समझने की ज़रुरत है। स्वस्थ होने के लिए नींद बहुत आवश्यक है, और अच्छी नींद के लिए पर्याप्त मात्रा यानी कम से कम 8 से 9 घंटे आराम की आवश्यकता होती है। ऐसे में नींद की गुणवत्ता भी महत्वपूर्ण है। बिना किसी रुकावट के मिलने वाली लगातार नींद से वास्तव में आराम की नींद आती है।

हेल्दी सेक्स सेशन के जरूरी चरण 

नींद की तरह, बेहतर सेक्स के लिए भी कई कारक ज़िम्मेदार हैं। हेल्दी सेक्स के लिए ये कुछ चीज़ें बेहद ज़रूरी हैं:

1 सेक्स की इच्छा यानी लिबिडो- प्राकृतिक रूप से सेक्स की इच्छा होना भावनाओं से जुड़ा है। गंध, जगहें, पार्टनर्स के बीच आपसी बातचीत कामेच्छा को जगाने में कारगर रहती हैं। 

Libido boost karta hai sehjan ka fool
लिबिडो को बूस्ट करती साउंड स्लीप यानी अच्छी नींद। चित्र : शटरस्टॉक

2 उत्तेजना-  इसमें शारीरिक प्रतिक्रियाएं शामिल हैं। ये धीरे-धीरे तेज होती हैं और आगे चलकर लिंग या भगशेफ में रक्त का प्रवाह तेज़ होना योनि स्राव पैदा करता है। 

3 तृप्ति – चरमोत्कर्ष के रूप में भी जाना जाता है, सेक्स का यह चरण यौन उत्तेजना और आनंद का चरम  है। ऑर्गेज्म से पहले पूरे शरीर में मांसपेशियों में तनाव बढ़ जाता है। योनि की मांसपेशियों में आप इस तनाव को महसूस कर सकती हैं, जो ऑर्गेज़्म तक पहुंचने पर महसूस होता है।  

4 संभोग के बाद रिलैक्सेशन – इस चरण के दौरान, जननांगों में रक्त का प्रवाह कम हो जाता है और उत्तेजना की भावना कम हो जाती है। शरीर अंततः अपनी मूल अवस्था में लौट आता है।

हेल्दी सेक्स सेशन को बाधित करते हैं ये कारण

यौन समस्याएं

यौन समस्याएं किसी को भी प्रभावित कर सकती हैं, लेकिन पुरुषों और महिलाओं में इसके कारण और लक्षण अक्सर अलग-अलग होते हैं। अध्ययनों का अनुमान है कि लगभग 33% पुरुष और 45% महिलाओं ने किसी न किसी यौन समस्या का अनुभव किया। लगभग 13% पुरुषों और 17% महिलाओं में अधिक गंभीर समस्याएं थीं।

लिबिडो की कमी 

यौन रोग के कारण सेक्स में रुचि यानी लिबिडो की कमी, उत्तेजना की कमी, कामोन्माद का अनुभव करने में असमर्थता और सेक्स के दौरान दर्द होना शामिल हैं। सेक्सुअल हेल्थ से जुड़ी दिक्कतें मुख्य रूप से शारीरिक हो सकती हैं लेकिन आमतौर पर मानसिक, भावनात्मक या रिश्ते के मुद्दों से जुड़ी होती हैं जो सामान्य यौन गतिविधि में रुकावट पैदा कर सकती हैं।  

अब समझिए आपकी नींद को कैसे बेहतर बनाता है सेक्स 

1 तनाव कम करता है 

सेक्स ड्राइव के साथ रिलैक्स होना बनता है अच्छी नींद की वजह। चित्र-शटरस्टॉक।

सेक्स अक्सर बेहतर नींद में योगदान कर सकता है। ऑर्गेज्म के बाद शरीर हॉर्मोन रिलीज करता है ऑक्सीटोसिन और प्रोलैक्टिन की तरह, जो सुखद और आराम की भावनाओं को प्रेरित कर सकते हैं। सेक्स हॉर्मोन कोर्टिसोल के स्तर को भी कम करता है, जो तनाव से जुड़ा होता है।

2 नींद की गुणवत्ता बढ़ाता है 

अध्ययनों से संकेत मिलता है कि यह हॉर्मोनल परिवर्तन आपको रिलैक्स करके नींद आने का कारण बन सकते हैं और सोना आसान बना सकते हैं। यह हस्तमैथुन के साथ ही सेक्स के बाद भी हो सकता है। 

पुरुषों और महिलाओं दोनों में से लगभग 50% का कहना है कि हस्तमैथुन से प्राप्त एक संभोग उन्हें सोने में मदद करता है और उनकी नींद की गुणवत्ता में सुधार करता है।

3 साथी के साथ अंतरंगता रिलैक्स करती है

एक साथी के साथ सेक्स इस हॉर्मोनल प्रतिक्रिया को बढ़ा सकता है। निकटता और अंतरंगता की भावनाओं को आसान बना सकता है जो सोने के लिए अनुकूल हैं। शोध में यह प्रभाव महिलाओं की तुलना में पुरुषों में अधिक पाया गया है और वे सेक्स के बाद जल्दी सो जाते हैं।

यह भी पढ़ें:मलाइका अरोड़ा दे रही हैं अपनी फ्रेंड के साथ एक्सरसाइज़ करने का सुझाव, जानिए इसका कारण

शालिनी पाण्डेय शालिनी पाण्डेय

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स
पीरियड ट्रैकर के साथ।

ट्रैक करें