क्या सच में मेंस्ट्रुअल कप के इस्तेमाल से पेल्विक ऑर्गन प्रोलैप्स हो सकता है? आइए चेक करते हैं 

Published on: 15 June 2022, 20:28 pm IST

मेंस्ट्रुअल कप के बारे में लोगों के मन में कई तरह की आशंकाएं अब भी बनी हुईं हैं। इन्हें दूर करने के लिए हमने एक एक्सपर्ट की राय जानी। 

menstrual cup ka upyog kaise karein
मेंस्ट्रुअल कप के उपयोग से पेल्विक ऑर्गन प्रोलैप्स , चित्र : शटरस्टॉक

इन्टीमेट हेल्थ से जुड़े टॉपिक पर गाहे-बगाहे मिथ्स पैदा होते ही रहते हैं। कारण है कि अधिकांश लोगों को इस तरह के मुद्दों के बारे में बात करने में शर्म आती है। पिछले कुछ दिनों से एक ऐसा ही मिथ हमारे सामने आया मेंस्ट्रुअल कप के बारे में।  लोगों का कहना है कि इसके इस्तेमाल से पेल्विक ऑर्गन प्रोलैप्स हो सकता है। इस बात की सत्यता की जांच करने के लिए टीम हेल्थशॉट्स ने इसकी पड़ताल की।

पहले जानिए कि पेल्विक ऑर्गन प्रोलैप्स आखिर है क्या?

यह एक ऐसी स्थिति है जब पेल्विक फ्लोर की मांसपेशियां कमजोर हो जाती हैं और आपके पैल्विक अंगों , जैसे मूत्राशय, आंत्र (आंतों), अंडाशय और गर्भाशय (गर्भ) को योनि स्थान तक स्ट्रेच कर देती हैं। पेल्विक ऑर्गन प्रोलैप्स होने पर आपको ये लक्षण महसूस हो सकते हैं:

  1. श्रोणि क्षेत्र पर दबाव या बेचैनी
  2. पतला पेशाब
  3. कमर में दर्द 
  4. दर्दनाक संभोग
  5. योनि का स्ट्रेच हो जाना या रक्तस्राव 

 

menstrual kup ka prayog
मेंस्ट्रुअल कप का इस्तेमाल पूरी तरह सेफ है। चित्र : शटरस्टॉक

आमतौर पर, यह निम्नलिखित कारणों से होता है:

  1. गर्भावस्था और योनि प्रसव (Normal delivery)
  2. कब्ज
  3. मोटापा
  4. धूम्रपान, जिसके कारण पुरानी खांसी हुई हो
  5. रजोनिवृत्ति और बुढ़ापा

क्या मेंस्ट्रुअल कप का इस्तेमाल करने से वास्तव में पेल्विक ऑर्गन प्रोलैप्स हो जाता है?

मेंस्ट्रुअल कप का उपयोग बढ़ रहा है, क्योंकि वे एक बार इस्तेमाल होने वाले सैनिटरी पैड और टैम्पोन की तुलना में पर्यावरण के अनुकूल विकल्प हैं। साथ ही इन्टीमेट हेल्थ के मद्देनज़र हाइजीनिक भी हैं।

हाल ही में आए अपने एक इंस्टाग्राम वीडियो में, डॉ तनाया नरेंद्र उर्फ ​​dr_cuterus, मेंसट्रुअल कप से जुड़े इस मिथ का भंडाफोड़ करते हुए खुलासा करती हैं, “एक पैल्विक ऑर्गन प्रोलैप्स आमतौर पर बढ़े हुए दबाव के कारण होता है। प्रोलैप्स होने के कई कारण हैं, लेकिन इस बारे में ऐसा कोई महत्वपूर्ण अध्ययन नहीं है जो मेंसट्रुअल कप के उपयोग को पेल्विक ऑर्गन प्रोलैप्स से जोड़ता है।”

क्या है मेंसट्रूअल कप निकालने का सही तरीका?

”डॉ नरेंद्र इस बारे में सुझाव  देती हैं, “जब आप अपना मेंसट्रूअल कप निकाल रही हों, तो सुनिश्चित करें कि कप के ऊपर से सील को तोड़ने के लिए कप के नीचे हमेशा जगह मौजूद हो, ताकि वैक्यूम सील टूट जाए। मेंसट्रूअल कप निकालते हुए पर्याप्त सावधानी रखें और इसे जेंटली ही योनि से बाहर निकालें।”

मेंसट्रूअल कप वेजाइना से बाहर निकालते समय इतना (sunction) नहीं पैदा करता कि इससे पेल्विक ऑर्गन प्रभावित हो। तब भी नहीं जब कप टूटा-फूटा या क्षतिग्रस्त हो। तो डियर लेडीज़ आप बिना किसी टेंशन के मेन्स्ट्रुअल कप का इस्तेमाल कर सकती हैं और इससे न तो आपकी इन्टीमेट हेल्थ प्रभावित होगी, न ही पर्यावरण को ही नुकसान पहुंचेगा 

यह भी पढ़ें: बचपन या टीनएज में मोटे रहे लड़कों के लिए मुश्किल हो सकता है बड़े होकर पिता बनना 

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स
पीरियड ट्रैकर के साथ।

ट्रैक करें