वैलनेस
स्टोर

बार-बार तेज बुखार यूरिन इंफेक्‍शन का भी हो सकता है संकेत, समझिए ऐसा क्‍यों होता है

Published on:17 April 2021, 18:00pm IST
बुखार में हम अकसर मौसमी संक्रमण और अब कोविड-19 के संकेत ढूंढने लगते हैं। जबकि कई बार यह पेशाब में संक्रमण की वजह से भी हो सकता है।
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ
  • 82 Likes
तेज़ बुखार हो सकता है यूरिन इन्फेक्शन का संकेत। चित्र- शटरस्टॉक।

यूरिन इंफेक्‍शन एक बहुत ही आम समस्या है, जो पुरुष और महिला दोनों में समान रूप से देखी जाती है। पर महिलाओं में इसकी संभावना 50% अधिक होती है, क्योंकि, महिलाओं की पेशाब नली पुरुषों के मुकाबले छोटी होती है। जिससे, बैक्टीरिया आसानी से शरीर में प्रवेश कर सकता है।

यूरिन इंफेक्‍शन में सबसे ज्यादा दिक्कत पेशाब करने में आती है। कई बार इसके लक्षण सामने नहीं आ पाते। जबकि कई बार ये इतने आम होते हैं कि सही जानकारी न होने के कारण हम इन्हें पहचान नहीं पाते। इसलिए, आपको यूरिन इंफेक्‍शन या यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन (Urinary Tract Infection, UTI) के बारे में जानना अनिवार्य है।

यूरिन इंफेक्‍शन क्या होता है?

ये रोगाणुओं से होने वाला संक्रमण है। ये ऐसे जीव हैं, जो बहुत छोटे होते हैं। अधिकांश यूटीआई बैक्टीरिया के कारण होते हैं, लेकिन कुछ फंगस और वायरस के कारण भी होते हैं। हालांकि ऐसे मामले काफी दुर्लभ हैं। यूरिन इंफेक्‍शन आपके मूत्र पथ में कहीं भी हो सकता है। ये मूत्र पथ, गुर्दे, मूत्रवाहिनी, मूत्राशय और मूत्रमार्ग में होते हैं।

काफी महिलाएं इस बात से अवगत नहीं है कि अगर आपको तेज़ बुखार है, तो यह एक यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन का लक्षण भी हो सकता है।

यदि आपको बार-बार बिना किसी अन्य लक्षण के बुखार आ रहा है तो, यह यूरिन इन्फेक्शन का संकेत है। चित्र: शटरस्‍टॉक

क्‍या कहते हैं विशेषज्ञ

हेनरी फोर्ड हेल्थ सिस्टम के एक डॉक्टर, अफाक सिद्दीकी का कहना है कि ”अगर आपको बुखार के साथ खांसी या जुकाम है तो ये एक मामूली बुखार के लक्षण हो सकते हैं। अगर आपको 101 या 102 डिग्री बुखार है और अन्य कोई भी लक्षण नहीं, तो यह मूत्र पथ के संक्रमण का लक्षण हो सकता है।”

बुखार आना, यूरिन इंफेक्‍शन का एक आम लक्षण है, लेकिन कई बार महिलाएं इसे अनदेखा कर देती हैं।

बुखार के साथ यूरिन इन्‍फेक्‍शन इन लक्षणों को पहचानना भी है जरूरी

यदि आपके शरीर में संक्रमण काफी अधिक है, तो आप कमर में ऐंठन या पीठ दर्द का अनुभव कर सकती हैं।

यूरिन इंफेक्शन की वजह से बार-बार पेशाब करने का आग्रह या जलन हो सकती है।

मूत्र का रंग बदलकर, लाल, गुलाबी या धुंधला हो सकता है।

बदबूदार मूत्र या श्रोणि में दर्द होना।

अब आपको समझना चाहिए कि यूरिन इंफेक्‍शन का कारण क्‍या है

1. अगर आप सेक्सुअली एक्टिव हैं तो, आपको और आपके पार्टनर को यूरिन इंफेक्‍शन होने की संभावना औरों के मुकाबले अधिक है।

2. नेशनल किडनी फाउंडेशन के अनुसार, यदि आपको मधुमेह है, तो आपको यूरिन इंफेक्‍शन होने की संभावना अधिक हो सकती है। ये बीमारी आपके शरीर की रक्षा प्रणाली को प्रभावित करती है, जिससे बैक्टीरिया को दूर रखना मुश्किल हो जाता है।

मदुमेह रोगियों को यूरिन इन्फेक्शन होने की संभावना ज्यादा होती है। चित्र-शटरस्टॉक।

3. रजोनिवृत्ति के बाद, एस्ट्रोजन के प्रसार में गिरावट से मूत्र पथ में परिवर्तन होता है, जो आपको संक्रमण के प्रति अधिक संवेदनशील बनाता है।

4. कैथेटर आपके यूटीआई होने की संभावना को बढ़ा सकते हैं। कैथेटर पर कोई भी बैक्टीरिया आपके मूत्राशय को संक्रमित कर सकता है। यदि आप लंबे समय तक कैथेटर पर रहे हैं, तो आपको मूत्र पथ के संक्रमण का खतरा हो सकता है।

5. बूढ़े लोगों में यूरिन इंफेक्‍शन होने पर मनोभ्रंश की समस्या आ सकती है और वे रोज़मर्रा के छोटे-छोटे काम भूलने लग सकते हैं। ऐसे में, ज़रूरी नहीं है कि अपको कोई अन्य लक्षण दिखाई दें।

यूरिन इंफेक्‍शन का सही समय पर पता लगना और उपचार करना बेहद महत्वपूर्ण है। एंटीबायोटिक के बिना, ये गुर्दे की पथरी, उच्च रक्तचाप और यहां तक कि गुर्दे की गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है। इसलिए, यूरिन इंफेक्‍शन से बचने के लिए, इसके लक्षण और कारण को समझें और अपनी इंटिमेट हायजीन का ख़ास ख्याल रखें।

यह भी पढ़ें : अकसर आगे-पीछे हो जाती है पीरियड्स की डेट, तो परेशान होने की बजाए इन 5 योगासनों का करें नियमित अभ्‍यास

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।