कैसा है आपके पीरियड ब्लड का रंग? यह बताता है आपकी आंतरिक सेहत के बारे में

आपके पीरियड के ब्‍लड का रंग आपके शरीर में हो रहे परिवर्तनों की दास्तां बयां करता है। आपका शरीर पूरी तरह स्वस्थ है या नहीं, इसका अंदाजा आप अपने पीरियड के दौरान आने वाले ब्लड कलर से लगा सकती हैं। तो आगे से इस मुद्दे को कभी भी हल्के में मत लीजिएगा।
यह ब्‍लड लॉस उतना ज्‍यादा नही है, जितना आप सोच रहीं हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक
ज़रुरत से ज़्यादा ब्लड लॉस से रोकने के लिए शरीर में विटामिन K की कमी नहीं होने देना चाहिए चित्र: शटरस्‍टॉक
टीम हेल्‍थ शॉट्स Updated: 10 Dec 2020, 03:35 pm IST
  • 95

पीरियड्स के दौरान निकलने वाला ब्लयड आपको कुछ सिग्नल देता है। वह आपको पहले ही बता देता है कि आपके शरीर में कुछ गलत हो रहा है। लेकिन आप उस पर ध्यान नहीं देती। तब तक ध्यान नही देतीं, जब तक कि वह परेशानी बड़ी होकर आपके सामने नहीं खड़ी हो जाती।

लेकिन वह बड़ी परेशानी जिसका आप बाद में सामना करती हैं, उसके कहीं छोटे-छोटे संकेत आपको पहले ही मिलने शुरू हो जाते हैं। बस उस पर थोड़ा सा ध्यान दीजिए, तो आप अपनी बड़ी बीमारियों से निजात पा सकती हैं। यदि आप इन छोटी बातों पर ध्यान नहीं देंगी, तो यह बड़ी बीमारी बन जाएंगी।

तोड़ना चाहिए टैबू

आइए पीरियड्स और मेंसुरेशन हेल्थ के बारे में थोड़ी और चर्चा करते हैं। आमतौर पर देखा गया है कि लोग इस मुद्दे पर बात करते हुए थोड़े से हिचक जाते हैं या पब्लिकली इस मुद्दे को उठाते नहीं। इसमें गलती आपकी नहीं, समाज में इस मुद्दे पर बने टैबू की है। जो इस मुद्दे को बाकी सभी मुद्दों से अलग खड़ा कर देता है।

हम बात कर रहे थे बॉडी के द्वारा मिलने वाले सिगनल्स की। यह वह सिगनल्स हैं, जो आपके स्वस्थ या अस्व थ होने का संकेत देते हैं।

तो आइए जानते हैं आपका पीरियड-ब्लड आपके स्वास्थ्य से रिलेटेड किस तरह के संकेत दे रहा हैं:

हमारे साथ है डॉ सुरभि सिद्धार्थ जो मदरहुड हॉस्पिटल खारघर मुंबई में कंसल्‍टेंट ऑब्सटेट्रिशियन और गायनीकोलॉजिस्ट हैं। सुरभि कहती है, “एक महिला के मासिक धर्म के दौरान आने वाला रक्त समय-समय पर चेंज होता रहता है।

हर महीने हार्मोन चेंज होने के कारण इस रक्त का टेक्सचर और कलर बदलता रहता है। सबसे महत्वपूर्ण, यह महिलाओं की डाइट, लाइफस्टाइल, उम्र और एनवायरनमेंट पर भी डिपेंड करता है। हालांकि, इन्फेक्शन, प्रेगनेंसी और कुछ रेयर केसस में सर्वाइकल कैंसर की वजह से रक्त के रंग में बदलाव और अनियमित बिल्डिंग को देखा जा सकता है।”

इन सब बातों को और आसान बनाते हुए डॉ सुरभि ने हमें एक गाइड लिस्ट बना कर दी है जिसके द्वारा हम पीरियड के रंग के संकेतों को समझ सकते हैं।

पीरियड का रंग हर महीने बदलता रहता है। Gif : Giphy

1.काला:

काले रंग के रक्त प्रवाह को लेकर डॉक्टर कहती हैं कि यह सीधा संकेत है कि एक लंबी अवधि के बाद आपके यूट्रस में से रक्त निकला है। इसलिए यह ज्यादा ऑक्सिडाइज्ड है। यह आमतौर पर ऐसी महिलाओं में देखा जाता है, जिनके पीरियड्स रेगुलर नहीं आते। पीरियड्स मिस हो जाने के कारण उनके यूट्रस में ब्लड इकट्ठा हो जाता है और जब वह बाहर आता है, तो वह काले रंग का होता है।

2. ब्राउन लाल या भूरा:

डॉक्टर कहती है कि ब्राउन कलर का मेंसुरेशन ब्लड आपके पीरियड के शुरुआती दिनों में या अंत के दिनों में आता है। यह संकेत देता है कि आपका रक्त पुराना हो चुका है। इसमें घबराने जैसा कुछ नहीं है।

3. गाढ़ा लाल:

डॉक्टर समझाती हैं कि लाल और गाढ़ा लाल रंग का रक्त आपके हैल्दी पीरियड की निशानी है। यदि आपका रक्त ब्राइट रेड या लाल है या सुर्ख लाल है, तो इसका मतलब यह है कि वह बिल्कुल ताजा है। ऐसे रंग का रक्त आपके पीरियड के शुरुआती दिनों में देखा जा सकता है, जब आपको हेवी ब्लीडिंग होती है।

4. पिंक क्या गुलाबी:

डॉक्टर सिद्धार्थ के अनुसार यदि कोई महिला अनुभव करती है कि उसका पीरियड ब्लड पिंकिश या गुलाबी रंग लिए हुए हैं, तो उसके रक्त में सर्वाइकल फ्लूइड शामिल होने की संभावना हो सकती है। हालांकि यदि आपका प्रवाह सामान्य से हल्का है तो एस्ट्रोजन के स्तर को इसका कारण माना जा सकता है।

5. ऑरेंज या संतरी:

डॉक्टर कहती हैं यदि आप अपने पीरियड्स के रक्त को संतरी या ऑरेंज रंग का देखते हैं, तो यह संकेत हो सकता है कि आपकी योनि में इन्फेक्शन, सेक्सुअल ट्रांसमिटेड इनफेक्शन (STI) या किसी अन्य बैक्टीरिया के इंफेक्शन के होने का। शायद इस रक्त में आपको कुछ अजीब सी महक भी आए।

इसके टेक्सचर में भी आपको फर्क लग सकता है। इस पर डॉ. सलाह देती हैं कि आपको ऐसा होने पर जरूर अपनी गयनीकोलॉजिस्ट से सलाह लेनी चाहिए और उनके कहे अनुसार अपना ट्रीटमेंट करवाना चाहिए।

6. ग्रे:

डॉक्टर कहती हैं कि इस रंग का पीरियड ब्लड यदि आपकी योनि से आता है, तो यह आपको यकीनन इन्फेक्शन होने का संकेत दे रहा है। इसलिए आपको तुरंत अपनी गायनीकोलॉजिस्ट से एक अपॉइंटमेंट फिक्स करनी चाहिए और तुरंत इलाज शुरू करवा देना चाहिए।

“बैक्टीरियल वेजाइनोसिस सामान्य संक्रमण में से एक है। लेकिन यदि योनि के रक्त प्रवाह में बदलाव नजर आता और आप गर्भवती हैं, तो संभावना है कि आप गर्भपात से गुजर रही हों।

7. वाटरी या सफेद डिस्चार्ज:

डॉक्टर सिद्धार्थ जोर देकर कहती है कि यदि आपके मेंसुरेशन ब्लड में सफेद डिस्चार्ज देखने को मिल रहा है, तो संभावना है कि आपको सर्विकल एरोजन हो। क्योंकि यह सर्विकल एरोजन होने के लक्षण हो सकते हैं। इसलिए आपको जल्दी से जल्दी इसका पता लगाने की जरूरत है और अपनी गायनीकोलॉजिस्ट से बात करने की जरूरत है।

पीरियड्स में वाइट डिस्‍चार्ज आपकी सेहत के बारे में गंभीर संकेत देता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

संभव है यदि आपको इन बदलावों का सामना करना पड़ रहा है, तो आप किसी सीरियस हेल्थ कंडीशन से गुजर रही हैं।

मेंसुरेशन क्लॉट्स या खून के थक्के :

जब आपके शरीर में खून जमा होता है, तो छोटे खून के थक्के आना सामान्य सी बात है। जब आपकी ब्लीडिंग ज्यादा हो रही हो तब आपके मासिक धर्म के दौरान शुरुआती कुछ दिनों में यह सामान्य बात है।

डॉक्टर सिद्धार्थ कहती है, “अगर यह थक्के बड़े हैं और ज्यादा मात्रा में आ रहे हैं, तो यह चिंता का कारण हो सकते हैं। हो सकता है इससे आपका शरीर आपको फाइब्रॉयड,गर्भाशय में पॉलिप्स या एंडोमेट्रियोसिस जैसी स्थिति का संकेत दे रहा हो।

मेम्ब्रेन- पीरियड्स ब्लड में मेंबर्स जैसा पदार्थ: यदि महिला अपने पीरियड ब्लड में मेंब्रेन या टिशु देखती है तो संभावना है कि कुछ गड़बड़ है। पीरियड रक्त में झिल्ली का होना हार्मोनल इश्यू या गर्भपात का कारण हो सकता है।

कब होना चाहिए सचेत:

यदि आपको इनमें से कोई भी लक्षण नजर आते हैं, तो हम आपको एडवाइज करेंगे कि आप किसी गायनीकोलॉजिस्ट से जरूर बात करें। और उनसे जरूरी सलाह लें।

  • 95
लेखक के बारे में

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं। ...और पढ़ें

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
अगला लेख