एक सही लुब्रीकेंट के साथ कहें वेजानइल ड्राईनेस को अलविदा, जानिए कैसे करना है इसका चुनाव

सेक्सुअल डिजायर के लिए लुब्रीकेंट का इस्तेमाल किया जाता है। पर इनका चुनाव करने से पहले कुछ बातों को ध्यान में रखना जरूरी है।

sex se pehle kren lubrikent ka istemal
किसी भी प्रकार की सेक्सुअल एक्टिविटी से पहले लुब्रिकेंट का इस्तेमाल किया जा सकता है। चित्र: एडोबी स्टॉक
स्मिता सिंह Published on: 31 December 2022, 20:00 pm IST
  • 125
इस खबर को सुनें

हार्मोन के कारण शरीर में बहुत सारे परिवर्तन होते रहते हैं। इनमें से एक है लो लुब्रिकेशन। इसके कई कारण हो सकते हैं। ब्रेस्टफीडिंग, पेरिमेनोपॉज़ और पोस्टमेनोपॉज़ की वजह से ऐसा हो सकता है। कभी-कभी बर्थ पिल्स, कीमोथेरेपी और कभी-कभी कुछ रोगों में ली जाने वाली दवाओं के कारण भी वेजाइना में लुब्रिकेशन की कमी हो जाती है। ऐसी स्थिति में बाहरी रूप से एडिशनल लुब्रीकेंट का इस्तेमाल किया जाता है। किसी भी प्रकार की सेक्सुअल एक्टिविटी से पहले इसे एपलाई किया जा सकता है। इसे ऑनलाइन, दवा की दुकानों और सुपरमार्केट से भी खरीदा जा सकता है। लेकिन लुब्रीकेंट का चुनाव करने से पहले कुछ बातों (How to choose right lubricant) को ध्यान में रखना होगा।

आइये सबसे पहले जानते हैं कि लुब्रीकेंट क्यों एप्लाई किया जाता है

वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाइजेशन के अनुसार, वेजाइना के डैमेज टिश्यू को ठीक करने के लिए लुब्रीकेंट का इस्तेमाल किया जाता है। वेजाइनल सेक्स कर रही हैं या मास्टरबेशन, आप लुब्रीकेंट योनि पर एप्लाई करें। यदि सेक्स के दौरान योनि और गुदा में दर्द होता है, तो लुब्रीकेंट का इस्तेमाल कर सकती हैं। ब्लड फ्लो सही तरीके से नहीं होने के कारण यौन उत्तेजना में कमी हो जाती है। इसके लिए भी लुब्रीकेंट का इस्तेमाल किया जा सकता है।

लुब्रीकेंट(Lubricant) का चुनाव करने से पहले इन बातों का रखना होगा (How to choose right lubricant) ध्यान

1 आराम (Comfort) के लिए

इन्टरनेशनल जर्नल ऑफ़ सेक्सुअल हेल्थ के अनुसार, ल्यूब फ्लूइड, क्रीम और जैल के रूप में आते हैं। व्यवसायिक लाभ के लिए कभी-कभी ऐसे ल्यूब भी उपलब्ध होते हैं, जो इचिंग पैदा कर सकते हैं। इसलिए इनका चुनाव कम्फर्ट को ध्यान में रखते हुए करें। जब बढ़िया क्वालिटी वाले ल्यूब का उपयोग करेंगी, तो इसके कारण सेक्स और अधिक आनंददायक महसूस करती हैं। इसलिए चुनाव करते समय सबसे पहले कम्फर्ट का ध्यान रखें।

2 सुरक्षा(Security) का ख्याल

इन्टरनेशनल जर्नल ऑफ़ सेक्सुअल हेल्थ के अनुसार, सुरक्षा का संबंध आपके स्वास्थ्य से है। उदाहरण के लिए कंडोम का इस्तेमाल करते समय आपको विशेष रूप से सतर्क रहना पड़ता है। लेटेक्स कंडोम के साथ तेल आधारित लुब्रीकेंट का उपयोग नहीं किया जा सकता है। क्योंकि इससे कंडोम अपने कार्य में सफल नहीं हो सकता है। इससे प्रेगनेंसी का खतरा रहता है। वहीं कुछ लुब्रीकेंट और मॉइस्चराइजर वास्तव में योनि स्वास्थ्य और गुदा स्वास्थ्य के लिए खराब हो सकते हैं।

3 पीएच लेवल (Ph Level) ध्यान में रखें

जर्नल ऑफ़ साइको सेक्सुअल हेल्थ के अनुसार, यदि आप अपनी योनि को लुब्रिकेट करना चाहती हैं, तो ऐसे उत्पादों का चयन करना सबसे अच्छा है, जिनमें पीएच लेवल वास्तविक योनि पीएच के करीब हो।

yoni men sookhapn
ऐसे उत्पादों का चयन करना सबसे अच्छा है, जिनमें पीएच लेवल वास्तविक योनि पीएच के करीब हो ।चित्र : शटरस्टॉक

यह 3.8- 4.5 के बीच होना चाहिए। यदि वेजाइनल पीएच से लुब्रीकेंट का पीएच अधिक होगा, तो अन्य समस्याएं हो सकती हैं। आमतौर पर यह पैकेट पर लिखा नहीं होता है। इसलिए इसकी खरीदारी करते समय जानकारी पाना जरूरी है।

4 ऑस्मोलैलिटी (Osmolality level) लेवल

जर्नल ऑफ़ साइको सेक्सुअल हेल्थ के अनुसार, ऑस्मोलैलिटी लेवल कम या अधिक होने पर योनि में संक्रमण हो सकता है। अधिक ऑस्मोलैलिटी लेवल वाले ऊतकों से नमी खींच लेते हैं। इससे ड्राईनेस की भी समस्या हो सकती है। इससे आराम मिलने की बजाय असुविधा हो सकती है। संक्रमण भी बढ़ सकता है। योनि का टिश्यू डैमेज भी हो सकता है। जिस लुब्रीकेंट का ऑस्मोलैलिटी लेवल वेजाइना और एनस दोनों के लिए अनुकूल हो, उसी का चुनाव करने में भलाई है।

पानी-आधारित या सिलिकॉन-आधारित लुब्रीकेंट का इस्तेमाल

योनि सेक्स के लिए पानी-आधारित या सिलिकॉन-आधारित लुब्रीकेंट लेने की कोशिश करें। चित्र : शटर स्टॉक

विभिन्न प्रकार के ल्यूब अलग-अलग उद्देश्यों के लिए बेहतर काम करते हैं। योनि सेक्स के लिए पानी-आधारित या सिलिकॉन-आधारित लुब्रीकेंट लेने की कोशिश करें। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) वेजाइनल सेक्स के लिए लगभग 4.5 पीएच और एनल सेक्स के लिए 5.5 -7 के बीच पीएच वाला पानी आधारित लुब्रीकेंट का उपयोग करने की सलाह देता है।
इससे योनि में संक्रमण पैदा होने की संभावना नहीं हो सकती है। एनल सेक्स के लिए और कंडोम सुरक्षित रहने के लिए सिलिकॉन बेस्ड लुब्रीकेंट सबसे अच्छा हो सकता है।

यह भी पढ़ें :- वेजाइनल स्मेल बढ़ा देती हैं आपकी कुछ नियमित आदतें, जानें इसे कम करने के कुछ जरूरी उपाय

  • 125
लेखक के बारे में
स्मिता सिंह स्मिता सिंह

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory

हेल्थशॉट्स पीरियड ट्रैकर का उपयोग करके अपने
मासिक धर्म के स्वास्थ्य को ट्रैक करें

ट्रैक करें