फॉलो
वैलनेस
स्टोर

अगर आपके मल्‍टीपल सेक्‍स पार्टनर हैं, तो एड्स के बारे में आपको जाननी चाहिए ये 8 बातें

Updated on: 10 December 2020, 19:18pm IST
यौन रोगों के संदर्भ में तनावपूर्ण महसूस करना इनका समाधान नहीं है। लेकिन इनके बारे में यह जानना जरूरी है कि आप खुद को इनसे कैसे सुरक्षित रख सकती हैं।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 76 Likes
एड्स के बारे में आपको इन 8 फैक्ट्स के बारे में पता होना जरूरी है। चित्र:शटरस्टॉक

जागरुकता ही बचाव है। यह बात विशेष रूप एचआईवी (HIV) और एडस (AIDS) के संदर्भ में कही जाती है। पर यही बात तमाम यौन रोगों पर भी लागू होती है। किसी भी तरह के यौन संक्रमण से बचने के लिए जरूरी है कि आप अपना और अपने पार्टनर का पूरा ध्‍यान रखें। 

क्या आप यह मान सकती हैं कि असुरक्षित यौन संबंध अभी भी एचआईवी (HIV) संक्रमण के पीछे सबसे बड़ा कारण है? इससे भी बुरी बात यह है कि एचआईवी (HIV) की जांच करवाने के लिए कहने पर लोग आज तक आहत महसूस करते हैं।

पाएं अपनी तंदुरुस्‍ती की दैनिक खुराकन्‍यूजलैटर को सब्‍स्‍क्राइब करें

एड्स (AIDS) के बारे में ऐसे बहुत सारे तथ्य हैं जिनसे आप अनजान होंगी। लेकिन ऐसा क्या है जो इस संक्रमण के होने पर भी आपके जीवन को आसान बना सकता है।

अगर आपको लेटेक्‍स से एलर्जी है तो आप ये उपाय अपना सकती हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक
कंडोम से होने लगती है वेजाइना में खुजली? चित्र: शटरस्‍टॉक

एड्स (AIDS) के बारे में ये आठ बातें जानना आपके लिए महत्वपूर्ण है:-

1: एचआईवी पॉजिटिव होने का मतलब यह नहीं है कि आपको एड्स है

ऐसी कई फिल्में बनाई गई हैं, यहां तक की इंटरनेट पर भी ऐसी डॉक्यमेंट्रीज (documentaries) की भरमार है, जो यह चिल्ला-चिल्लाकर कहती हैं कि अगर आप एचआईवी पॉजिटिव (HIV positive) हैं तो इसका मतलब यह नहीं है कि आपको एड्स (AIDS) है। एड्स (AIDS) मूल रूप से एचआईवी पॉजिटिव (HIV positive) होने का अंतिम या सबसे उत्तेजित चरण है। ऐसे में समय पर इसका निदान आपको एक लंबा रास्ता तय करने में मदद कर सकता है।

2: महिलाओं को है एचआईवी संक्रमण होने की अधिक संभावना

यह दुखद है लेकिन सच है। इसके पीछे का कारण यह है कि एक महिला की योनि में का हिस्‍सा काफी खुला हुआ होता है, जो वायरस के संपर्क में आता है। साथ ही एक समस्या यह भी है कि एक महिला की योनि में वीर्य कई दिनों तक रह सकता है, जो वायरस प्रवेश के जोखिम को बढ़ा देता है।

यह भी पढ़ें: डियर लेडीज, ओरल सेक्‍स भी दे सकता है आपको संक्रमण का खतरा, जानिए इससे बचने के 5 तरीके

3: ब्लड टेस्ट की तरह ही एचआईवी टेस्ट भी सभी के लिए है

यह बहुत ही आसान है, प्रारंभिक निदान का अर्थ है प्रारंभिक उपचार, जो लंबे और स्वस्थ जीवन के लिए जरूरी है। जैसे आप अपने हीमोग्लोबिन के स्तर की जांच करवाते हैं, वैसे ही यदि आप यौन रूप से सक्रिय हैं तो आपको एचआईवी का टेस्ट (HIV test) भी करवाना चाहिए। बस अपने डॉक्टर से सलाह लें।

4: आप एचआईवी पॉजिटिव होने पर भी सुरक्षित रूप से मां बन सकती हैं

हां, आप एचआईवी पॉजिटिव (HIV positive) होने पर भी पूरी तरह से मां बनने का सुख पा सकती हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, एचआईवी (HIV) के साथ रहने वाली गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं का एक बड़ा हिस्सा (85%) भी एआरटी या एंटीरेट्रोवाइरल थेरेपी (ART or antiretroviral therapy) लेता है। जो न केवल उनके स्वास्थ्य की रक्षा करता है, बल्कि उनके नवजात शिशुओं में एचआईवी संचरण (HIV transmission) की रोकथाम को भी सुनिश्चित करता है। जिससे बच्चे के प्रभावित होने की संभावना एक प्रतिशत से कम हो जाती है।

बार-बार एक ही इंजेक्शन का इस्तेमाल करने से एड्स का संक्रमण फैलता है। चित्र:शटरस्टॉक

5: एचआईवी का मतलब हमेशा कम जीवन प्रत्याशा से नहीं होता है

जब आपको एचआईवी (HIV) संक्रमण होता है, तो यह आपकी इम्युनिटी पर प्रभाव डालता है। लेकिन अगर आप एक स्वस्थ, सक्रिय और तनाव मुक्त जीवन जीते हैं तो आप निश्चित रूप से अपनी उम्र बढ़ा सकते हैं। आपको अपनी दवाइयां लेने में लापरवाही नहीं करनी है। अपनी दवाइयों को समय पर लेना यहां बहुत जरूरी है, क्योंकि वे लीप (leaps) और सीमा (bounds) द्वारा वायरल लोड को कम करने में मदद करते हैं।

6: मेडिक्लेम पॉलिसी में HIV / AIDS को भी शामिल करें

आप अपने जीवन में एक पक्षी की तरह मुक्त रहना पसंद कर सकती हैं, लेकिन चिकित्सा बीमा किसी को नुकसान नहीं पहुंचाता है। कड़वा सच यह है कि भारत में बहुत कम मेडिकल बीमा कंपनियां हैं जो इस बीमारी के खिलाफ कवरेज देती हैं। इसलिए सुनिश्चित करें कि आप ऐसी एक योजना चुनें जो इसे भी कवर करती हो।

यह भी पढ़ें: बेडरूम में नहीं माननी चाहिए सोशल मीडिया के ज्ञानियों की ये तीन सलाह, किसी को भी हो सकता है नुकसान

7: साथी को एचआईवी संक्रमण होने पर आप सुरक्षित रह सकती हैं

अपने डॉक्टर से परामर्श करने के बाद प्री-एक्सपोज़र प्रोफिलैक्सिस (PrEP) लेना इस वायरस के संचरण को रोक सकता है। आप यह जानकर चौंक जाएंगी कि रोजाना एक गोली लेने से आपको संक्रमण होने की संभावना 90% तक कम हो सकती है। हालांकि इसके बाद भी अगर आप यौन संबंधित गतिविधियां कर रही हैं, तो कंडोम का इस्तेमाल करना अभी भी जरूरी है।

8: लेस्बियन कपल्स में HIV संक्रमण होना बेहद दुर्लभ है

विभिन्न अध्ययनों के अनुसार यह देखा गया है कि एचआईवी संक्रमण पुरूषों में एनल सेक्स के कारण पुरुषों में यौन क्रिया (sexual encounter) की तरह बना रहता है। लेकिन जब समलैंगिक जोडों की बात आती है तो ऐसा बहुत कम देखा जाता है। हालांकि अगर इसमें किसी यौन खिलौने (sexual toys) को शामिल किया जाता है, तो वायरस के स्थानांतरित होने की संभावना हो सकती है। तो इसका ध्यान जरूर रखें।

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।