फॉलो
वैलनेस
स्टोर

टीन एज में सबसे ज्‍यादा जरूरी है वेजाइनल हाइजीन, ये 6 स्‍टेप गाइड करेगी आपकी मदद 

Published on:1 October 2020, 09:30am IST
टीनएज बहुत सारे शारीरिक और मानसिक बदलावों की उम्र होती है, इस समय आपको अपनी वेजाइनल हाइजीन का बहुत ज्‍यादा ख्‍याल रखना चाहिए। 
प्रेरणा मिश्रा
  • 79 Likes
योनि स्वछता पर सवाल बहुत है? तो हम लाए है उनके जवाब । चित्र : शटरस्टॉक

ज्यादातर टीन ऐज में वेजाइना संक्रमण की संख्या बढ़ रही है, योनि में संक्रमण बैक्टीरिया, फंगस, पैरासाइट या वायरस के कारण और आपकी योनि और व्लवा के आसपास हो सकता है जिस कारण डिस्चार्ज, खुजली या गंध जैसी समस्या उत्पन्न होती है। असल में यह समस्या छोटी होती है, परन्तु वेजाइनल हाईजीन का ज्ञान न होने के कारण यह छोटी समस्या न जाने कब बड़ी बन जाती है। इसीलिए टीन एज में ही बच्चो को अपने इंटीमेट पार्ट्स के हाइजीन के बारे में बताना जरूरी है। 

टीनेज के दौरान आपके शरीर और वेजाइना में कई प्रकार के बदलाव आते हैं, जिसके बारे में आपको पूरी तरह से जानकारी होना आवश्यक है। वेजाइना की सफाई कैसे करनी चाहिए से लेकर इसकी देखभाल कैसे करें तक एक एक बात आपको पता होनी चाहिए।

पाएं अपनी तंदुरुस्‍ती की दैनिक खुराकन्‍यूजलैटर को सब्‍स्‍क्राइब करें

हम आज भी वेजाइना पर बात करने से झिझकते हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक
हम आज भी वेजाइना पर बात करने से झिझकते हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

अपनी वेजाइना को सुगंधित साबुन के उपयोग के बिना भी  साफ रख सकते हैं। आपको बस एक हल्के साबुन से इसे साफ करना चाहिए या गर्म पानी से हर दिन स्नान करते वक़्त इसे धोना चाहिए। कुछ लड़कियां ऐंठन से राहत पाने के लिए अपने पीरियड्स के दौरान गर्म पानी से स्नान करना पसंद करती हैं।

कैसे रखे वेजाइना का ध्यान?

1.कॉटन अंडरवियर पहनें

आप खूब एक्टिव रहना चाहती हैं और डिजाइनर टू पीस भी आपको आकर्षित कर सकते हैं। पर आपकी वेजाइनल हेल्‍थ के लिए कॉटन के अंडरपेंट्स ही बेस्‍ट हैं।

दिन में एक से ज्यादा बार अंडरवियर बदलना असल में हेल्दी आदत है। चित्र : शटरस्टॉक

विशेष तौर पर गर्मियों और इस बदलते मौसम में कॉटन के अंडरवियर ही पहनें। यह आपके वेजाइना को सांस लेने का मौका देता है और उसे ड्राई रखता है। जिससे आप किसी भी प्रकार की खुजली या जलन से बची रहती हैं।

2.खुद को साफ और सूखा रखें 

स्‍त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. सुरभि सिंह कहती हैं, “टीन एज में लड़कियां बहुत सारी मिथ्‍स से घिरी रहती हैं। उनके ज्‍यादातर सवाल वे झिझक में पूछ ही नहीं पातीं। वेजाइनल हेल्‍थ ऐसा ही एक मसला है।” वे कहती हैं, इस समय आपको खुद को साफ और सूखा रखना सबसे ज्‍यादा जरूरी है।

वेजाइना की सफाई ही आपको वेजाइनल इंफेक्शन से बचा सकती है। वॉशरूम का इस्‍तेमाल करते समय हमेशा साफ-सफाई का ध्‍यान रखें। इस उम्र में लड़कियों को सबसे ज्‍यादा इंफेक्‍शन यहीं से लगता है। पीरियड्स के दौरान समय-समय पर पैड बदलें।”  

3.प्युबिक हेयर की सफाई

प्यूबिक हेयर आपके योनि के pH स्तर को बनाए रखता है, परन्तु कभी- कभी इसमें मौजूद पसीना आपके वेजाइना में बैक्टीरिया भी पैदा कर सकता है। इसीलिए समय-समय पर अपने प्यूबिक हेयर की सफाई करें।

ये प्यूबिक हेयर आपकी वेजाइना को प्रोटेक्‍ट करते हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

इन्‍हें रिमूव करने की बजाए ट्रिम करना ज्‍यादा बेहतर ऑप्‍शन है। हेयर रिमूविंग क्रीम आपको इंफेक्‍शन दे सकती हैं।

4.सही आहार लें 

इस उम्र में लड़कियां नहीं समझ पातीं कि योनि के स्‍वास्‍थ्‍य पर भी उनके खानपान का काफी असर पड़़ता है। हरी सब्जियां, सलाद और दही जैसे प्रोबायोटिक्‍स आपके स्‍वास्‍थ्‍य के साथ-साथ आपकी वेजाइनल हेल्‍थ के लिए भी फायदेमंद हैं। 

5.खुशबू दार साबुन या परफ्यूम का उपयोग न करें

टीनएज में आपके शरीर में काफी सारे बदलाव हो रहे हैं। अब तक आपको जिन चीजों की आदत नहीं थी, अब आपको उन्‍हें भी फेस करना है। हो सकता है कि आपको कभी-कभी लगे कि आपकी वेजाइना से अजीब सी स्‍मैल आ रही है। पर इसके लिए भूलकर भी परफ्यूम आदि का उपयोग न करें।

एक बेहतर दुनिया के लिए जरूरी है कि आप अपनी स्‍वच्‍छता पर सहज होकर बात करें। चित्र: शटरस्‍टॉक
एक बेहतर दुनिया के लिए जरूरी है कि आप अपनी स्‍वच्‍छता पर सहज होकर बात करें। चित्र: शटरस्‍टॉक

आपकी योनि और उसके आस पास की जगह बहुत नाज़ुक होती है। खुशबूदार साबुन या परफ्यूम काफी हार्ड होता है, जो आपके वेजाइना में इंफेक्‍शन और सूजन का कारण बन सकता है। 

6.अपने पीएच लेवल को रखे नॉर्मल

अमेरिकन कॉलेज ऑफ ऑब्सट्रेशियन और गायनेकोलॉजिस्ट के एक अध्ययन के अनुसार बताया गया है कि वेजाइना के आस पास के बालों में प्राकृतिक रूप से pH लेवल को कंट्रोल करने की शक्ति होती है, जिससे वेजाइनल डिस्चार्ज के बाद भी योनि स्वयं को साफ रख सकती है।

आपका इंटीमेट वॉश भी आपको प्‍यूबिक एरिया में खुश्‍की दे सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक
आपका इंटीमेट वॉश भी आपको प्‍यूबिक एरिया में खुश्‍की दे सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

परन्तु, वेजाइना का pH लेवल लगभग 3.8 से 4.5 तक होता है और ऐसे में अगर इसमें एसिड की मात्रा बढ़ती है तो योनि में बैक्टीरिया की मात्रा बढ़ने के भी खतरे उत्पन्न हो जाते है।

तो गर्ल्‍स, वेजाइना से सम्बन्धित किसी भी परेशानी को छिपाएं नहीं और किसी भी तरह की कंफ्यूजन या सवाल हो तो हमें नीचे दिए कमेंट बॉक्‍स में जरूर लिखें। 

यह भी देखे:-डियर लेडीज, वेजाइनल डिस्‍चार्ज को लेकर परेशान हैं, तो इसे ध्‍यान से पढ़ें 

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

प्रेरणा मिश्रा प्रेरणा मिश्रा

हेल्‍दी फूड, एक्‍सरसाइज और कविता - मेरे ये तीन दोस्‍त मुझे तनाव से बचाए रखते हैं।