अगर आपकी पीरियड साईकिल नियमित नहीं है, तो इन फूड्स को करें डाइट में एड

बहुत सी महिलाएं है, जिन्हें पीरियड्स लेट होते हैं। इसके कारण वो हमेशा पीरियड साईकिल को लेकर तनाव में रहती है। अगर आपके पीरियड्स भी हर महीने कुछ दिन डिले हो रहे हैं, तो इन फूड्स को अपनी डाईट का हिस्सा ज़रूर बनाएं।

Periods irregular hone par yeh food khayein
अनियमित पिरियड्स होने पर इन फूड्स को अपनी डाईट का हिस्सा ज़रूर बनाएं। चित्र:शटरस्टॉक
ज्योति सोही Updated on: 29 January 2023, 23:45 pm IST
  • 141

हर महिला की पीरियड साईकिल एक दूसरे से अलग होती है। किसी को पीरियड्स ज्यादा दिनों तक होते हैं, तो किसी को इन दिनों में ज्यादा दर्द महसूस होता है। कोई मूड स्विंग(mood swing) की शिकायत करता है, तो कोई पीरियड्स(periods) देर से होने की समस्या से जूझता है। अगर आपको भी पीरियड्स समय पर न होने की शिकायत है, तो इसका सीधा कनेक्शन आपकी डाईट से है। सबसे पहला सवाल कि क्या आप वक्त पर सभी मील्स लेती हैं और दूसरा सवाल क्या वो मील्स वाकई हेल्दी होती है। जी हां देर से पीरियड्स होने का संबध कहीं न कहीं आपकी डाईट से है, तो आइए जानते है कि वो ऐसे कौन से फूड्स(foods for irregular periods) है, जो आपकी इस प्रोब्लम का सॉल्यूशन साबित हो सकते हैं।

पीरियड साईकिल क्या होती है

  1. महिलाओं के शरीर में हार्मोंस (hormones) के बदलने की साईकिल को मासिक धर्म यां पीरियड्स कहा जाता है। एस्‍ट्रोजन और प्रोजेस्‍टेरोन नाम के हार्मोनस जब बदलते हैं, तो शरीर में कई प्रकार के बदलाव जैसे पेट के निचले हिस्से में दर्द और ब्लोटिंग(bloating) समेत कई दिक्कतें उत्पन्न होती है। यूं तो पीरियड साईकिल 28 दिनों की होती है। अगर 25 से 35 दिनों के मध्य आपके पीरियड्स हो रहे हैं, तब भी आपका मासिक धर्म (menstrual cycle) नियमित ही कहलाएगा।
menstral cycle har mahine hone waali prakriya hai
महिलाओं के शरीर में हार्मोंस के बदलने की साईकिल को मासिक धर्म यां पीरियड्स कहा जाता है। चित्र अडोबी स्टॉक

एक्सपर्ट व्यू

इस बारे में हमारी एक्सपर्ट टोनऑप से डॉ रूचि सोनी बता रही है कि अगर आपके पीरियड्स डिले हो रहे हैं, तो मासिक धर्म शुरू होने के 14 दिन पहले से ही पंपकिन सीड्स(pumpkin seeds) और फ्लैक्स सीड्स(flex seeds) को खाना आरंभ कर दें। आप चाहें तो खाने के बाद यां फिर दूध के साथ ले सकते हैं। वहीं पीरियड्स शुरू होने के बाद अगले 15 दिनों तक सफेद तिल और सनफ्लावर सीड्स को खाएं। इन्हें भी आप दूध(milk) के साथ यां ऐसे ही खा सकते हैं।

आइए जानते हैं अपनी एक्सपर्ट से कुछ अन्य उपाय भी।

दालचीनी करें डाईट में शामिल

चाहे सुबह की चाय हो यां फिर ईवनिंग का कॉफी मग आप एक चुटकी दालचीनी को अगर उबालकर पीती है, तो इससे पेल्विक में ब्लड सर्कुलेशन नियमित हो जाता है। आप चाहें, तो एक कप पानी में दालचीनी को बॉइल करें और आधा कप पानी रह जाने पर पी लें। इससे आप खुद को स्वस्थ महसूस करेंगी और इर्रेंगुलर पीरियड्स की परेशानी अपने आप दूर हो जाएगी।

बीटरूट

अधिकतर युवा महिलाओं को पीरियड्स के दौरान ब्लोटिंग की भी परेशानी से जूझना पड़ता है। ऐसे में अगर आप बीटरूट को जूस की तरह यां सेलेड के तौर पर खाती है, तो इससे डिलेड पीरियड्स से राहत मिल सकती है। बीटरूट आयरन और फाइबर रिच होने के चलते आपके पीरियडस को नियमित रखता है।

chukanadar khane se hamare periods regular rehte hain
बीटरूट आयरन और फाइबर रिच होने के चलते आपके पीरियडस को नियमित रखता है।
चित्र शटरस्टॉक

पपीता और अनानास

अगर आप पीरियड्स से कुछ दिन पहले पपीता और अनानास खाना शुरू देती है, तो आपको देरी का सामना नहीं करना होगा। दरअसल, पपीते में कैरोटीन तत्व पाया जाता है जो यूटर्स के फंक्शन में आ रही दिक्कत को दूर करता है। वहीं अनानस से हमारे शरीर में लाल और सफेद कोशिकाओं यांनि सेल्स का निर्माण होता है। इसे खाने से आपकी पीरियड साईकिल नियमित हो जाती है।

हर्बल टी

देरी से हो रहे पीरियड्स की समस्या को दूर करने के लिए पीरियड्स की डेट से एक सप्ताह पहले हर्बल टी का सेवन आरंभ कर दें। इसे बनाने के लिए एक चम्मच अजवाइन, एक चम्मच जीरा और 5 ग्राम गुड़ लें और इन्हें एक गिलास पानी में उबाल लें। आप पाएंगे कि आपका मासिक धर्म नियमित होने लगेगा।

अदरक

एंटी ऑक्सीडेंटस से भरपूर अदरक(Ginger) को चाय और काढ़े में उबालकर पी सकते हैं। कसे हुए अदरक को उबालकर पीने से इम्यून सिस्टम मज़बूत मज़बूत रहता है और अनयिमित पीरियड्स की समस्या भी दूर हो जाती है। इसके अलावा अगर आप अदरक और शहद(Honey) को मिलाकर सेवन करते हैं, तो भी लेट पीरियड्स की परेशानी दूर हो सकती हैं

देर से पीरियड्स होने के क्या है कारण

तनाव
मोटापा
थायराईड
प्रारंभिक पेरी मेनोपॉज
अधिक दवाओं का सेवन

ये भी पढ़े- पीरियड्स में भारी सामान उठाने से बाद में बच्चे नहीं होते? जानिए माहवारी से जुड़ी कुछ मान्यताओं की सच्चाई

  • 141
लेखक के बारे में
ज्योति सोही ज्योति सोही

लंबे समय तक प्रिंट और टीवी के लिए काम कर चुकी ज्योति सोही अब डिजिटल कंटेंट राइटिंग में सक्रिय हैं। ब्यूटी, फूड्स, वेलनेस और रिलेशनशिप उनके पसंदीदा ज़ोनर हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory

हेल्थशॉट्स पीरियड ट्रैकर का उपयोग करके अपने
मासिक धर्म के स्वास्थ्य को ट्रैक करें

ट्रैक करें