प्रेगनेंट हैं, तो इन 6 स्थितियों में भूलकर भी न करें सेक्स, हो सकती है परेशानी

सेक्स के लिए आपका तन और मन दोनों तरह से तैयार होना जरूरी है। ज्यादातर महिलाएं प्रेगनेंसी में सेक्स करती हैं, पर कुछ स्थितियों में यह परेशानी बढ़ा सकता है।

pregnancy mein sex karne ke liye kuch tips
प्रेगनेंसी में सेक्स करने के लिए कुछ टिप्स. चित्र : शटरस्टॉक
अंजलि कुमारी Published on: 23 October 2022, 21:30 pm IST
  • 137

कई कपल्स के मन में यह दुविधा बनी रहती है की प्रेगनेंसी के दौरान सेक्स करना चाहिए या नहीं। हालांकि, प्रेगनेंसी में सेक्स करना पूरी तरह से आपके कम्फर्ट पर निर्भर करता है। पर कुछ महिलाओं को प्रेगनेंसी के दौरान जटिलताओं का सामना करना पड़ता है। खासतौर से अंतिम तिमाही में। इसलिए जरूरी है कि अगर आप प्रेगनेंट हैं, तो उन स्वास्थ्य स्थितियों के बारे में जानें, जब सेक्स करना आपके लिए जोखिमकारक हो सकता है।

इन परिस्थितियों का पता लगाने के लिए हेल्थ शॉट्स ने ऑरा क्लिनिक, सेक्टर 31 गुड़गांव की डायरेक्टर एवं क्लाउड नाइन हॉस्पिटल, गुड़गांव सेक्टर 14 की सीनियर कंसलटेंट डॉ रितु सेठी से बातचीत की।

डॉक्टर ने इससे जुडी कई महत्वपूर्ण बातें बताई हैं। तो चलिए जानते है इसके बारे में विस्तार से ताकि प्रेगनेंसी कॉम्प्लीकेशन्स से बचा जा सके।

यहां जानें किन परिस्थितियों में प्रेगनेंसी में सेक्स करना हो सकता है खतरनाक

1. ब्लीडिंग की समस्या में

यदि किसी महिला को प्रेगनेंसी के दौरान ब्लीडिंग होने की समस्या है अब चाहे वह ज्यादा हो या कम, तो ऐसे में सेक्स यानी कि इंटरकोर्स से पूरी तरह परहेज रखें। अन्यथा यह ब्लीडिंग को और ज्यादा बढ़ा सकता है। जो मां और बच्चे दोनों की सेहत के लिए नुकसानदेह साबित होगा।

प्रेगनेंसी के दौरान हाई ब्लड प्रेशर रहने पर। चित्र: शटरस्टॉक

2. प्रेगनेंसी के दौरान हाई ब्लड प्रेशर रहने पर

डॉ रितु सेठी के अनुसार प्रेगनेंसी के दौरान यदि आपका ब्लड प्रेशर बढ़ा रहता है, तो सेक्स से पूरी तरह परहेज रखें। क्योंकि ऐसी स्थिति में इंटरकोर्स के दौरान प्लेसेंटा सेपरेट हो सकता है। जो आपके प्रेगनेंसी कॉम्प्लिकेशंस का कारण बनेगा।

3. आखिरी के 3 महीने होते हैं अधिक संवेदनशील

डॉक्टर के मुताबिक प्रेगनेंसी के आखिरी 3 महीने काफी ज्यादा संवेदनशील होते हैं। ऐसे में इस दौरान सेक्स न करें। क्योंकि स्पर्म में कुछ ऐसे एंजाइम पाए जाते हैं, जो प्रीमेच्योर डिलीवरी का कारण बन सकते हैं। इसलिए प्रेगनेंसी के दौरान समस्याओं से बचने के लिए इन बातों का ध्यान रखना जरूरी है।

4. यदि बच्चे के आसपास पानी बहुत ज्यादा है

डॉक्टर ऋतु सेठी कहती है कि यदि प्रेगनेंसी कॉम्प्लिकेशन से बचना चाहती हैं तो बच्चे के आसपास पानी बहुत ज्यादा होने पर इंटरकोर्स करने से बचें। वहीं बच्चे के आसपास पानी कितना है, इस बात का पता लगाने के लिए अपनी स्त्री रोग विशेषज्ञ से संपर्क करें।

blood in poop
प्रेगनेंसी के दौरान मॉल में खून आए तो डॉक्टर से तुरंत संपर्क करें । चित्र : शटरस्टॉक

5. प्रीटर्म लेबर पेन की स्थिति में

यदि किसी महिला को किसी भी कारण से प्रीटर्म लेबर पेन होता रहता है, तो ऐसे में सेक्स यानी कि इंटरकोर्स से पूरी तरह परहेज करें। क्योंकि ऐसा करना प्रीमेच्योर डिलीवरी का कारण बन सकता है। और प्रीमेच्योर डिलीवरी से अविकसित बच्चे का जन्म होता है।

6. वेजाइनल इंफेक्शन की स्थिति मे

गायनेकोलॉजिस्ट रितु सेठी के अनुसार यदि किसी महिला को प्रेगनेंसी के दौरान वेजाइना में यीस्ट, बैक्टीरियल, इत्यादि जैसे इंफेक्शन रह रहे हैं। तो सेक्स न करें। अन्यथा यह यूटीआई का कारण बन सकता है। हालांकि, प्रेगनेंसी के दौरान वेजाइना से जुड़ी किसी भी प्रकार की समस्या आपके लिए गंभीर परेशानी खड़ी कर सकती है।

याद रखें

प्रेगनेंसी में सेक्स करना आपके कम्फर्ट पर निर्भर करता है। अगर आपको प्रेगनेंसी में बेड रेस्ट का सुझाव दिया गया है, तो अपनी डॉक्टर से बात करें। ताकि वे इस बारे में सही आपका सही मार्गदर्शन कर सकें।

यह भी पढ़ें : मम्मी-पापा नहीं बन पा रहे हैं, तो ये 5 कारण हो सकते हैं इनफर्टिलिटी के लिए जिम्मेदार, जानिए कैसे करना है समाधान

  • 137
लेखक के बारे में
अंजलि कुमारी अंजलि कुमारी

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory