वैलनेस
स्टोर

पीरियड्स मिस होने या ज्‍यादा होने के लिए जिम्‍मेदार हो सकते हैं ये 5 कारण

Updated on: 10 December 2020, 13:31pm IST
अगर आपको अनियमित पीरियड्स की समस्या हो रही है, तो जानें 5 कारण जो इसके लिए जिम्मेदार हो सकते हैं।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 88 Likes
अनियमित पीरियड्स के लिए यह भी कारण हो सकते हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

हर महिला अलग है, और उसी तरह उनके पीरियड्स भी अलग हैं। कुछ महिलाओं के पीरियड्स समय पर हो जाते हैं, तो कुछ को महीने भर संघर्ष करना पड़ता है। अमूमन एक महिला को हर 24 से 38 दिन पर पीरियड्स होते हैं और 2 से 8 दिन ब्लीडिंग होती है।

अब अगर आपके पीरियड्स बाकियों से अलग हैं, तो सम्भावना है कि आपके शरीर में सब कुछ ठीक ना हो। अनियमित पीरियड्स का अर्थ है दो पीरियड्स के बीच सामान्य से काफी ज्यादा समय, फ्लो कम हो जाना या अत्यधिक ब्लीडिंग और ज्यादा समय तक फ्लो होना।

पाएं अपनी तंदुरुस्‍ती की दैनिक खुराकन्‍यूजलैटर को सब्‍स्‍क्राइब करें

अनियमित पीरियड्स के पीछे कई कारण हो सकते हैं, लेकिन हॉर्मोनल असंतुलन सबसे बड़ा कारण है। आपके शरीर के एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन के स्तर में बदलाव होने से पीरियड्स अनियमित हो जाते हैं।

मगर इसके और भी कई कारण हो सकते है। आइये जानते हैं

1. प्रेगनेंसी

अगर आप गर्भवती हैं तो आपके पीरियड्स नहीं होंगे और कई बार हल्की स्पॉटिंग भी हो सकती है। इस बारे में निश्चित होने के लिए टेस्ट कर लेना चाहिए। प्रेगनेंसी के शुरुआती लक्षण में सुबह के समय उल्टी होना, नौजिया, ब्रेस्ट का नाजुक होना और थकान मुख्य रूप से नजर आते हैं।

पीरियड मिस होने का मतलब प्रेगनेंसी भी हो सकता है। चित्र: शटरस्‍टाॅॅक
पीरियड मिस होने का मतलब प्रेगनेंसी भी हो सकता है। चित्र: शटरस्‍टाॅॅक

अगर सेक्स करने के बाद आप अपना अगला पीरियड मिस करती हैं या इनमें से कोई फर्क नजर आते हैं, तो प्रेगनेंसी की सम्भावना हो सकती है।

2. हॉर्मोनल बर्थ कंट्रोल

अधिकांश महिलाएं जो हॉर्मोनल बर्थ कंट्रोल पिल्स का सेवन करती हैं या इंट्रायूटेरिन ट्रांसप्लांट का इस्तेमाल करती हैं, उन्हें अनियमित पीरियड्स की समस्या रहती है। यही नहीं बर्थ कंट्रोल पिल्स के कारण पीरियड्स के बीच स्पॉटिंग भी हो सकती है। इंट्रायूटेरिन ट्रांसप्लांट से बहुत अधिक ब्लीडिंग की शिकायत हो सकती है।

बर्थ कंट्रोल पिल्‍स के कारण भी माहवारी अनियमित हो सकती है। चित्र: शटरस्टॉक।
बर्थ कंट्रोल पिल्‍स के कारण भी माहवारी अनियमित हो सकती है। चित्र: शटरस्टॉक।

ऐसे बदलाव इसलिए होते हैं क्योंकि प्रेगनेंसी रोकने वाले ये तरीके आपके हॉर्मोन्स से छेड़छाड़ करते हैं।

3. ब्रेस्टफीडिंग

अगर आप अभी-अभी मां बनी हैं और बच्चे को ब्रेस्टफीड करवा रही हैं तो आपको अनियमित पीरियड्स हो सकते हैं। प्रोलैक्टिन वह हॉर्मोन है, जो शरीर में दूध बनने के लिए जिम्मेदार होता है। प्रोलैक्टिन शरीर के रिप्रोडक्टिव हॉर्मोन्स को कम कर देता है, जिसके कारण पीरियड्स ना होना या हल्के पीरियड्स सामान्य है। अधिकांश महिलाओं में ब्रेस्टफीडिंग बन्द करने के बाद पीरियड्स नॉर्मल हो जाते हैं।

4. पेरीमेनोपॉज

पेरीमेनोपॉज वह ट्रांजीशन फेज है, जो मेनोपॉज से पहले आता है। अमूमन महिलाओं को मेनोपॉज 40s में होता है।

मेनोपॉज एक बदलाव है, इसे आप रोक नहीं सकतीं। चित्र: शटरस्‍टाॅॅॅक
मेनोपॉज एक बदलाव है, इसे आप रोक नहीं सकतीं। चित्र: शटरस्‍टाॅॅॅक

यह आपके मेंस्ट्रुअल साईकल में बहुत गम्भीर बदलाव ला सकता है। शरीर मे एस्ट्रोजन के लगातार बढ़ते और घटते स्तर के कारण पीरियड्स को प्रीडिक्ट कर पाना मुश्किल होता है।

5. PCOS यानी पॉली सिस्टिक ओवरी सिंड्रोम

अनियमित पीरियड्स पॉली सिस्टिक ओवरी सिंड्रोम का प्रमुख लक्षण है। कई बार आपके पीरियड्स मिस हो जाते हैं, और जब होते हैं तो बहुत ज्यादा ब्लीडिंग होती है। PCOS के और भी कई लक्षण हो सकते हैं जैसे चेहरे और शरीर पर अत्यधिक बाल, गंजापन और वजन बढ़ना।

तो लेडीज, बेहतर है कि आप अपने डॉक्टर से बात कर लें कि आपके पीरियड्स अनियमित क्यों हो रहे हैं।

यह भी पढ़ें – पीरियड ब्‍लड में से आ रहीं हैं दुर्गंध? तो इन 3 कारणों को चैक करना है जरूरी

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।