यूटीआई हो गया है? रिकवरी के लिए दवा के साथ रखें इन 5 बातों का भी ध्यान

यूटीआई का बढ़ता संक्रमण आपके किडनी के इंफेक्शन का कारण बन सकता है। ऐसे में इसे समय रहते कंट्रोल करने के लिए इन 5 गतिविधियों से दूरी बनाए रखें।

yahan jane UTI me kya krna hai
यहां जाने यूटीआई में किन बातों का रखना है खास ध्यान। चित्र शटरस्टॉक।
अंजलि कुमारी Published on: 27 November 2022, 21:30 pm IST
  • 137

सभी महिलाएं कभी न कभी यूटीआई की समस्या से जरूर गुजरती हैं। वहीं यह समस्या किसी के लिए ज्यादा गंभीर होती है तो कुछ लोग इससे कम समय में उभर जाते हैं। इस दौरान यूरिन पास करते वक्त जलन और दर्द का एहसास होना, पेट के निचले हिस्से में दर्द रहना और बार-बार यूरिन पास करने की समस्या महिलाओं को काफी ज्यादा परेशान कर देती है। इसलिए यूटीआई की समस्या में मेडिकल ट्रीटमेंट के साथ-साथ अपनी कुछ नियमित गतिविधियों से परहेज रखना भी जरूरी है। अन्यथा यह संक्रमण ठीक होने की जगह तेजी से बढ़ने लगता है।

वहीं यूटीआई फैलाने वाले बैक्टीरिया यूरिनरी ट्रैक्ट के तहत किडनी और ब्लडस्ट्रीम में इंफेक्शन का कारण बन जाते हैं। इसलिए भूलकर भी इसके प्रति लापरवाही न बरतें। तो हम जानेंगे ऐसी पांच गतिविधियों के बारे में जो यूटीआई की स्थिति को और ज्यादा गंभीर कर सकता है। यदि आप यूटीआई से पीड़ित हैं और इससे छुटकारा पाना चाहती हैं तो बताई गई इन 5 चीजों को भूल कर भी न करें।

यूटीआई में इन पांच बातों का खास ध्यान रखें

1. यूरिन को रोककर न रखें

यदि आप यूटीआई से पीड़ित हैं तो किसी भी हालत में यूरिन को रोक कर न रहें। यदि आप ऐसा कर रही हैं तो यह आपके लिए एक गंभीर समस्या का कारण बन सकता है। यूरिन को रोके रहने से जर्म्स और बैक्टीरिया ब्लैडर में घूमते रहते हैं, जिस वजह से इंफेक्शन और ज्यादा बढ़ सकता है। ऐसे में जितना हो सके उतना पानी पियें और समय समय पर यूरिन को बाहर निकालती रहें। ऐसे में ट्रैक में इंफेक्शन फैलाने वाले जर्म्स और बैक्टीरिया यूरीन के साथ बाहर निकल आते हैं।

common symptoms about health
यूरीन रोककर न रखें। चित्र- शटरस्टॉक।

2. पानी के सेवन को नजरअंदाज न करें

शरीर में पानी की कमी डिहाईड्रेशन का कारण होती है। और यदि आपका शरीर डिहाइड्रेटेड है, तो बैक्टीरिया काफी तेजी से ग्रो करने लगती हैं। इसलिए पर्याप्त मात्रा में पानी पियें और खुद को हाइड्रेटेड रखें। क्योंकि ऐसा करने से यूटीआई में ली जाने वाली एंटीबायोटिक किडनी और ब्लैडर को साफ करते हुए आपके यूरिनरी ट्रैक्ट को भी क्लियर कर देती हैं। अन्यथा यह ट्रैक तक नहीं पहुंचती और दवाइयों का असर पूरी तरह नहीं होता।

3. किसी प्रकार की सेक्सुअल गतिविधियों में भाग न लें

यदि आपको यूटीआई के कोई भी लक्षण नजर आ रहे हैं तो ऐसे में सेक्सुअल एक्टिविटी से पूरी तरह परहेज रखें अन्यथा यह आपको किसी गंभीर समस्या में डाल सकता है। इसके साथ ही आपके पार्टनर के इनफेक्टेड होने की भी संभावना बनी रहती है। वहीं यूटीआई के दौरान सेक्सुअल गतिविधियां काफी ज्यादा दर्दनाक हो सकती हैं। यूटीआई के लक्षण खत्म होने के बावजूद भी 2 हफ्ते तक सेक्स करने से बचें, अन्यथा यह आपको दोबारा से परेशानी में डाल सकता है।

fal khaane ke fayde
खट्टे फल खाने से एसिडिटी सहित इनडाइजेशन के कई प्रॉब्लम हो सकते हैं। चित्र : शटरस्टॉक

4. एसिडिक और खट्टे फलों से परहेज रखें

यदि आप यूटीआई से पीड़ित हैं तो खट्टे और एसिडिक फल जैसे कि नींबू, संतरा, टमाटर, इत्यादि से पूरी तरह परहेज करें। क्योंकि यह सभी आपके ब्लैडर को इरिटेट करती हैं और यूटीआई की समस्या को काफी ज्यादा गंभीर कर सकती हैं। इसके साथ ही यह यूरिन को भी अधिक एसिडिक कर देती हैं जिस वजह से यूरिन पास करते समय आपको असहनीय दर्द महसूस हो सकता है। इसलिए इन फलों और इनसे बने जूस से जितना हो सके उतना परहेज रखने की कोशिश करें।

5. कैफीन और अल्कोहल के सेवन से पूरी तरह परहेज रखें

यदि आप यूटीआई की समस्या से पीड़ित हैं तो शराब का सेवन आपके ब्लैडर की स्थिति को गंभीर कर देता है। जिस वजह से संक्रमण काफी तेजी से बढ़ता है और यूटीआई के लक्षण भी लंबे समय तक बने रहते हैं। इसी के साथ आपके सुबह की कॉफी भी आपकी इस स्थिति को काफी प्रभावित करती है। यह ब्लैडर इन्फेक्शन के लक्षण को और ज्यादा गंभीर कर देती है। ऐसे में सुबह की कॉफी की जगह हर्बल टी लेना उचित रहेगा।

यह भी पढ़ें : चेस, कार्ड्स, फुटबॉल खेलना भी कम कर सकता है तनाव, जानिए क्या कहते हैं शोध

  • 137
लेखक के बारे में
अंजलि कुमारी अंजलि कुमारी

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory

हेल्थशॉट्स पीरियड ट्रैकर का उपयोग करके अपने
मासिक धर्म के स्वास्थ्य को ट्रैक करें

ट्रैक करें