बाज़ार में उपलब्ध हैं 8 तरह के वाइब्रेटर, हमसे जानिए इनके इस्तेमाल से जुड़ी 10 जरूरी बातें 

सेल्फ प्लेजर आपका अधिकार है और बाजार में इसके लिए कई विकल्प मौजूद हैं। यहां हम आपको सबसे ज्यादा पसंद किए जाने वाले वाइब्रेटर्स के बारे में बताने जा रहे हैं। 

vibrator ko saavdhaani se karen istemaal
वाइब्रेटर का सावधानी से करें इस्तेमाल, चित्र: शटरस्टॉक
शालिनी पाण्डेय Updated on: 4 June 2022, 20:11 pm IST
  • 127

यौन सुख शरीर के लिए भोजन और नींद की तरह है। यह मन और शरीर को शांत करता है, तनाव को खत्म करता है और आपके हार्ट, ब्रेन और नर्वस सिस्टम को दुरुस्त बनाए रखता है। समझने की बात है कि यौन सुख पुरुषों के लिए आरक्षित एक तरफा मामला नहीं है। सेक्स टॉय इंडस्ट्री महिला-केंद्रित होने से लैंगिक समानता है। पुरुषों की तुलना में महिलाओं के लिए आज बाजार में अधिक सेक्स खिलौने हैं। पर अब भी ज्यादातर महिलाएं इनके सही इस्तेमाल से अनजान हैं। तो आपकी मदद करने के लिए हम लाए हैं बाज़ार से चुनिंदा 8 वाइब्रेटर्स। साथ ही उन्हें इस्तेमाल करने का तरीका भी। 

पहले जानिए वाइब्रेटर क्या है ( What is a vibrator)

वाइब्रेटर एक सेक्स टॉय है जो कि पुरुष लिंग के आकार का होता है। हस्तमैथुन या मास्टरबेट करने के लिए अगर आप भी पहली बार बाइब्रेटर का उपयोग कर रही हैं, तो बेहद ज़रूरी है कि इसे इस्‍तेमाल करने के तरीके के बारे में जान लिया जाए। अधिकांश वाइब्रेटर के साथ यूजर गाइड या निर्देश पुस्तिका नहीं आती है। बहुत सी महिलाओं को वाइब्रेटर का उपयोग सामान्‍य लग सकता है, क्‍योंकि यह आपको यौन सुख दिलाने में सहायक होता है। पर अगर आपने इससे पहले कभी वाइब्रेटर का इस्‍तेमाल नहीं किया है, तो आपको इसे और इसके इस्तेमाल की बारीकियां समझने की आवश्‍यकता है। यह टार्च की तरह दिखने वाला एक खिलौना मात्र नहीं है।

यदि आप जानना चाहती हैं कि वाइब्रेटर का इस्‍तेमाल कैसे किया जाता है या इसका उपयोग करने में आपको कोई परेशानी है तो यहां आपकी समस्‍या का समाधान हो सकता है। तो डियर लेडीज़ चलिए जानें वाइब्रेटर के इस्तेमाल के तरीके समेत इससे जुड़ी कुछ ज़रूरी बातें।

वाइब्रेटर छोटे बिजली या बैटरी से चलने वाले ऐसे यन्त्र हैं, जिन्हें यौन सुख बढ़ाने के लिए डिज़ाइन किया गया है। जैसा कि नाम से पता चलता है, वे जननांगों या शरीर के अन्य भागों को उत्तेजित करने के लिए विभिन्न गति से कंपन (vibrate) करते हैं। वाइब्रेटर आपकी हस्त मैथुन में सहायता करता है। इसके इस्तेमाल से ऑर्गेज्म पाना आसान हो जाता है।

पुरुष और महिला दोनों वाइब्रेटर का उपयोग कर सकते हैं। वास्तव में, वाइब्रेटर का उपयोग काफी सामान्य है। 2009 के एक जर्नल ऑफ सेक्सुअल मेडिसिन अध्ययन ने बताया कि 53% महिलाओं और 45% पुरुषों ने वाइब्रेटर का इस्तेमाल किया था। उपकरणों का उपयोग हस्तमैथुन के दौरान या साथी के साथ फोरप्ले, मालिश और संभोग के दौरान या अकेले भी किया जा सकता है।

ये सेक्स टॉय विभिन्न आकृतियों और आकारों में उपलब्ध हैं जिनके प्रकार और इस्तेमाल के तरीकों के बारे में जानने के लिए हमने बात की सेक्स एंड वेलनेस रिसर्चर अनुपमा गर्ग से। अनुपमा ने इस बारे में बात करते हुए इस्तेमाल के तरीके और इससे जुड़ी सावधानियों के बारे में विस्तार से बताया।

यहां हैं कुछ खास वाइब्रेटर और उन्हें इस्तेमाल करने का तरीका (how to use vibrator)

1 क्लिटोरल वाइब्रेटर: 

ये क्लिटोरिस को उत्तेजित करते हैं। इसे इस तरह से डिजाइन किया गया है कि ये महिला जननांग के वल्वा या बाहरी हिस्से पर सही तरीके से फिट होकर और्गेज्म तक पहुंचने में मदद करते हैं।

safe sex karne ke fayde
इन्सर्टिबल वाइब्रेटर का इस्तेमाल करते हुए ल्यूब्रिकेंट का उपयोग करना पड़ सकता है, चित्र: शटरस्टॉक

2 रैबिट वाइब्रेटर्स: 

ये क्लिटोरिस और जी-स्पॉट दोनों को उत्तेजित करते हैं। इससे एक ही समय में दोनों या फिर एक को एक्साइट किया जा सकता है।

3 वाइब्रेटिंग एग्स: 

इसे बुलेट वाइब्रेटर भी कहा जाता है, ये अंडे की तरह छोटे होते हैं और क्लिटोरिस को उत्तेजित करने के लिए  इस्तेमाल किए जाते हैं। ये योनि के अंदर भी इस्तेमाल किए जा सकते हैं, इनकी यह खूबी इन्हें बिगिनर्स के लिए परफेक्ट बनाती है।

4 जी-स्पॉट वाइब्रेटर: 

ये इंटरनल वाइब्रेटर हैं जो जी-स्पॉट पर फोकस करते हैं। जी-स्पॉट को उत्तेजित करने के लिए इनमें एक घुमावदार टिप है।

5 फिंगर वाइब्रेटर्स: 

इन्हें उंगली पर पहनते समय क्लिटोरिस पर सीधा दबाव डालने के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है।

6 पहनने योग्य वाइब्रेटर: 

इनको पैंटी के अंदर पहना जा सकता है ताकि क्लिटोरिस को उत्तेजित किया जा सके।

7 कपल वाइब्रेटर:

 इनका इस्तेमाल कपल सेक्स के दौरान करते हैं। इन्हें इस तरह से डिज़ाइन किया गया है कि एक भाग क्लिटोरिस को उत्तेजित करता है और दूसरा भाग योनि के अंदर जाता है और जी-स्पॉट को उत्तेजित करता है, जबकि लिंग वाइब्रेटर और एक ही समय में अंदर आता है। इस तरह दोनों भागीदारों को कंपन महसूस होता है।

8 पल्सेटर्स: 

पल्सेटर्स (Pulsators) महिलाओं के लिए नई तरह के सेक्स के खिलौने हैं। वे मात्र वाइब्रेट नहीं करते हैं क्योंकि बल्कि सेक्स के दौरान होने वाले मूवमेंट का एहसास भी दिलाती हैं। पल्सेटर्स योनि और एनल दोनों के लिए इस्तेमाल की जा सकती है।

यहां जानिए वाइब्रेटर को इस्तेमाल करने का सही तरीका 

यदि उपयोग करने से पहले इसे चार्ज करने की आवश्‍यकता है, तो इसे चार्ज करें। अगर यह बैटरी से चलता है तो इसमें सैल डालें। 

इसके बाद इसकी स्विच को ऑन करें और इसकी स्‍पीड को नियंत्रित करने के लिए सेटिंग्‍स का उपयोग करें। 

इस बात का ध्‍यान रखें कि उपयोग करने से पहले अपने वाइब्रेटर को अच्‍छी तरह से धो लें। 

वाइब्रेटर के साथ आने वाले इंस्ट्रक्शंस ठीक से पढ़ें, उसके हिसाब से बैटरी बदलें, या रिचार्ज करें। वरना वाइब्रेटर खराब हो सकता है।  

वाइब्रेटर के इस्तेमाल में रखें इन बातों का खास ख्याल 

1 ध्यान रखें कि यदि आपका वाइब्रेटर वाटर प्रूफ नहीं है तो बैटरी तक पानी या कोई भी तरल पदार्थ न पहुंचे। यदि वाइब्रेटर के तेज किनारे निकले हुए हैं, तो इन्‍हें सावधानी से साफ कर लें। यदि वाइब्रेटर में किसी प्रकार का दोष है तो इसे उपयोग न करें।

बाजार में मौजूद वाइब्रेटर चुनने से पहले अपने शरीर को जानना और समझना है ज़रूरी , चित्र: शटरस्टॉक

2 हमेशा साफ ( sanitize)  कर के, ठीक से साफ़ कर के ही वाइब्रेटर को इस्तेमाल करें। अमूमन इन्हें साबुन या पानी से साफ़ नहीं किया जा सकता।  लेकिन कुछ वाइब्रेटर्स का डिज़ाइन ऐसा होता है और इन्हें पहले और बाद में दोनों बार जरूर साफ करें। 

3 अपना वाइब्रेटर किसी और के साथ शेयर न करें।  किसी भी हाल में नहीं।  

4 अगर आपका वाइब्रेटर insertable है, यानि उसका एक हिस्सा योनि के अंदर जा सकता है, तो उसकी सफाई का विशेष तौर पर ख्याल रखें।  

5 बच्चों की पहुंच से दूर रखें।

6 वाइब्रेटर के साथ आने वाले इंस्ट्रक्शंस ठीक से पढ़ें, उसके हिसाब से बैटरी बदलें, या रिचार्ज करें। वरना ये खराब हो सकते हैं।  

7  वाइब्रेटर कई तरह के आते हैं।  सिर्फ क्लाइटोरिस पर इस्तेमाल करने वाले, इन्सर्ट होने, यानि योनि के भीतर जाने वाले, अलग अलग पावर के, अलग अलग मटीरियल, अलग अलग तरह से इस्तेमाल होने वाले, एप्प से चलने वाले आदि।  सही वाइब्रेटर चुनते समय सिर्फ कीमत न देखें, क्वालिटी और ब्रांड भी देखें।  

8 अगर आपका वाइब्रेटर इंसर्टेबल है, तो उसे लुब्रीकेंट के साथ इस्तेमाल करना पड़ सकता है।  

9 वाइब्रेटर को सिर्फ योनि ही नहीं, शरीर के और भाग, जैसे स्तन, पैरों के तलवे, गर्दन आदि के पास भी प्रयोग कर के देखें, आपकी अपने शरीर और उत्तेजक हिस्सों के बारे में समझ बढ़ेगी।  

10 इसी तरह अलग अलग इंटेंसिटी के साथ भी प्रयोग कर के देखें।

यह भी पढ़ें: एस्ट्रोजन है जरूरी हॉर्मोन पर इसकी अधिकता बढ़ा सकती है आपके लिए मुश्किलें 

  • 127
लेखक के बारे में
शालिनी पाण्डेय शालिनी पाण्डेय

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory