ब्रा पैडेड हो या रिंग वाली, इससे नहीं होता कैंसर, एक्सपर्ट दूर कर रहीं हैं ब्रा से जुड़े मिथ्स

ब्रा से जुड़ी कई ऐसी अवधारणा है, जो सालों से महिलाओं के मन मे बनी हुई है। आज हम ऐसे ही कुछ मिथ पर चर्चा करेंगे।
Yaha hai bra se jude kuchh myth
यहां है ब्रा से जुड़े कुछ मिथ। : चित्र : एडॉबीस्टॉक
अंजलि कुमारी Updated: 27 Oct 2023, 10:40 pm IST
  • 120

“ब्रा पहन कर सोने से कैंसर होता है” “टाइट ब्रा आपके ब्रेस्ट को शेप में रखती है” ब्रा न पहनने से ब्रेस्ट ढीला हो जाता है” ये बातें कभी न कभी आपसे किसी न किसी ने जरूर कही होगी। परंतु क्या अपने कभी इस बारे में सही जानकारी प्राप्त करने की कोशिश की है? यदि नहीं, तो आपको इस बारे में सही जानकारी होनी चाहिए। ब्रा से जुड़ी कई ऐसी अवधारणा है, जो सालों से महिलाओं के मन मे बनी हुई है। आज हम ऐसे ही कुछ मिथ पर चर्चा करेंगे।

ऑब्सटेट्रिशियन और गाइनेकोलॉजिस्ट डॉक्टर दिव्या ने अपने इंस्टाग्राम पोस्ट के जरिए ब्रा से जुड़े कुछ मिथ के साथ उंसके फैक्ट्स भी बताए हैं। तो चलिए जानते हैं इस बारे में अधिक विस्तार से।

यहां है ब्रा से जुड़े कुछ मिथ (myth about bra)

मिथ 1 : ब्रा पहन कर सोने से ब्रेस्ट कैंसर होता है

ब्रा पहनकर मत सोया करो, टाइट ब्रा मत पहना करो, इससे कैंसर हो सकता है। ऐसी बातें हम सभी लंबे समय से सुनते आ रहे हैं। डॉक्टर के अनुसार यह एक बहुत बड़ी अवधारणा है। अभी तक ऐसा कोई भी मेडिकल एविडेंस नहीं आया है, जो बताता हो की ब्रा पहन कर सोना आपकी सेहत के लिए उचित नहीं है।

ब्रा पहन कर सोना है या नहीं यह पूरी तरह से किसी भी महिला की पर्सनल चॉइस है। आप चाहे तो अपने कंफर्ट के अनुसार पूरी रात ब्रा पहने रह सकती हैं, और यदि आप इसे पहनने में कंफर्टेबल नहीं हैं तो न पहनें।

raat me bra pehan kar sone se breast sagging ki problem ho sakti hai.
पोस्ट के जरिए ब्रा से जुड़े कुछ मिथ के साथ उंसके फैक्ट्स भी बताए हैं। चित्र: अडोबी स्टॉक

मिथ 2 : ब्रा पहनने से ब्रेस्ट सैगिंग नहीं होता

यह एक बहुत बड़ी अवधारणा है। एक्सपर्ट के अनुसार चाहे आप अंडर वायर सपोर्ट, पुश अप या फिर किसी भी प्रकार का ब्रा पहने, बढ़ती उम्र के साथ सभी महिलाओं को ब्रेस्ट सैगिंग का सामना करना पड़ता है। यदि आप सैगिंग से बचने के लिए पूरे दिन ब्रा पहन कर रखती हैं और रात को सोते हुए भी ब्रा पहने रहती हैं, तो यह एक बहुत बड़ी अवधारणा है इससे बचें और अपनी कंफर्ट पर ज्यादा ध्यान दें।

मिथ 3 : अंडरवायर ब्रा ब्रेस्ट कैंसर के खतरे को बढ़ा देती हैं

यह अवधारणा सालों से लोगों के मन में बनी हुई है की अंडरवायर ब्रा पहनने पर ब्रेस्ट कैंसर का खतरा बढ़ जाता है, क्योंकि यह टॉक्सिंस को ब्रेस्ट में जमा कर देता है। हालांकि, ऐसा नहीं है की अंडरवायर ब्रा पहनने से परहेज करने के लिए इसलिए कहा जाता है, क्योंकि यह कंफर्टेबल नहीं होती और लंबे समय तक इसे पहनने से रैशेज और इचिंग होने की संभावना बढ़ जाती है। वहीं कुछ कपड़ों के साथ आप दो से तीन घंटे के लिए इसे आराम से पहन सकती हैं।

यह भी पढ़ें :  मेंस्ट्रुअल कप खरीदने से पहले जरूरी है इन 4 चीजों काे चेक करना, जानिए कैसे करना है सही कप का चुनाव

मिथ 4 : काले रंग की ब्रा पहनने से ब्रेस्ट कैंसर होता है

काले और डार्क रंग के ब्रा पहनने से ब्रेस्ट कैंसर का खतरा बढ़ जाता है, यह अवधारणा लोगों के मन में लंबे समय से बनी हुई है, परंतु ऐसा कुछ भी नहीं है। हालांकि, आजकल महिलाएं इस अवधारणा को नहीं मानने लगी हैं, परंतु बहुत ही महिलाएं ऐसी है जो इस पर आज भी भरोसा करती हैं। महिलाओं का मानना यह है कि डार्क रंग की ब्रा अधिक हिट को अवशोषित करती है जिसकी वजह से ब्रेस्ट कैंसर हो सकता है। इस पर अभी तक किसी प्रकार का मेडिकल एविडेंस नहीं पाया गया है, ब्रा के रंग का चयन हर महिला की अपनी पर्सनल चॉइस है।

silicone bra pehnane ke side effects
सोते हुए भी ब्रा पहने रहती हैं, तो यह एक बहुत बड़ी अवधारणा है इससे बचें और अपनी कंफर्ट पर ज्यादा ध्यान दें। चित्र अडोबी स्टॉक

मिथ 5 : ब्रा नहीं पहनने से ब्रेस्ट तेजी से बढ़ता है

ब्रा पहनना है या नहीं यह किसी भी महिला की अपनी व्यक्तिगत पसंद है। यदि कोई महिला ब्रा नहीं पहनती है, तो इससे उनके ब्रेस्ट के आकार पर कोई असर नहीं पड़ता। बहुत सी महिलाओं का मानना है की ब्रा नहीं पहनने से स्तन का साइज तेजी से बढ़ता है। ऐसा नहीं है ब्रेस्ट का आकार जेनेटिक होता है। इसके अलावा यदि आपका वजन बढ़ता है या घटता है तो आपके स्तन की साइज में अंतर देखने को मिल सकता है। इसका ब्रा पहने और न पहनने से कोई संबंध नहीं है।

यह भी पढ़ें : Ayurveda and Sex : क्या पीरियड के दौरान नहीं करना चाहिए सेक्स? जानिए आयुर्वेद में क्या है इस सवाल का जवाब

  • 120
लेखक के बारे में

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
अगला लेख