Sex Therapy : इन 5 स्थितियों में किसी को भी हो सकती है सेक्स थेरेपी की जरूरत, जानिए ये कैसे काम करती है

सेक्स थेरेपी काउंसलिंग का एक रूप है जो पार्टनर को उनके सेक्स के मुद्दों और चिंताओं को संबोधित करने और हल करने में मदद करती है। इसमें काउंसलर एक रिश्तों को कई पहलुओं से समझने के बाद उसे हल करने की कोशिश करता है।
sex therapy ke fayede
सेक्स थेरेपी आपकी सेक्स से जुड़ी चिंताओं और परेशानियों को खत्म कर सकता है। चित्र- अडोबी स्टॉक
संध्या सिंह Published: 26 Nov 2023, 21:00 pm IST
  • 145

आजकल के रिलेशनशिप में सेक्स पर बात करना काफी मामूली हो गया है। पहले के समय में कपल भी शायद इस पर खुल कर बात नहीं किया करते थे। लेकिन आब लोगो ओर्गेज्म (Orgasm) जैसी चीजों पर बात करते है। सेक्स (Sex) को पूरी तरह से इंजॉय करना भी जरूरी है। रिश्ते में ये भी उतना ही जरूरी है जितना की बाकी चीजें।

यदि आप और आपका पार्टनर सेक्स की इच्छा, सेक्स पर बात करने में कमी,सेक्स के दौरान दर्द या यहां तक कि रिश्ते की चिंताओं को महसूस कर रहे हैं, तो एक सेक्स थेरेपिस्ट के पास जाना वास्तव में आपके समय के लिए उपयुक्त साबित हो सकता है। हालांकि थेरेपी लेने या न लेने का निर्णय आप पर निर्भर है, लेकिन आपको पता होना चाहिए कि मदद मांगने में कोई शर्म नहीं है।

सेक्स थेरेपी क्या है? (What is sex therapy)

करंट साइकियाट्री रिपोर्ट्स में छपे एक अध्ययन में पाया गया कि 43 प्रतिशत महिला उत्तरदाता और 31 प्रतिशत पुरुष उत्तरदाता यौन रोग से पीड़ित हैं। जबकि 30% महिलाएं और 15% पुरुष सेक्स की इच्छा न होने वाली समस्या से पीड़ित हैं।

sex therapy apk kayi chizon mei madad krti hai
इरेक्टाइल डिस्फंक्शन, शीघ्रपतन, सेक्स के समय दर्द इसमें सेक्स थेरेपी आपकी मदद कर सकती है।

सेक्स के बारे में शिक्षित करने वाली और काउंसलर नियति एन शाह बताती हैं कि सेक्स थेरेपी कैसे काम करती है। “सेक्स थेरेपिस्ट के पास सेक्सुएलिटी में विशेष प्रशिक्षण और शिक्षा है। वे यौन मुद्दों से निपटने में विशिष्ट प्रशिक्षण के साथ लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक, मनोवैज्ञानिक या मनोचिकित्सक हो सकते हैं। उन्हें यौन रोगों और विकारों का निदान और इलाज करने के लिए प्रशिक्षित किया जाता है, जिसमें इरेक्टाइल डिसफंक्शन (erectile dysfunction), शीघ्रपतन (premature ejaculation), वेजिनीस्मस(vaginismus) और सेक्सुअल ट्रॉमा जैसी चीजें शामिल हैं।”

क्या आपको सेक्स थेरेपी की ज़रूरत है? (why you need sex therapy)

1 लगातार सेक्स को लेकर चिंताएं 

इसमें इरेक्टाइल डिस्फंक्शन, शीघ्रपतन, सेक्स के समय दर्द, कम सेक्स डिजायर या सेक्स के बारे में बात करने में कठिनाई जैसी समस्याएं शामिल हो सकती हैं।

2 रिश्ते की चुनौतियां

यदि आपकी यौन कठिनाइयां आपके रिश्ते में समस्याओं, संघर्षों या भावनात्मक दूरी से जुड़ी हैं, तो सेक्स थेरेपी यौन और संबंध दोनों पहलुओं को संबोधित करने में मदद कर सकती है।

3 बातचीत में असुविधा

यदि आपको अपने साथी के साथ अपनी इच्छाओं, सीमाओं और चिंताओं के बारे में बात करना मुश्किल लगता है, या चिंताओं का सामना कर रहे हैं, तो सेक्स थेरेपी आपको ऐसा करने के लिए एक बेहतरीन मंच प्रदान कर सकती है।

4 पिछला सेक्स संबंधी आघात

पहले के सेक्स ट्रॉमा और दुर्व्यवहार अक्सर स्वस्थ यौन जीवन का आनंद लेने में बाधा बनते हैं। एक सेक्स थेरेपिस्ट इसमें आपकी मदद कर सकता है।

5 यौन शिक्षा का अभाव

सेक्स के बारे में अपर्याप्त ज्ञान या ग़लतफ़हमियों को एक सेक्स थेरेपिस्ट से दूर किया जा सकता है।

sex therapy kyun jaruri hai
थैरेपिस्ट सैक्सुअल हेल्थ, शरीर रचना और शरीर विज्ञान के बारे में जानकारी प्रदान कर सकता है।

सेक्स थेरेपी कैसे काम करती है? (How does sex therapy work)

प्रारंभिक परामर्श

प्रक्रिया प्रारंभिक मूल्यांकन से शुरू होती है। इस सत्र के दौरान, सेक्स थेरेपिस्ट को आपके और आपकी चिंताओं के बारे में पता चलता है।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें

विश्वास बनाना

आपका चिकित्सक निर्णय के डर के बिना इंटिमेसी मामलों पर बात करने के लिए आपके लिए एक सुरक्षित स्थान बनाने का प्रयास करेगा।

शिक्षा एवं सूचना

थैरेपिस्ट सैक्सुअल हेल्थ, शरीर रचना और शरीर विज्ञान के बारे में जानकारी प्रदान कर सकता है, साथ ही सेक्स के बारे में आम मिथकों और गलत धारणाओं को भी दूर कर सकता है। यह ज्ञान आपको सूचित निर्णय लेने और अपने सेक्स के अनुभवों को बेहतर बनाने के लिए सशक्त बना सकता है।

संचार कौशल में सुधार

थैरेपिस्ट आपको और आपके पार्टनर को आपकी इच्छाओं, सीमाओं और चिंताओं पर खुलकर चर्चा करने के लिए संवाद कौशल सिखा सकता है। इसमें पिछले दुखों को संबोधित करना, भावनात्मक इंटिमेसी में सुधार करना और रिश्ते के अंदर संघर्षों को हल करना भी शामिल हो सकता है।

ये भी पढ़े- Yoni Mudra Benefits : इन 4 स्टेप्स में करें योनि मुद्रा का अभ्यास, प्रजनन अंगों के लिए है फायदेमंद

  • 145
लेखक के बारे में

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
अगला लेख