फॉलो

जी हां, प्रोफेशनल वेजाइनल मसाज भी होती है, और इसका ऑर्गेज्म से कोई संबंध नहीं

Updated on: 10 June 2020, 11:07am IST
वेजाइनल मसाज या योनि मसाज पश्चिम में एक प्रचलित प्रैक्टिस है और असल में यह सेक्स का हिस्सा नहीं है। तो यहां गाइनीकोलॉजिस्ट आपको बता रहीं हैं इसके सेहत लाभ।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 103 Likes
वेजाइनल मसाज पश्चिम में प्रचलित थेरेपी है। चित्र: शटरस्‍टॉक

हम में से अधिकांश के लिए, किसी स्पा में एक आरामदायक फुल बॉडी मसाज सेशन मन और शरीर को फिर से तरोताजा करने और तनाव मुक्‍त होने का सबसे अच्छा तरीका है। लेकिन, हम में से अधिकांश के लिए, यह सेशन इसके नाम के हिसाब से पूरा नहीं हो पाता। क्‍योंकि ये आपकी ‘फुल बॉडी’ के कुछ हिस्‍साेें को छोड़ देता है। आखिरकार, आपके शरीर का सबसे महत्‍वपूर्ण हिस्‍सा इस स्‍पर्श से अनछूआ रह जाता है। वह महत्वपूर्ण हिस्सा है- आपकी योनि।

हालांकि, खुले दिमाग वाली पश्चिमी दुनिया में, कुछ सम्मानित और केयर महिलाएं अपने जननांग को भी उचित समय, ध्यान, देखभाल और आराम देती हैं- उनके इस नए प्रेम को धन्‍यवाद, जिसका  नाम है वेजाइनल मसाज यानी योनि की मसाज।

जिनके लिए यह नया है उन्‍हें बता दें कि यह थाईलैंड की कुख्यात ‘हैप्‍पी एंडिंग’ मसाज नहीं है। हांलांकि इसके बाद एक हैप्‍पी एंडिंग ही नहीं बहुत सारी हैप्‍पी एंडिंग का मौका एक एक्‍स्‍ट्रा बोनस हो सकता है। यह वास्तव में वेजाइनल थेरेपी का प्राथमिक लक्ष्य नहीं है।

फोर्टिस मेमोरियल रिसर्च इंस्‍टीट्यूट, गुरुग्राम में सीनियर कंसल्‍टेंट डिपार्टमेंट ऑफ आब्‍स्‍टेट्रिक्‍स एंड गाइनीकोलॉजिस्‍ट डॉ. स्‍वाति मित्‍तल कहती हैं,” योनि ‘संस्कृत भाषा से लिया गया एक शब्द है और जिसका अर्थ है “एक पवित्र स्थान”। यह मालिश शरीर के एक सम्मानित भाग के रूप में योनि तक पहुंचती है। जिसका सम्मान और सम्मान के साथ उपचार किया जाना चाहिए।”

“यह एक कामुक मालिश है, लेकिन इसका उद्देश्य महिलाओं को अपने शरीर के साथ और अधिक सहज महसूस करने में मदद करना है। इसका सेक्स या फोरप्‍ले से कोई संबंध नहीं है।”

यह कैसे की जाती है?

यदि आप किसी प्रोफेशनल से यह करवा रहीं हैं, तो वह पहले आपको बटरफ्लाई पोज या पद्मासन में बैठने को कहेंगे। ताकि मालिश करने वाला/वाली आपकी योनि पर ठीक से मसाज कर सके। इसमें आपके वेजाइना, वाल्‍वा के आसपास हल्‍की मसाज, रोलिंग, टगिंग, दबाना आदि तकनीक का इस्‍तेमाल किया जाता है। असल में यह पूरी तरह मालिश करवाने वाली महिला के कम्‍फर्ट लेवल पर निर्भर करती है। कि वह कैसे करवाने में ज्‍यादा सहज हैं।

yoni massage
योनि मसाज महिलाओं को आराम प्रदान करती हैं। जबकि ऑर्गेज्‍म वैकल्पिक हैं। चित्र: शटरस्टॉक

हालांकि जब आप अपने पार्टनर के साथ हैं तो बटरफ्लाई  या स्पूनिंग पॉजीशन सबसे बेहतर है। क्योंकि तब आपका पार्टनर आपके दिशा निर्देश पर आपके क्लिटोरिस पर मसाज कर सकता है। आपको बस इतना करना है कि बैठो, आराम करो, और अपने संकोच को छोड़ दें।

यह एक बेहतर सेक्‍स का कारण बन सकता है या नहीं। वह पूरी तरह आप पर निर्भर है।

तो, क्या आपको इसे आज़माना चाहिए?

डॉ मित्तल कहती हैं, “हां, क्‍‍‍‍‍‍यों नहीं यो‍नि थेरेपी पूरी तरह से सुरक्षित है।”

वास्तव में, इस चिकित्सा को उन महिलाओं को आराम देने शुरु किया  गया है, जो किसी तरह के यौन आघात की शिकार हुई हों या जो  अपने शरीर या यौन संभोग के साथ असहज हैंं।

सिर्फ इतना ही नहीं, डॉ मित्तल के अनुसार, योनि थेरेपी मां बनने वाली महिलाओं के लिए भी एक ब्लेे‍सिंग है।

yoni massage
वेजाइनल मसाज किसी भी महिला के लिए लेबर पेन को आसान बना सकती है। चित्र : शटरस्टॉक

“यह मालिश गर्भवती महिलाओं के लिए भी सुरक्षित है, बशर्ते गर्भाशय के साथ अत्यंत सावधानी और देखभाल के साथ पेश आया जाए। चूंकि वेजाइनल मसाज पेरिनियल एरिया को स्‍ट्रेच करती है और आराम देती है, इसलिए यह वेजाइनल लेबर के दौरान आँसू और असुविधा को कम करने में मदद कर सकती है।”

क्‍या आप वेजाइनल मसाज के बारे में और जानना चाहती हैं?

यदि आप वेजाइनल मसाज के लिए तैयार हैं और इसके बारे में जानना चाहती हैं, तो डॉ मित्तल आपको बता रहीं हैंं कि

कोई भी महिला खुद की वेजाइनल मसाज कर सकती है, हालांकि, यह अनुशंसा की जाती है कि वह पहले किसी प्रोफेशनल से उचित तकनीक सीख ले।

“एक महिला इसे खुद कर सकती है या इसके लिए अपने साथी की मदद ले सकती है। अगर वह ऐसा करने में सहज है।” वह कहती हैंं और गर्भवती महिलाओं को डिलीवरी डेट से 4 से 6 सप्ताह पहले 10-15 मिनट के लिए दिन में दो बार इस मालिश का अभ्यास करना चाहिए।

तो लेडीज, अगर आपने मन बना लिया है वेजाइनल मसाज का, लेकिन किसी प्रोफेशनल से मदद लेने में संकोच है, तो आप किसी विश्‍वसनीय यूट्यूब वीडियो से भी यह सीख सकती हैं। जो शुरुआत के लिए आपका ठीक से मार्गदर्शन कर सके।

सावधानी है जरूरी

डॉ मित्तल किसी भी तरह की परेशानी से बचाने के लिए आपको मालिश शुरू करने से पहले कुछ तैयारियां करने की सलाह देती हैं। इसलिए, जब आप वेजाइनल मसाज शुरू करने जा रहीं हैं तो इन बिंदुओं को ध्यान में रखें:

  • सुनिश्चित करें कि अभ्यास शुरू करने से पहले आपके या मालिश करनेवाले के हाथों को अच्छी तरह से धोया गया है।
  • सुनिश्चित करें कि आपके नाखून छोटे और ट्रिम हों।
  • किसी भी मिनरल या सिंथेटिक ऑयल का उपयोग करने से बचें और वनस्पति तेलों, प्राकृतिक तेलों, या वॉटर बेस्‍ड जैली का उपयोग करें।
  • किसी भी समस्‍या जैसे लीकेज या जलन होने पर डॉक्टर से परामर्श लें।
  • यदि आपको यौन संक्रमण, मूत्र पथ के संक्रमण, या कोई अन्य वेजाइनल इंफेक्‍शन है, तो इस प्रैक्टिस से पहले उस पर ध्‍यान दें।

तो फि‍र ट्राय करें, बिना किसी संकोच। क्‍योंकि यह आप ही के लिए है। और जो अनुभव हो उसे नीचे दिए गए कमेंट बॉक्‍स में लिख कर बताएं।

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

संबंधि‍त सामग्री