चुंबन के साथ-साथ अपनी ओरल हाइजीन का भी रखें ख्याल, एक्सपर्ट बता रहे हैं क्यों

Updated on: 26 April 2022, 12:47 pm IST

प्यार पर मुहर लगाने के लिए फ्रेंच किस से बेहतर कुछ भी नहीं। पर क्या ये आपकी ओरल हाइजीन को प्रभावित कर सकती है? इस बारे में जान लेना भी जरूरी है।

kiss ke sath apko oral hygiene ka bhi khyal rakhna zaruri hai
अपने प्रिय को चूमने के साथ आपको अपनी ओरल हाइजीन का ख्याल रखना भी जरूरी है। चित्र: शटरस्टॉक

अपने प्यार को एक्सप्रेस करने और किसी खास को यह जताने के कई तरीके हैं। इनमें चुंबन (Kiss) सबसे खास है। फिर चाहें वह फ्लाइंग किस (Flying kiss) हो या स्मूच (smooch) यानी फ्रेंच किस (French Kiss)। ये आप दोनों के प्यार और इंटीमेसी (Love and intimacy) को और ज्यादा बूस्ट कर देती है।

आपके होंठों के साथ आहिस्ता-आहिस्ता आप दोनों के इमोशन्स एक-दूसरे पर हावी होने लगते हैं। पर बात सिर्फ होंठों तक ही नहीं रुकती, इसमें जीभ और मुंह को खास तरह से उत्तेजित किया जाता है। है न? हो सकता है कि आप भी इसे लेकर बहुत एक्साइटेड हों, पर क्या इस दौरान आप अपनी ओरल हाइजीन को लेकर चिंतित हैं?

लेडीज, यह प्यार का मौसम है, वैलेंटाइन्स डे, गुलाब, टेडी, प्रपोजल, हग और आखिर में किस (Kiss)। आप मानें या न मानें फ्रेंच किस आपकी इंटिमेसी को सबसे ज्यादा उत्तेजित करती है- जैसे कि मैन कोर्स में अप्पेटाइज़र।

फ्रेंच किस आपके लिए कामोत्तेजना का काम करती है, साथ ही हैप्पी हॉर्मोन्स को बाहर निकालती है, जिसके कारण आप स्ट्रेस फ्री और कम चिंतित रहते है। यह आपके चेहरे की मांसपेशियों के लिए फायदेमंद होता है और आपके प्रेमी के साथ आपके भावनात्मक रिश्ते को भी मजबूत बनाता है।

हालांकि, फ्रेंच किस के कुछ साइड इफेक्ट्स भी है, जिससे सावधान रहना भी आपके लिए जरूरी है।

क्यों जरूरी है किस के पहले मौखिक हाइजीन?

किसिंग से यौन संचारित रोग के फैलने की संभावना होती है, जैसे कि हर्पीस, साइटोमेगलोवायरस और सिफलिस। साथ ही आपके और आपके पार्टनर की लार के साथ कुछ बैक्टीरिया भी आप एक्सचेंज करते हैं।

thodi si laparwahi apko bacteria de sakti hai
थोड़ी साी लारवाही आपके लिए जोखिम बढ़ा सकती है। चित्र: शटरस्टॉक

आपका मुंह आपकी गट और श्वसन तंत्र तक पहुंचने का रास्ता है। अगर आपका साथी मौखिक हाइजीन पर ध्यान नहीं देता है, तो इसका खामियाजा आपको मौखिक बीमारी से ग्रस्त कर सकता है। इसलिए फ्रेंड्स, आपको किस करने से पहले थोड़ा सावधान होने और ओरल हाइजीन का ख्याल रखने की जरूरत है।

सर गंगा राम हॉस्पिटल, नई दिल्ली में डायरेक्टर, देंटेम और एसोसिएट कंसल्टेंट, डॉ गुनीत सिंह , बी डी एस एम डी डेंटल लांसर्स, का कहना है कि ताजा सांस और अच्छा मौखिक स्वास्थ्य, एक सुरक्षित किस के अनुभव के लिए महत्वपूर्ण हैं।

विशेषज्ञों की मानें तो रोजाना कुछ आसान मौखिक हाइजीन टिप्स अपना कर आप अपने मुख को स्वस्थ रख सकती है।

यहां हैं ओरल हाइजीन के लिए कुछ खास टिप्स

1 दिन में दो बार ब्रश अवश्य करें:

चाहे दिन हो या रात, ब्रश करना जरूरी है। व्यस्त रहने के कारण लोग रात को ब्रश करना जरूरी नहीं समझते। लेकिन यह सबसे बड़ी गलती है। मौखिक हाइजीन के लिए कम से कम दिन में 2 बार ब्रश करना सबसे महतवर्ण है।

2 गम मसाज:

थोड़ा समय अपने दांतो के साथ गम मसाज करने पर भी बिताएं, क्योंकि यह आपके दांतो के लिए बहुत लाभदायक है। स्वस्थ मसूड़े आपके स्वस्थ दांतों के लिए जरूरी हैं। 5 मिनट तक हर रोज सुबह और रात को अपने दांतों की किसी भी पसंदीदा तेल (ओलिव, विटामिन ई, बदाम का तेल ) से सर्कुलर मोशन में मसाज करें। यह आपके गम को स्वस्थ बनाने में सहायता करेगा।

3 अपनी जीभ को रोजाना साफ करें:

दिन में एक बार अपनी जीभ को ग्लिसरीन और कॉटन से साफ करें। यह किसी जादू से कम नहीं है कि आपकी जीभ बिल्कुल गुलाबी और कीटाणु मुक्त हो जाएगा। जिससे बैक्टीरिया से होने वाली ओरल प्रोब्लम्स से आप बची रहेंगी।

4 मुंह धोना:

खाने के बाद अपने मुंह को 2 से 3 बार माउथवाश से अच्छे से धोएं। जल्द परिणाम के लिए माउथवाॅश को 30 सेकंड तक मुंह में घुमाएं। आप अपनी माउथवॉश की शीशी पर्स में भी कैरी कर सकती हैं।

फ्रेंच किस के दौरान आपके आत्मविश्वास को बढ़ा देंगे ये 5 टिप्स

1 एलोवेरा और ग्लिसरीन को मिलाएं:

एलोवेरा ने सालो से अपने फायदे साबित किए हैं। यह प्लाक और टारटार से लड़ने में कारगर है। एलोवेरा को ग्लिसरीन में मिलाकर अपने दांतों की मालिश करें, यह आपके दांत को चमकीला बनाता है।

2 नारंगी के छिलके से दांतों को रगड़ें:

नारंगी के छिलके के पिछले हिस्से को अपने दांतो पर सीधा रगड़ सकते है। यह टारटर बनाने वाले कीटाणु से लड़ने में मदद करता है। आप छिलके का पेस्ट बना कर दांतों के सड़े हुए हिस्से पर लगा सकते है। कुछ देर छोड़ने के बाद अपने मुंह को अच्छी तरह धोलें, आपको फर्क खुद दिखने लगेगा।

3 तिल के बीजों को चबाएं:

एक मुट्ठी तिल के बीज को अपने मुंह मे डालें। उन्हें तब तक चबाते रहें जब तक वह मुलायम न हो जाएं। फिर उनके ऊपर ब्रश करे यह आपके मुंह से प्लाक और टारटर हटाने में मदद करेगा।

Sesame ke health benefits
तिल आपकी ओरल हाइजीन के लिए भी फायदेमंद हैं। चित्र:शटरस्टॉक

4 स्ट्रॉबेरीज:

स्ट्रॉबेरीज में दांतो को सफ़ेद रखने वाले एंजाइम पाए जाते हैं। जो आपके स्माइल को और निखार सकते हैं। सफेद दांतो के लिए स्ट्रॉबेरी को अपने दांतों पर सीधा रगड़ें या इसका पेस्ट बना लें।

5 बेकिंग सोडा:

बेकिंग सोडा को ग्लिसरीन में मिलाकर लगाना बहुत फायदेमंद है, लेकिन इसे सप्ताह में 1 या 2 बार ही इस्तेमाल करें। इसका प्रयोग 18 साल के उम्र से ऊपर के लोग ही करें।

डेंटिस्ट कैसे कर सकते है मदद?

डॉ सिंह कहते हैं, “हो सकता है आप स्कॉलिंग, पॉलिशिंग और भी कई तरह के दांतो की समस्याओं के लिए डेंटिस्ट के पास गए हों। वे आपको कई तरह के टूथपेस्ट देकर वापस भेज देते होंगे, जो कि कारगर साबित नहीं हो पाते। इसलिए साल में एक बार अपने दांतों की जांच जरूर करवाएं। 5 मिनट की पॉलिशिंग भी आपके दांतों में एक्स्ट्रा शाइन ला सकती है।”

यह भी पढ़ें – नेचुरल होना अच्छा है, यहां हैं 5 उपाय जो आपकी जांघों के रंग में निखार ला सकते हैं

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स
पीरियड ट्रैकर के साथ।

ट्रैक करें