और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

अपनी एजिंग मॉम की वेजाइनल हेल्‍थ के लिए आप उन्‍हें दे सकती हैं ये जरूरी सुझाव

Published on:8 May 2021, 16:30pm IST
हमारी माँएं शायद ही कभी अपने बारे में सोचती हैं। इसलिए, आपके लिए यह ज़रूरी है कि अपनी एजिंग मॉम की वेजाइनल हेल्‍थ के लिए आप उन्‍हें सुझाव दें।
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ
  • 82 Likes
अपनी एजिंग माँ को दें उनकी वेजाइनल हेल्थ के लिए टिप्स. चित्र : शटरस्टॉक
अपनी एजिंग माँ को दें उनकी वेजाइनल हेल्थ के लिए टिप्स. चित्र : शटरस्टॉक

हम आजकल की पीढ़ी को अपना ख्याल रखना अच्छे से आता है और सभी जानकारियां भी हमें पता रहती हैं। फिर चाहें स्वास्थ्य संबंधी विषय हों या फेमिनिन हाइजीन संबंधी। परंतु हमारी माँएं शायद ही कभी अपने बारे में सोचती हैं। इसलिए, उनके स्वास्थ्य के देखभाल की ज़िम्मेदारी आपकी है!

जननांग एक महिला के समग्र स्वास्थ्य में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं और स्वच्छता इन शरीर के अंगों की सुरक्षा में एक प्रमुख भूमिका निभाती है। यह तब और भी महत्वपूर्ण हो जाता है जब महिलाएं मेनोपॉज से गुज़रती हैं। मेनोपॉज के बाद एक महिला कई परिवर्तनों से गुज़रती हैं और उसके बाद स्वास्थ ससंबंधी कई समस्याएँ आ सकती हैं।

इसलिए, आपके लिए यह ज़रूरी है कि अपनी एजिंग मॉम की वेजाइनल हेल्‍थ के लिए आप उन्‍हें सुझाव दें।

1. सम्पूर्ण स्वास्थ्य देख-रेख:

उन्हें सही आहार लेने की सलाह दें, व्यायाम करने और वज़न पर नियंत्रण रखने को कहें। यह न केवल उनके शरीर के लिए अच्छा है बल्कि यौन अंगों के लिए भी सही है। इसके अलावा, अन्य स्वास्थ्य समस्याएं भी महिलाओं को जोखिम में डाल सकती हैं। उदाहरण के लिए, खराब नियंत्रित मधुमेह एक महिला को यीस्ट और मूत्र पथ के संक्रमण (यूटीआई) की संभावना को बढ़ाता है।

अपनी माँ को सही आहार लेने और व्यायाम करने की सलाह दें। चित्र: शटरस्‍टॉक
अपनी माँ को सही आहार लेने और व्यायाम करने की सलाह दें। चित्र: शटरस्‍टॉक

2. नियमित जांच करवाएं

लगातार और नियमित देखभाल के लिए स्त्री रोग विशेषज्ञ को दिखाएं। आप चाहें तो उन्हें पैप स्मीर टेस्ट करवाने की भी सलाह दे सकती हैं, ये योनि से जुड़े किसी संभावित खतरे से उन्हें बचाएगा।

3. उन्हें हायड्रेट रहने की सलाह दें

यह सिर्फ शरीर के लिए ज़रूरी नहीं है बल्कि उनकी वेजाइनल हेल्थ के लिए ज़रूरी है। बढ़ती उम्र के साथ और खासकर मेनोपॉज के बाद शरीर में एस्ट्रोजन का स्तर कम होने लगता है जिससे कई प्रकार की समस्याओं का उन्हें सामना करना पड़ता है जैसे कमज़ोर हड्डियां और शरीर में अकड़न। ऐसे में अगर उनके शरीर में पानी की कमी होगी तो वेजाइनल संक्रमण का खतरा अधिक हो सकता है।

4. टीका लगवाएं

टीकाकरण महिलाओं को एचपीवी वायरस से बचा सकता है जो गर्भाशय ग्रीवा के कैंसर के लिए जिम्मेदार है और हेपेटाइटिस बी के खतरे को भी कम कर सकता है, जो गंभीर यौन संक्रमण से फैलता है।

अपने साथ साथ अपनी माँ की वेजाइनल हेल्थ का रखें ख्याल। चित्र: शटरस्‍टॉक
अपने साथ साथ अपनी माँ की वेजाइनल हेल्थ का रखें ख्याल। चित्र: शटरस्‍टॉक

5. नियमित एक्सरसाइज

बढ़ती उम्र के साथ जैसे मांसपेशियां कमज़ोर होती हैं, ठीक उसी तह मूत्र रूकने की शक्ति भी कम होने लगती है। इसलिए, उन्हें नियमित एक्सरसाइज करने की सलाह दें ताकि उनका शरीर और योनि दोनों सस्वस्थ और मज़बूत रह सकें।

यह भी पढ़ें : आपके आसपास का तनाव, आपके लेडी पार्ट को भी परेशान करता है, हम बता रहे हैं कैसे

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।