प्रोस्टेट कैंसर के बारे में अपने पार्टनर को जागरूक करना है ज़रूरी

Published on: 14 March 2022, 21:00 pm IST

स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने देश भर में पुरुषों को कड़ी चेतावनी दी है कि स्कॉटलैंड और इंग्लैंड के 14,000 पुरुष संभावित रूप से एक घातक बीमारी से पीड़ित हो सकते हैं।

janien prostate cancer ke baare mein
जानें क्या है प्रोस्टेट कैंसर और इसके लक्षण. चित्र : शटरस्टॉक

महामारी के कारण पिछले दो वर्षों में हजारों पुरुष अपने प्रोस्टेट के मुद्दों को नोटिस करने या निदान करने में विफल रहे। आंकड़ों के अनुसार, केवल उत्तर पश्चिम में यूरोलॉजिकल कैंसर रेफरल में 5,700 से अधिक की कमी आई है, जब से कोरोनवायरस का प्रकोप शुरू हुआ है।

प्रोस्टेट कैंसर पुरुषों में सबसे आम कैंसर है, मगर महामारी के दौरान बहुत से पुरुषों नें इसे नज़रअंदाज़ किया है। हालांकि हर महीने हजारों पुरुषों का इलाज किया जा रहा है, मगर फिर भी कुछ लोग इसके बारे में बात नहीं कर रहे हैं। प्रोस्टेट कैंसर यूके की रिपोर्ट के अनुसार, महामारी से पहले की तुलना में प्रोस्टेट कैंसर का इलाज नहीं करने वालों में एक तिहाई लोग शामिल हैं।

लक्षण आमतौर पर कैंसर के बढ़ने के बाद ही दिखाई देते हैं, हालांकि, YouGov द्वारा सर्वेक्षण किए गए अधिकांश पुरुष कैंसर के किसी भी लक्षण की पहचान करने में विफल रहे जो कि 47,500 लोगों को प्रभावित करता है और प्रत्येक वर्ष 11,500 लोगों की मृत्यु का कारण बनता है।

प्रोस्टेट कैंसर यूके ने अब पुरुषों से आग्रह किया है कि वे समस्या के बढ़ने का इंतज़ार न करें।

जानिए प्रोस्टेट कैंसर के कुछ लक्षण

प्रोस्टेट कैंसर के ये मुख्य लक्षण हैं जिन पर प्रोस्टेट वाले लोगों को ध्यान देना चाहिए:

अपने मूत्राशय को पेशाब करने या खाली करने में कठिनाई
पेशाब करते समय कमजोर प्रवाह
यह महसूस करना कि पेशाब करने के बाद आपका मूत्राशय ठीक से खाली नहीं हुआ है
पेशाब खत्म करने के बाद पेशाब टपकना
सामान्य से अधिक बार पेशाब करने की आवश्यकता, विशेष रूप से रात में
अचानक पेशाब करने की आवश्यकता – शौचालय जाने से पहले आप कभी-कभी मूत्र का रिसाव होना
पेशाब करते समय तनाव या लंबा समय लेना
पेशाब में खून या वीर्य में खून आना

लेकिन एनएचएस और प्रोस्टेट कैंसर यूके 14,000 लोगों को खोजने में मदद करने के लिए एक साथ शामिल हुए, जिन्हें उन्होंने पूर्व-महामारी संख्या की तुलना में इलाज शुरू करने की उम्मीद की थी।

सबसे महत्वपूर्ण है इस प्रोस्टेट कैंसर के बारे में बात करना

इस बीमारी के उच्च जोखिम वाले पुरुष शर्म की वजह से बात नहीं कर पाते हैं और डॉक्टर से संपर्क करने में हिचकते हैं। सबसे अच्छा यही है कि आप अपने पार्टनर को इसके बारे में खुलकर ब्बात करने के लिए जागरूक करें और उन्हें बताएं कि इलाज ज़्यादा ज़रूरी है।

आठ पुरुषों में से एक उनके जीवनकाल में किसी न किसी समय प्रोस्टेट कैंसर से ग्रस्त होता है।

मोटे तौर पर 400,000 पुरुष वर्तमान में कैंसर के साथ जी रहे हैं कि 50 से अधिक पुरुष, या जिनके पिता या भाई को यह बीमारी थी, उन्हें और भी अधिक खतरा है।

हालांकि प्रोस्टेट कैंसर घातक होता है, लेकिन यदि इसका निदान जल्दी कर लिया जाए तो यह “इलाज के योग्य” है, और कैंसर का आपके जीवनकाल पर कोई प्रभाव नहीं पड़ सकता है।

अप्रैल 2020 से इंग्लैंड में 58,000 से अधिक लोगों ने प्रोस्टेट कैंसर का इलाज शुरू किया, और देश में यूरोलॉजिकल कैंसर रेफरल दर 2021 के अंत तक पूर्व-महामारी के स्तर पर लौट आई।

यह भी पढ़ें : महिलाओं को बांझपन का दोष देना बंद करें! यह उनके मानसिक स्वास्थ्य के लिए है हानिकारक

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स
पीरियड ट्रैकर के साथ।

ट्रैक करें